विधानसभा चुनाव से पहले निकलीं बंपर सरकारी नौकरियां, यहां जानें कैसे करें अप्लाई

एम्स भोपाल में भर्ती प्रक्रिया के बाद भी कंसल्टेंट्स के 178 पद खाली हैं।

By: rishi upadhyay

Published: 29 Nov 2017, 01:24 PM IST

भोपाल। विधानसभा चुनावों से ठीक पहले नौकरी का इंतजार कर रहे युवाओं के लिए एक बार फिर से सुनहरा मौका हाथ आने की संभावना है। दो चरणों की भर्ती प्रक्रिया के बाद एम्स भोपाल में फिर से वैकेंसी निकलने वाली हैं। अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक एम्स भोपाल में भर्ती प्रक्रिया के बाद भी कंसल्टेंट्स के 178 पद खाली हैं। आपको बता दें कि मार्च 2018 तक एम्स में नए अस्पताल को शुरू किये जाने का प्लान है। ये अस्पताल लगभग 600 बिस्तरों वाला होगा, जिसके लिए कंसल्टेंट्स की जरूरत भी होगी। ऐसी स्थिति में यदि ये खाली पद नहीं भरे जाएंगे तो अस्पताल खुलने में समस्या आ सकती है। एम्स भोपाल के अधिकारियों के मुताबिक मार्च 2018 से पहले इन पदों पर भर्तियां की जानी हैं।

 

इसलिए जरूरी है इन पदों पर भर्ती
दरअसल इन पदों पर भर्ती करना एम्स, भोपाल के लिए बेहद जरूरी हो चला है। दरअसल अस्पताल प्रबंधन ने इस साल दिसंबर तक ट्रामा एंड इमरजेंसी शुरू करने का लक्ष्य रखा था, पर डॉक्टरों के कुछ पद खाली होने की वजह से यह यूनिट फरवरी तक शुरू करने की तैयारी है। माना जा रहा है कि इस कमी को दूर करने के लिए कंसल्टेंट्स जल्द भर्ती किए जाएंगे। वहीं किडनी व लिवर ट्रांसप्लांट जैसे जटिल इलाजों के लिए एम्स में यूरोलॉजिस्ट व नेफ्रोलॉजिस्ट आ गए हैं। कुछ और फैकल्टी आने के बाद अगले साल लिवर व किडनी ट्रांसप्लांट शुरू हो जाएगा।

 

इसके अलावा अभी तक क्लीनिकल सब्जेक्ट्स में पीजी शुरू नहीं हो पाई है। माना जा रहा है कि फैकल्टी के सभी पद भरने के बाद सभी क्लीनिकल सब्जेक्ट्स में पीजी शुरू हो सकेगी। एम्स भोपाल में नए कंसल्टेंट्स का इतंजार इसलिए भी किया जा रहा है क्योंकि यहां पर रेडियोथैरेपी यूनिट भी शुरू होने के लिए अटकी हुई है। जल्द ही यहां पर रेडियोथैरेपी यूनिट की शुरूआत होगी, जिससे कि कैंसर के मरीजों की लीनियर एक्सीलेरेटर व अन्य मशीनों से सिकाई की जा सकेगी।

 

अभी भी खाली पड़े पद, दूसरे चरण में मिले सिर्फ 71
हालांकि इससे पहले एक बड़ी बात ये सामने आई है कि एम्स प्रबंधन द्वारा दूसरे चरण में 251 पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया था, लेकिन इसमें अभी तक करीब 71 ने ही ज्वाइन किया है। वहीं एम्स के अधिकारियों का ये कहना है कि फैकल्टी का चयन हो चुका है, इनमें कुछ फैकल्टीज् ने एम्स, भोपाल ज्वाइन करने कि लिए समय मांगा है।

 

आपको बता दें कि 960 बेड वाले एम्स के अस्पताल में अभी तक सिर्फ 300 बेड ही शुरू हो पाए हैं। साल 2017 के दिसम्बर तक इसमें 600 बेड शुरू करने का लक्ष्य था। लेकिन फैकल्टी व अन्य स्टाफ की कमी के चलते अस्पताल में बिस्तरों की संख्या नहीं बढ़ाई जा रही है। लिहाजा अगले महीने से फिर भर्ती प्रक्रिया शुरू की जा रही है। एम्स के अधिकारियों के मुताबिक इस बार कई सुपरस्पेशलिटी विभाग के डॉक्टरों की भी भर्ती की जाएगी। इसके लिए अलावा सीनियर रेसीडेंट के कुछ पदों पर भर्ती आयोजित की जाएगी, माना जा रहा है कि ये अगले महीने आयोजित की जाएगी।

Show More
rishi upadhyay
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned