अब सरकार स्कूलों में करेगी उपलब्धियों का प्रचार

माध्यमिक शिक्षा निदेशालय को भेजे निर्देशों में कहा गया है कि राज्य में शिक्षा विभाग के जहां भी नए भवन बने हैं, उनका उद्घाटन किया जाए।

By: अनुश्री जोशी

Published: 10 Nov 2017, 12:23 PM IST

राज्य सरकार चुनाव से पहले अपनी चार साल की उपलब्धियों का स्कूलों में विद्यार्थियों के बीच प्रचार करेगी। राज्य सरकार की ओर से माध्यमिक शिक्षा निदेशालय को भेजे निर्देशों में कहा गया है कि राज्य में शिक्षा विभाग के जहां भी नए भवन बने हैं, उनका उद्घाटन किया जाए।

 

सैकण्डरी एवं सीनियर सैकण्डरी स्कूलों में 8 से 13 दिसम्बर तक स्वच्छता कार्यक्रम मनाया जाएगा। 13 दिसम्बर को सभी स्कूलों में प्रार्थना सभा के दौरान राज्य सरकार की चार वर्ष की उपलब्धियां विद्यार्थियों को बताई जाएगी।

 

शिक्षा निदेशालय में विभागीय कार्यक्रम में फ्लैगशिप योजना का भी इस दौरान प्रचार किया जाएगा। राज्य सरकार ने विभागीय कार्यक्रम में राज्य सरकार की उपलब्धियों के प्रचार का सभी विभागोंं में कार्यक्रम दिए गए हैं।

 

योग्यताधारी व्याख्याताओं का पंजीयन करेगा विश्वविद्यालय
महाराजा गंगा सिंह विश्वविद्यालय की ओर से चलाए जा रहे विश्वविद्यालय महाविद्यालय की ओर कार्यक्रम के क्रम में जिले के महाविद्यालयों के प्राचार्यों की बैठक गुरुवार को रामुपरिया जैन विधि महाविद्यालय में हुई। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कुलपति प्रो.भागीरथ सिंह ने कहा कि विश्वविद्यालय और महाविद्यालय एक दूसरे के पूरक हैं।

 

दोनों के मध्य आपसी समन्वय और संवाद के माध्यम से ही दोनों संस्थाओं का विकास किया जाना संभव हो पाएगा। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय से सम्बद्वता प्राप्त महाविद्यालयों से सहयोग प्राप्त कर शैक्षणिक गुणवता को बढाते हुए विश्वविद्यालय को राष्ट्रीय एवं अन्तरराष्ट्रीय पहचान बनाने का प्रयास किया जाएगा।

 

प्रो. भागीरथ सिंह ने कहा कि विश्वविद्यालय द्वारा शीघ्र ही महाविद्यालय के प्राचार्यों एवं व्याख्याताओं की शिक्षक के रूप में पहचान बनाने एवं समाज में एक अहम दर्जा बनाने के लिए प्रयास किए जाएंगे। जिसके अन्तर्गत विश्वविद्यालय द्वारा बीकानेर संभाग के सभी निजी महाविद्यालयों के लिए योग्यताधारी इच्छुक व्याख्याताओं का पंजीयन विवि स्तर पर किया जाएगा।

 

कुलसचिव मनोज कुमार शर्मा ने कहा कि आज महाविद्यालयों में विद्यार्थियों की संख्या तो बढ़ रही हैं लेकिन जब कक्षाओं में जाते हैं तो वहां गिनती के ही विद्यार्थी मिलते हैं। विवि परीक्षा नियंत्रक डॉ.जेएस खीचड़, उप कुलसचिव शैक्षणिक डॉ. बिटठ्ल बिसा, प्रबन्ध समिति सचिव सुनील रामपुरिया, महाविद्यालय प्राचार्य डॉ. अनन्त जोशी ने विचार व्यक्त किए।

अनुश्री जोशी
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned