अब वाहन खरीदने में फायदा, बैंकों और वाहन कंपनियों ने दिया धमाकेदार ऑफर

ग्राहको को होगा बड़ा फायदा, कोरोना संकट से वाहन उद्योग को उबारने क लिये बैंकों ने घटाईं दरें, कंपनियां ने दिये बड़े ऑफर

By: Hitendra Sharma

Published: 12 Oct 2020, 10:49 AM IST

भोपाल. जल्द ही नवरात्रि और दशहरा का त्योह़ार आने वाला है इस फैस्टीवल सीजन में कार व मोटरसाइकिल की अच्छी खाशी बिक्री होती रही है। इसलिये कोरोना संकट से उबरने के लिये वाहन कम्पनियां और बैंकों ने बड़े ऑफर की घोषणा की है जिससे ग्राहकों के फायदे के साथ साथ कम्पनियों का भी अच्छा कोरबार हो सके।

अगर हम पिछले साल की बात करें तो नवरात्र से दीपावली के बीच अकेले भोपाल शहर में ही करीब तेरह हजार दोपहिया एवं साढ़े पांच हजार चार पहिया वाहन बिके थे। अब ऑटोमोबाइल सेक्टर के नये ऑफर और बैंक की घटी ब्याज दरों से उम्मीद की जा रही है कि बड़े ऑफर के फायदों के चलते ग्राहक एक बार फिर शोरूम का रुख करेंगे। और कम कीमत में मिल रहे वाहनों को अपने घर लाएंगे।

ये होगा फायदा
बैंकों के वाहन लोन की दरें घटने से ग्राहकों को स्टॉलमेंट कम हो जाएगी। जिससे वाहन मालिक को लोन चुकाने में परेशानी नहीं होगी। त्योहार में नया वाहन खरीदने वाले कम्पनियों के ऑफर का लाभ भी अलग से मिल सकेगा। बैंक और ऑटो कम्पनियों के इन ऑफर्स के बाद ऑटोमोबाइल कारोबार नवरात्र से दीपावली के बीच चमकने की उम्मीद जताई जा रही है।

ये है काम के ऑफर्स
अगर दोपहिया वाहनों पर ऑफर्स की बात करें तो बैंकों ने ऑटोलोन की दरें काफी कम कर दी हैं, साथ ही वाहन कंपनियों ने भी डाउन पेमेंट को घटा दिया है। ऑटो कम्पनियों ने कुछ गाड़ियों के मॉडल पर 2800 से 4000 रुपये तक कम कर दिए हैं। वही अगर चार पहिया वाहनों की बात तक करें तो वाहन कम्पनियों ने कुछ मॉडल्स पर भारी डिस्काउंट घोषित कर दिया है।बैंकों ने ऑटो लोन की दरें घटा दी है, जिससे ईएमआई कम हो जाएगी।

पहले बैंकों में पता करें
दुनिया में कोरोना की दस्तक के साथ ही ऑटोमाोवाइल लोन की दरें बैंकों ने 0.40 फीसदी से लेकर 7 . 2 5 फीसद तक कर दी हैं। इसलिये वाहन खरीदने से पहले तीन-चार बैंकों में दरों का पता कर लें। दरअसल, ये बैकों की बेसिक दरें हैं। जो ग्राहको और कई फैक्टर्स पर डिपेंड हैं। इसलिये वाहन खरीदने से पहले पूरी पड़ताल करें तभी ऑफर्स का पूरा लाभ मिल सकेगा।

कोरोना संकट से देश प्रदेश की अर्थव्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है। मध्य प्रदेश में ऑटोमोवाइल सेक्टर से भी इससे अछूता नहीं रहा है। प्रदेश में लॉकडाउन लगने से तीन महीने तक तो सभी शोरूम भी बंद रहे थे। अब शोरूम तो खुले पर ग्राहकी कमजोर रहने से लगातार घाटा हो रहा है। पिछले दो महीने से ऑटो सेक्टर में फिर से कारोबारी उम्मीद जागी है, पर अभी भी वाहन कम्पनियों की उम्मीद पूरी नहीं हुई हैं।

Show More
Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned