scriptLata Mangeshkar was given poison in 1962 | जब लता मंगेशकर को दे दिया था जहर, खुद दीदी ने बताया दर्दनाक वाकया | Patrika News

जब लता मंगेशकर को दे दिया था जहर, खुद दीदी ने बताया दर्दनाक वाकया

डोंगरी भाषा की प्रसिद्ध साहित्यकार पद्मा सचदेव की पुस्तक में इस घटना का जिक्र

भोपाल

Published: January 11, 2022 01:58:53 pm

भोपाल. स्वर कोकिला लता मंगेशकर कोरोना संक्रमित हो गई हैं। उन्हें मुंबई के अस्पताल में भर्ती कराया गया है. इस महान गायिका के यूं अस्पताल में भर्ती हो जाने से देश—दुनिया में उनके प्रशंसक चिंतित हो उठे हैं. खासतौर पर मध्यप्रदेश में लता की सेहत के लिए दुआओं का दौर शुरु हो चुका है. प्रदेश के इंदौर में जन्मीं लता दीदी पहले भी कई मुसीबतों से निकल चुकीं हैं. करोड़ों लोगों के दिलों में राज करने वाली लता को जहर देकर मारने तक की कोशिश की जा चुकी है. खुद लता दीदी ने इस दर्दनाक वाकये का जिक्र किया था.

lata_didi.png

लता मंगेश्कर को धीमा जहर देकर उनकी जान लेने की कोशिश करने की यह घटना कई दशक पहले की है। डोंगरी भाषा की प्रसिद्ध साहित्यकार पद्मा सचदेव की पुस्तक में इस घटना का जिक्र भी किया गया है। गौरतलब है कि पद्मा सचदेव और लता मंगेशकर के काफी नजदीकी संबंध रहे हैं। यही कारण कि लताजी ने लेखिका को इस निजी घटना के बारे में बता दिया था जिसका पद्मा सचदेव की पुस्तक 'ऐसा कहां से लाऊं' में भी जिक्र किया गया.

lata_didi2.jpg

बाद में लेखिका नसरीन मुन्नी कबीर के साथ एक इंटरव्यू में भी लता मंगेशकर ने इस घटना का उल्लेख किया था। सन 2009 में उनके इस साक्षात्कार पर आधारित एक पुस्तक भी प्रकाशित हुई थी। पद्मा सचदेव की पुस्तक में लेखिका के अनुसार लता मंगेशकर के साथ यह घटना सन 1962 में हुई थी, जब वे महज 33 साल की थीं। पद्मा सचदेव के अनुसार, लताजी को जहर देने का काम उनके रसाइए ने किया था. घटना सामने आने के बाद वह भाग गया और घर में रसोई का जिम्मा उनकी छोटी बहन उषा मंगेशकर ने संभाला.

पद्मा सचदेव के अनुसार, लताजी ने बताया कि डॉक्टर के मुताबिक उन्हें धीमा जहर दिया जा रहा था। जहर के कारण वे कमजोरी हो गई थीं। दर्द बर्दाश्त से बाहर होता जा रहा था। डॉक्टरों ने उन्हें बचाने की भरसक कोशिश की। वे तीन दिन तक जिंदगी और मौत के बीच झूलती रहीं. पर आखिरकार ये जंग वे जीत गईं. पद्मा सचदेव के साथ अपने अनुभव को शेयर करते हुए लताजी ने बताया था कि हालांकि इसके बाद वे कई महीनों तक गाना नहीं गा सकी थीं.

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Corona Cases In India: देश में 24 घंटे में कोरोना के 2.68 लाख से ज्यादा केस आए सामने, जानिए क्या है मौत का आंकड़ाJob Reservation: हरियाणा के युवाओं को निजी क्षेत्र की नौकरियों में 75 फीसदी आरक्षण आज से लागूUP Election: चार दिन में बदल गया यूपी का चुनावी समीकरण, वर्षों बाद 'मंडल' बनाम 'कमंडल'अलवर दुष्कर्म मामलाः प्रियंका गांधी ने की पीड़िता के पिता से बात, हर संभव मदद का भरोसाArmy Day 2022: क्‍यों मनाया जाता है सेना दिवस, जानिए महत्व और इतिहास से जुड़े रोचक तथ्यभीम आर्मी प्रमुख चन्द्र शेखर ने अखिलेश यादव पर बोला हमला, मुलाकात के बाद आजाद निराशयूपी विधानसभा चुनाव 2022 पहले चरण का नामांकन शुरू कैराना से खुला खाता, भाजपा के लिए सीटें बचाना है चुनौतीधोनी का पहला प्यार है Indian Army, 3 किस्से जो लगाते हैं इस बात पर मुहर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.