शिवराज ने सिंधिया को कहा- धन्यवाद, मोदी सरकार के चार मंत्रियों से भी की मुलाकात

union minister jyotiraditya scindia: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सिंधिया समेत कई केंद्रीय मंत्रियों से की मुलाकात...।

By: Manish Gite

Published: 12 Jul 2021, 04:09 PM IST

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को केंद्रीय उड्डन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात की। केंद्रीय मंत्री बनने के बाद शिवराज की यह पहली मुलाकात है। इस दौरान शिवराज सिंह ने सिंधिया को नई उड़ानें शुरू कराने के लिए धन्यवाद दिया।सिंधिया के अलावा शिवराज ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गिरिराज सिंह, कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर,वीरेंद्र कुमार खटिक से भी मुलाकात की। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने केंद्रीय मंत्रियों के साथ मुलाकात की तस्वीरें ट्वीटर पर शेयर की हैं।

 

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीटर पर तस्वीरें शेयर करते हुए कहा है कि नई दिल्ली में केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से भेंट कर केंद्रीय नागरिक उड्डन मंत्री बनने पर बधाई दी। चौहान ने कहा कि मुझे विश्वास है कि आपके कुशल मार्गदर्शन में उड्डन क्षेत्र में अभूतपूर्व सुधार होगा और यह सेक्टर नई ऊंचाइयों को स्पर्श करेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मैंने केंद्रीय मंत्री सिंधिया से इंदौर, भोपाल व जबलपुर एयरपोर्ट के विस्तारीकरण, ग्वालियर में नवीन एयरपोर्ट बनाने और भोपाल को इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनाने के प्रस्ताव पर चर्चा की।

 

उन्होंने बताया कि इसके अलावा इंदौर में इंटरनेशनल फ्लाइट को बढ़ावा देने, उड़ान योजना के अंतर्गत रीवा, खजुराहो, दतिया, ग्वालियर, भोपाल और जबलपुर में फ्लाइट्स देकर एयर कनेक्टिविटी को बढ़ाने पर विस्तृत चर्चा की। सिंधियाजी ने आवश्यक निर्णय लेने का आश्वासन दिया है, जिसके लिए उन्हें धन्यवाद देता हूँ।

राजनाथ सिंह से की मुलाकात

मुख्यमंत्री चौहान ने नई दिल्ली में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से भी भेंट की। उन्होंने जबलपुर में डिफेंस क्लस्टर बनाने के संबंध में चर्चा की। यह डिफेंस क्लस्टर बनने से महाकौशल क्षेत्र में उपस्थित एमएसएमई सेक्टर और अन्य तकनीकी संस्थानों में प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार भी बढ़ेगा।

 

कृषि मंत्री से क्या हुई बात

मुख्यमंत्री चौहान ने रविवार रात को केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के साथ भी मुलाकात की। तोमर के निवास पर चर्चा के बाद चौहान ने ट्वीटर पर इसकी तस्वीरें शेयर की। उन्होंने लिखा है कि केन्द्रीय मंत्री से कृषकों से जुड़े विभिन्न विषयों पर चर्चा की। केन्द्रीय मंत्री ने चर्चा के विषयों पर आवश्यक कार्रवाई का आश्वासन दिया।

चौहान ने कहा कि उनसे प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के वर्ष 2021-22 के लिए सरप्लस शेयरिंग मॉडल को प्रदेश में क्रियान्वित करने के लिए अनुमति प्रदान करने का अनुरोध किया।

चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना खरीफ 2020 एवं रबी 2020-21 में क्रियान्वित करने के लिए बीमा कम्पनियों के चयन के लिए 3 बार निविदा जारी की गई, किन्तु प्रीमियम दरें अधिक आने के कारण शासन द्वारा 80-110 प्रतिशत सरप्लस शेयरिंग मॉडल को मध्यप्रदेश में लागू किया गया है।

मुख्यमंत्री ने बताया कि सरप्लस शेयरिंग मॉडल के अनुसार बीमा कम्पनी की क्लेम देनदारियां कुल प्रीमियम के 80 से 110% रहेंगी। कुल प्रीमियम के 110% से अधिक स्तर का क्लेम राज्य शासन द्वारा वहन किया जाएगा तथा 80% से कम दावा बनने पर बीमा कम्पनी द्वारा 80% सीमा के अतिरिक्त की राशि राज्य शासन को वापस की जायेगी।

Show More
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned