नियुक्ति में बड़ा फर्जीवाड़ा, 32 अधिकारी-कर्मचारी बर्खास्त

नियुक्ति में बड़ा फर्जीवाड़ा, 32 अधिकारी-कर्मचारी बर्खास्त

Amil Shrivas | Publish: Sep, 08 2018 02:06:38 PM (IST) Bilaspur, Chhattisgarh, India

जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक : फर्जी दस्तावेज के आधार पर हुई थी इनकी नियुक्ति

बिलासपुर. जिला सहकारी बैंक में फर्जी अंक सूची के आधार 49 अधिकारी-कर्मचारियों की नियुक्ति का मामला प्रकाश में आया था। पंजीयक द्वारा की गई जांच के आधार पर 32 लोगों को बर्खास्त कर दिया गया है। जिला सहाकारी बैंक में 2012- 2014 में 49 कर्मचारियों की भर्ती की गई थी। इनमें शाखा प्रबंधक, पर्यवेक्षक, चपरासी आदि शामिल थे। शिकायत मिली कि फर्जी दस्तावेज के आधार पर इनकी नियुक्ति की गई है। मामले का खुलासा होने के बाद पंजीयक द्वारा जांच का आदेश दिया गया था। संयुक्त पंजीयक की टीम ने मामले की जांच कर प्रतिवेदन पंजीयक को सौंपा। पंजीयक के आदेश पर जिला सहकारी बैंक की स्टाफ कमेटी द्वारा व्यक्तिगत सुनवाई की गई। संतोषप्रद जवाब नहीं मिलने पर 32 कर्मचारियों को बर्खास्त करने का आदेश जारी किया गया है। इसमें तत्कालीन सीईओ विकास गुरूदीवान, अधीक्षक संदीप जायसवाल, पर्यवेक्षक परेश गौतम व अन्य शामिल हैं।

पंजीयक ने बताया था फर्जी
जिला सहकारी बैंक ने जिन कर्मचारियों को बर्खास्त किया वह फर्जी अंकसूची से नौकरी कर रहे थे। करीब 2 साल पहले इसकी शिकायत हुई थी। इस शिकायत के बाद शासन के आदेश पर संयुक्त पंजीयक केएल ढारगावे की टीम ने जांज पड़ताल की। इसमें भारी फर्जीवाड़ा का प्रमाण पाया। ढारगावे ने जांच रिपोर्ट शासन को सौंपते हुए 49 कर्मचारियों की भर्ती को गलत बताया था।

कोई नहीं आया कमेटी के सामने
फर्जी भर्ती मामले को लेकर कार्रवाई शुरू हुई। कलेक्टर पी. दयानन्द के आदेश और उप-पंजीयक के निर्देश के बाद ढारगावे की रिपोर्ट पर सुनवाई हुई। 49 में से एक दर्जन कर्मचारियों को छोडकऱ अन्य ने फर्जी अंकसूची दिखाई। या फिर अंकसूची पेश करने में असफल साबित हुए। कई लोग तो जांच कमेटी के सामने ही नहीं आए।

किसानों की राशि गबन का मामला
ढारगावे की टीम ने जांच पड़ताल के दौरान पाया कि विकास गुरूदिवान और संदीप जायसवाल समेत एक दर्जन से अधिक कर्मचारियों ने वित्तीय अनियमितिताएं की हंै। शासन को लाखों रुपए की चपत लगाई है। किसानों और हितग्राहियों की रकम का गबन भी किया है।

शासन के आदेश का पालन
पंजीयक के आदेश पर जांच कमेटी द्वारा दी गई रिपोर्ट के आधार पर और स्टाफ कमेटी के निर्देश पर कार्रवाई की गई है। 49 अधिकारी-कर्मचारियों का मामला सामने आया था। इनमें के खिलाफ बर्खास्तगी की कार्रवाई की गई है।
अभिषेक तिवारी, मुख्य कार्यपालन अधिकारी

Ad Block is Banned