Weather updates: भारी बारिश से चारों तरफ आफत ही आफत, भगवान भोलेनाथ भी जलमग्न

Weather updates: भारी बारिश से चारों तरफ आफत ही आफत, भगवान भोलेनाथ भी जलमग्न

Manish Geete | Updated: 16 Aug 2019, 11:58:07 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

भोपाल। मध्यप्रदेश में लगातार भारी बारिश से कई जिलों में बाढ़ से जनजीवन प्रभावित हुआ है, वहीं कई लोगों को रेस्क्यू करके निकाला गया है। इस बीच मंदसौर के पशुपतिनाथ पूरी तरह से जलमग्न हो गए हैं।

 

भोपाल। मध्यप्रदेश में लगातार भारी बारिश से कई जिलों में बाढ़ से जनजीवन प्रभावित हुआ है, वहीं कई लोगों को रेस्क्यू करके निकाला गया है। इस बीच मंदसौर के पशुपतिनाथ पूरी तरह से जलमग्न हो गए हैं। मध्यप्रदेश के बदरवास, राजगढ़, रायसेन, मंदसौर, खंडवा और टीकमगढ़ में बाढ़ से लोग परेशान हो गए हैं। अब भी भारी बारिश का दौर जारी है। बाढ़ में फंसे हुए लोगों को बचाने का काम चल रहा है। इसके अलावा कई ट्रेनें शुक्रवार को भी विलंब से चल रही हैं।

 

Live Updates
-नीमच जिले में 38.72 इंच हुई अभी तक बारिश। औसत से 5 इंच से अधिक हुई।
-मंदसौर में गांधीसागर का जल स्तर 1300.2 फीट तक पहुंचा।
-मंदसौर की धान मंडी क्षेत्र, खानपुरा की निचली बस्ती, पंप हाउस और शहर के कई क्षेत्रों में अब तक पानी भरा हुआ है।

 

mandsaurmandsaur

रातभर टापू पर बैठे रहे ग्रामीण
शिवपुरी जिले के बदरवास थाना क्षेत्र के ग्राम रेंजर में सिंध नदी के उफान पर होने से गांव चारों तरफ से पानी से घिर गया है। ग्रामीणों के मुताबिक 30 सालों गांव में ऐसी आपदा आई है।
यहां के लोगों को रातभर अंधेरे में बैठकर गुजारनी पड़ी। सुबह होने पर रेस्क्यू दल की नजर पड़ने के बाद एक-एक करके ग्रामीणों को बाहर निकाला गया। 41 ग्रामीणों को सकुशल बाहर निकाला गया। तहसीलदार अखिलेश शर्मा थाना प्रभारी सतीश चौहान एवं जिले से दो दर्जन रेस्क्यू टीम करीब ढाई घंटे तक चले इस रेस्क्यू में उनको बाहर निकाला गया। शुक्रवार को खबर लिखे जाने तक रेस्क्यू ऑपरेशन जारी था।

 

 

mandsaur

18 घंटे पंसे रहे युवक
टीकमगढ़ जिले से खबर है कि कुड़ीला थाना क्षेत्र के ग्राम बार में ग्राम पंचायत कुड़ीला निवासी रफीक खान, श्रीराम और मिलन लोधी यह तीनों धसान नदीं में मछली पकड़ने गए थे। तभी नदी में अचानक पानी बढ़ गया और यह तीनों युवक नदी में ही घिर गए। इन्हें पूरी रात एक टापू पर ही गुजारना पड़ा। पूरी रात भूखे प्यासे टापू पर गुजारने के बाद शुक्रवार को सुबह रेस्क्यू टीम ने उन्हें निकाला। इस टीम में होमगार्ड और एनडीआरएफ के सदस्य शामिल थे। मौके पर एएसपी एमएल चौरसिया, एसडीएम विकास आनंद सहित तहसीलदार बल्देवगढ़, थाना प्रभारी कुड़ीला मौजूद थे।

 

 

बारिश ने रोके रास्ते जबलपुर के रास्ते
रायसेन जिले से खबर है कि लगातार बारिश के दूसरे दिन शुक्रवार सुबह भी एनएच-12 बंद हो गया। बारिश के कारण बरेली के बारना पुल पर चार फीट पानी बहने लगा। वहीं बेतवा के पगनेश्वर पुल पर 10 फीट पानी बह रहा है। इस कारण विदिशा रायसेन एनएच 146 भी तीन दिनों से बंद है।

 

 कुंडालिया और मोहनपुरा डैम का पानी छोड़ा
राजगढ़ का कुंडालिया डैम और मोहनपुरा डैम लबालब हो जाने के कारण दोनों ही डैम का पानी छोड़ दिया गया है। कुंडालिया के 11 और मोहनपुरा के 12 गेट खोल दिए गए हैं। इससे पहले प्रशासन ने अलर्ट भी जारी कर दिया था। डैम का नजारा लेने के लिए बड़ी संख्या में लोग पहुंच गए थे।

राजगढ़ में 40 गायों की मौत
राजगढ़ में बारिश से जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। लगातार बारिश के कारण मोहन गांव के पास एक युवक बह गया। शुक्रवार सुबह उसका शव बरामद हुआ है। मृतक का नाम बने सिंह पिता रामचंद्र वर्मा (32) निवासी दराना बताया जाता है। वहीं पांच दिनों से तेज बारिश के बाद खिलचीपुर की गौशाला में रह रही 40 गायों के मरने की खबर है। उल्लेखनीय है कि इस गौशाला में करीब 600 गायों के रखरखाव की व्यवस्था है, लेकिन बारिश और कीचड़ में इनकी तरफ ध्यान नहीं दिया गया और यह गायें एक-एक करके मरती चली गईं। इनके मरने का सिलसिला अब तक जारी है।

 

 

इंदिरा सागर और ओंकारेश्वर डेम के गेट खोले
उधर, जबलपुर में बरगी बांध और तवा बांध के गेट खोले जाने के बाद नर्मदा का जलस्तर और बढ़ गया है। बरगी और तवा बांध का पानी इंदिरा सागर बांध तक पहुंच गया है। इंदिरा सागर बांध से लगातार बिजली बनाकर पानी छोड़ा जा रहा है। इससे ओंकारेश्वर में भी जलस्तर बढ़ गया है। ओंकारेश्वर में नर्मदा घाटों पर हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। घाट खाली करवा लिए गए हैं, नौका संचालन पर प्रतिबंध लगा दिया है। लोगों को नर्मदा किनारे नहीं जाने की ताकीद दी जा रही है और लगातार सायरन बजाकर तथा मुनादी करके श्रद्धालुओं को सचेत किया जा रहा है। ओंकारेश्वर मे नर्मदा नदी का जल बढ़ा है।

 

 

लबालब हो गया भोपाल का बड़ा तालाब

भोपाल का बड़ा तालाब भी लगातार हो रही बारिश में लबालब हो गया है। करीब तीन बार भदभदा डैम के गेट खोले जा चुके हैं। भोपाल के बड़े तालाब का नजारा लेने के लिए सैलानी बड़ी संख्या में पहुंच रहे हैं। लोग इस तालाब को देखखर समुंदर सा अहसास कर रहे हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned