लॉकडाउन में सख्तीः 20 कंटेनमेंट जोन बने, बाहर निकलने पर 2 हजार जुर्माना

- शहर में बेरिकेट लगाकर पुलिस तैनात
- बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते सख्ती
- पुलिस से बहस करते नजर आये लोग
- आवश्यक सेवाओं से जुड़े व्यक्तियों को छूट

By: Hitendra Sharma

Published: 28 Mar 2021, 01:14 PM IST

भोपाल. रविवार को लॉकडाउन के चलते जिला प्रशासन ने सख्ती करते हुए पूरे शहर में बेरिकेटिंग करते हुए लोगों की आवाजाही पर रोक लगा दी है। सुबह से केवल अति आवश्यक सेवा से जुड़े लोगों को छोड़कर अन्य सभी लोगों को घर लौटाया जा रहा है। कुछ लोगों ने पुलिस के साथ बहस की है।

बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए राजधानी भोपाल में जिला प्रशासन शहर में कंटेनमेंट जोन बना दिया है। अलग-अलग सर्किल में एक साथ 20 कंटेनमेंट जोन बनाकर आवागमन रोक दिया गया है। सबसे ज्यादा कंटेनमेंट शहर सर्किल के न्यू सुभाष नगर, ओल्ड सुभाष नगर, श्यामला हिल्स, प्रोफेसर कॉलोनी और जुमेराती में हैं। इसके बाद चार जोन कोलार सर्किल के स्टाफ क्वार्टर आवंतिका परिसर, बघीरा अपार्टमेंट, शाहपुरा और भारत नगर में हैं। यहां पांच या इससे अधिक मरीज हैं। इनकी फस्र्ट कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग की जिम्मेदारी सीएमएचओ और महिला बाल विकास विभाग को दी है। जो लोग संक्रमित व्यक्ति घर के बाहर घूमते पाए गए तो दो हजार रुपए का जुर्माना किया जाएगा। तीसरा सर्किल गोविंदपुरा का है, जहां संतनगर, अशोका गार्डन, पारस हाइट्स और शंकर गार्डन क्वीन मैरी स्कूल के पास अयोध्या बायपास पर कंटेनमेंट बनाया है।

अशोका गार्डन घना एरिया है। इसे ध्यान में रखते हुए संत नगर में आवाजाही न हो इसके लिए बैरीकेडिंग को सख्त किया गया है। बाहर से आए व्यक्ति हुए संक्रमित एमपी नगर में बने कंटेनमेंट जोन में बाहर से आए व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाए गए। रचना नगर और एलआइजी साकेत नगर में कंटेनमेंट जोन बने हैं। टीटी नगर सर्किल में गीतांजलि कॉम्पलेक्स और नेहरू नगर में कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। बैरागढ़ सर्किल में ईदगाह हिल्स स्थित ईदगाह कोठी और हुजूर सर्किल में ईशान नगर दुर्गा मंदिर के पीछे नीलबड़ में कंटेनमेंट बनाया है। बैरसिया में हरसिद्धि कॉलोनी और होलीपुरा में कंटेनमेंट बनाए गए हैं।

इन बिंदुओं पर निगरानी
जिला प्रशासन की तरफ से बनाए गए कंटेनमेंट जोन में सात बिंदुओं पर निगरानी की जा रही है। इन क्षेत्रों में लोगों का आवागमन रोक दिया है। शहर के सभी निवासियों को होम क्वारेंटाइन रहना होगा। आवश्यक सेवाओं से जुड़े व्यक्ति के अलावा कोई भी बाहर नहीं जाएगा। सीएमएचओ की टीम लगातार मॉनीटरिंग करेगी। बाहर निकलने वाले स्थानों पर कर्मचारी लोागों की स्क्रीनिंग करेंगे। नगर निगम के अधिकारी-कर्मचारी सैनिटाइजेशन का काम करेंगे।

Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned