प्रियंका की महापंचायत में सम्मान नहीं मिलने पर कई कांग्रेस नेताओं ने दिया सामूहिक त्यागपत्र

Highlights

- प्रियंका गांधी की चांदपुर में हुई किसान महापंचायत में उपेक्षा का आरोप

- महापंचायत के बाद कांग्रेस पदाधिकारियों ने सामूहिक रूप से त्यागपत्र दिया

- पार्टी छोड़ने वालों मेें जिला सचिव समेत अल्हैपुर ब्लॉक के तमाम कांग्रेस पदाधिकारी शामिल

By: lokesh verma

Published: 17 Feb 2021, 12:12 PM IST

बिजनौर. कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की चांदपुर में हुई किसान महापंचायत पर कांग्रेसियों ने ही सवाल खड़े कर दिए हैं। महापंचायत के बाद कांग्रेस पदाधिकारियों ने सामूहिक रूप से पार्टी से त्यागपत्र दे दिया है। पार्टी छोड़ने वालों मेें जिला सचिव समेत अल्हैपुर ब्लॉक के तमाम कांग्रेस पदाधिकारी शामिल हैं, जिन्होंने महापंचायत में उचित सम्मान नहीं देने पर इस तरह गुस्सा जाहिर किया है।

यह भी पढ़ें- शिवपाल यादव का बड़ा बयान- एक हुआ परिवार 2022 में जीत लेंगे चुनाव

उल्लेखनीय है कि सोमवार को बिजनौर के चांदपुर में कांग्रेस ने बड़ी महापंचायत का आयोजन किया था, जिसमें पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी भी पहुंची थीं। वहीं, मंगलवार को कांग्रेस के पदाधिकारियों ने प्रियंका गांधी को अपना सामूहिक त्यागपत्र भेज दिया है। इस संबंध में जिला सचिव अथर जुनैद चंदन ने बताया कि महापंचायत में कई ब्लॉक और नगर अध्यक्ष के अलावा विधानसभा प्रभारी और संगठन प्रभारी समेत कई नेताओं को मंच तक भी जाने नहीं दिया गया। इतना ही नहीं हुसैन अहमद अंसारी को मंच पर दूसरे नाम से बुलाया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि मंच पर कई ऐसे नेताओं को बिठाया गया था, जिनके पास दो वोट भी नहीं हैं। जबकि पदाधिकारियों तक को पास जारी नहीं किए गए। उन्होंने आरोप लगाया कि जब इस संबंध मेंं जिला प्रभारी से शिकायत की गई तो उन्होंने भी अभद्र व्यवहार किया।

जिला सचिव ने कहा कि कांग्रेस पार्टी में कर्मठ और जुझारू कार्यकर्ताओं की उपेक्षा हो रही हैै। उन्होंने कहा कि 25 वर्ष तक कांग्रेस की सेवा करने के बावजूद बेरुखी के बाद स्वेच्छा से समर्थकों संग कांग्रेस की सदस्यता और जिला सचिव और ब्लॉक प्रभारी अफजलगढ़ के पद से त्यागपत्र दिया है। वहीं, दूसरी तरफ अल्हैपुर ब्लॉक अध्यक्ष मनोज कुमार चौहान ने जिलाध्यक्ष शेरबाज पठान को त्याग पत्र सौंपा है। उन्होंने कर्मठ कार्यकर्ताओं की उपेक्षा के कारण अपने साथ ब्लॉक के चार उपाध्यक्ष, आधा दर्जन महासचिव, 13 न्याय पंचायतों के अध्यक्ष और सचिवों के पदों से त्यागपत्र देने की बात कही है।

यह भी पढ़ें- रिंकू शर्मा हत्याकांड: केजरीवाल सरकार पर बरसे स्वामी दीपांकर, बोले- सीएम योगी को मिस कर रहा हूं

Congress
Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned