राकेश टिकैत बोले- सरकार गुपचुप तरीके से हमारे खिलाफ चल रही चाल

Highlights

- किसान आंदोलन को और तेज करने के लिए 24 मार्च तक खाप पंचायतों के दौरे पर राकेश टिकैत

- जगह-जगह जाकर खाप पंचायतों का समर्थन जुटा रहे टिकैत

- राकेश टिकैत ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना

By: lokesh verma

Published: 01 Mar 2021, 12:35 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
बिजनौर. कृषि कानूनों के विरोध में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता लगातार जगह-जगह पर जाकर खाप पंचायतों का समर्थन जुटा रहे हैं। साथ ही केंद्र सरकार की ओर से कृषि कानून वापस नहीं लिए जाने को लेकर गाजीपुर बॉर्डर पर भी भारतीय किसान यूनियन का धरना जारी है। इसी कड़ी में राकेश टिकैत रविवार रात उत्तराखंड के उधम सिंह नगर और सहारनपुर के लिए निकले थे, लेकिन रात अधिक होने के कारण वह बिजनौर के अफजलगढ़ के गांव प्रेमपुरी में विश्राम के लिए रुके। यहां भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने किसानों को कृषि कानूनों के बारे में जागरूक करते हुए केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछले 15-20 दिन से सरकार ने कुछ नहीं कहा है। उन्होंने कहा कि लगता है कि सरकार कोई चाल चल रही है।

यह भी पढ़ें- केंद्रीय मंत्री डॉ. संजीव बालियान ने विपक्ष को दिया ये खुला चैलेंज

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत लगातार गांवों में जाकर खाप पंचायतों का दौरा कर रहे हैं। इसी कार्यक्रम के तहत राकेश टिकैत बीती रात बिजनौर जिले के अफजलगढ़ के गांव प्रेमपुरी में पहुंचे और वहां विश्राम किया। गांव पहुंचे प्रवक्ता राकेश टिकैत ने गांव वालों को संबोधित करते हुए कहा कि 15-20 दिन से सरकार ने कुछ नहीं कहा है। उन्होंने आशंका जताई कि सरकार उनके खिलाफ कोई चाल रही है। इसके साथ ही उन्होंने अपनी फसल नष्ट करने वाले किसानों से अपील की कि ऐसा न करें। इसमें हमारा ही नुकसान हो रहा है।

उन्होंने कहा कि हमने अपनी ताकत सरकार को दिखा दी है। उन्होंने किसानों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करते हुए कहा कि लस्सी पियो, नींबू पानी पियो, दूध खूब पियो, ताकि दूध महंगा हो सके और सरकार को महंगाई और गन्ना मूल्य निर्धारण के बारे में पता चल सके। राकेश टिकैत के पहुंचने पर गांव प्रेमपुरी के लोगों ने राकेश शिकायत का स्वागत करते हुए राकेश टिकैत जिंदाबाद, किसान पार्टी यूनियन जिंदाबाद के जमकर नारे लगाए। राकेश टिकैत ने बताया कि 24 मार्च तक अलग-अलग जगह पर उनका कार्यक्रम है, जिसको लेकर वह लगातार खाप पंचायतों में 24 मार्च तक शामिल होते रहेंगे।

यह भी पढ़ें- भारतीय किसान संगठन ने कहा- तीनों कृषि कानून वापस लेने की जिद न करें बॉर्डर पर बैठे किसान नेता

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned