script छत्तीसगढ़ पुलिस की बड़ी कार्रवाई, 10 दिनों में ही 89 लापता लोगों को ढूंढ निकाला, घरों में लौटी खुशियां | Bilaspur police found 89 missing people in 10 days | Patrika News

छत्तीसगढ़ पुलिस की बड़ी कार्रवाई, 10 दिनों में ही 89 लापता लोगों को ढूंढ निकाला, घरों में लौटी खुशियां

locationबिलासपुरPublished: Dec 07, 2023 01:13:07 pm

Submitted by:

Khyati Parihar

BIlaspur News: एनसीआरबी की रिपोर्ट में खुलासा किया गया है कि छत्तीसगढ़ में साल 2022 के दौरान 0 से 18 वर्ष की 2206 बालिकाओं के गुम होने की शिकायत राज्य भर के थानों में दर्ज कराई गई है। वहीं 0 से 18 वर्ष के 530 बालकों की गुमशुदगी हुई है।

police_operation.jpg
Chhattisgarh News: बिलासपुर जिला पुलिस ने विशेष अभियान चला कर बीते दस दिन में कुल 89 गुम इंसानों को ढूंढ निकलने में सफलता हासिल की है। कार्रवाई करते हुए कोटा थाना पुलिस ने 10, सिविल लाइन, सकरी और तोरवा पुलिस ने 9-9, सिरगिट्टी और कोतवाली ने 5-5, कोनी, सीपत पुलिस द्वारा 4-4, सरकंडा पुलिस ने 3, चकरभाठा और पचपेड़ी पुलिस ने 2-2 और तारबाहर ,हिर्री और बेलगहना पुलिस ने एक-एक गुमशुदा को ढूंढ निकाला गया है। इनमें से कई मामले घर से भाग कर शादी करने और पारिवारिक विवाद के चलते घर से भाग जाने के शामिल हैं।
2022 में कुल 0 से 18 वर्ष की 2206 बालिका गुमशुदा

हाल ही में जारी किए गए एनसीआरबी की रिपोर्ट में खुलासा किया गया है कि छत्तीसगढ़ में साल 2022 के दौरान 0 से 18 वर्ष की 2206 बालिकाओं के गुम होने की शिकायत राज्य भर के थानों में दर्ज कराई गई है। वहीं 0 से 18 वर्ष के 530 बालकों की गुमशुदगी हुई है। इसी तरह 18 से 30 वर्ष के 11 पुरुष और 9 महिलाओं की गुमशुदगी दर्ज की गई है। जबकि 30 से 60 वर्ष की आयु के 18 पुरुष और 3 महिलाओं की गुमशुदगी दर्ज की गई है।
यह भी पढ़ें

Health Alert: कड़ाके की ठंड आते ही बच्चों को हो रही यह बीमारियां, दिखाई पड़ रहे ऐसे-ऐसे लक्षण...देखिए

27 सौ से अधिक को ढूंढ निकाला गया

एनसीआरबी रिपोर्ट से मिली जानकारी के अनुसार वर्ष 2022 में कुल 2715 गुमशुदा महिला-पुरुष को ढूंढ निकलने में पुलिस को सफलता मिली है। जिसमें जिंदा ढूंढे गए पुरुषों की संख्या 459 और महिलाओं की संख्या 2 हजार 226 है। जबकि 10 पुरुष और 20 महिला जिन्हें मृत अवस्था में ढूंढा गया है।
केस - 1. प्रार्थी ने संबंधित थाना में अपनी पुत्री के गुम होने की शिकायत दर्ज कराई थी। प्रार्थी ने बताया था कि उसकी पुत्री घर से बिना बताए कहीं चली गई है। युवती की पतासाजी के दौरान पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि उसने एक युवक से विवाह कर लिया है और वह उसके साथ ओडिशा में है। साइबर सेल से तकनीकी जानकारी लेकर ओडिशा टीम भेज कर प्रार्थी की पुत्री को बरामद किया गया।
केस - 2. प्रार्थी ने संबंधित थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी कि उसकी पत्नी घर से बिना बताए कहीं चली गई थी। पुलिस को पता तलाश करने के दौरान जानकारी मिली कि गुमशुदा महिला अपने दादी के घर पर है। सूचना पर कार्रवाई करते हुए गुमशुदा महिला को ढूंढ कर पूछताछ की गई। इस दौरान महिला ने बताया कि उसका पति शराब पीकर आए दिन गाली -गलौज करता था, जिससे परेशान होकर वह अपने दादी यहां चली गई थी।
केस - 3. प्रार्थी ने सम्बंधित थाने में शिकायत दर्ज कराई थी कि उसकी 20 साल की बेटी घर से बिना बताए कहीं चली गई। पुलिस को खोजबीन के दौरान पता चला कि प्रार्थी की गुम बेटी एक युवक के साथ विवाह करके गौरेला-पेंड्रा में रह रही है। सूचना पर टीम भेज कर प्रार्थी की बेटी को खोज निकाला गया।
केस - 4. प्रार्थी ने संबंधित थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी कि उसकी बेटी सिलाई सेंटर जाने के नाम पर घर से निकली थी लेकिन नहीं लौटी। पुलिस को खोजबीन करने पर पता चला कि प्रार्थी की बेटी गांव के स्कूल के खाली सेप्टिक टैंक में छुपी हुई थी। बेटी ने बताया कि उसका अपने मां और भाई से विवाद हो गया था। सुबह डांट पड़ने के डर से घर नहीं जा रही थी। पुलिस ने युवती को विधिवत दस्तयाबी कर परिजनों को सुपुर्द किया।
संभाग के पांच जिलों में कार्रवाई

पांच जिलों में विगत पंद्रह दिवस में विशेष प्रयासों से कुल 238 गुम लोगों को ढूंढने में सफलता मिली है। इन दस्तयाब गुम इंसानों में 5 बालक, 46 बालिका और 57 पुरुष व 130 महिलाएं हैं। जिलावार आंकड़ों में विगत 15 दिनों में जिला बिलासपुर में 1 बालक, 24 बालिका, 30 पुरुष, 51 महिला (कुल 106), जिला रायगढ़ में 1 बालक, 6 बालिका, 4 पुरुष, 14 महिला (कुल 25), जिला कोरबा में 2 बालक, 6 बालिका, 3 पुरुष, 14 महिला (कुल 25), जिला जांजगीर-चाम्पा में 1 बालक, 10 बालिका, 17 पुरुष, 46 महिला (कुल 74), जिला सक्ती में 3 पुरुष, 5 महिला समेत कुल 8 लोग शामिल हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो