scriptDanger of rail fracture is continuously increasing on this section | बिलासपुर सेक्शन के इस सेक्शन पर रेल फैक्चर का लगातार बढ़ रहा खतरा, 5 किलो मीटर टीम कर रही निगरानी | Patrika News

बिलासपुर सेक्शन के इस सेक्शन पर रेल फैक्चर का लगातार बढ़ रहा खतरा, 5 किलो मीटर टीम कर रही निगरानी

locationबिलासपुरPublished: Dec 09, 2023 11:00:41 pm

Submitted by:

Kranti Namdev

- रेल फेक्चर से न पडे ट्रेन परिचालन में खलल, हर सेक्शन में टीम कर रही ट्रैक की निगरानी

- खोडरी, खोंगसरा से पेंड्रा रोड की मेन लाइन पर विशेष नजर, एसीजीए पर भी फोकस

Rail Factor Repair
रेल फेक्चर से न पडे ट्रेन परिचालन में खलल, हर सेक्शन में टीम कर रही ट्रैक की निगरानी0. खोडरी, खोंगसरा से पेंड्रा रोड की मेन लाइन पर विशेष नजर, एसीजीए पर भी फोकस
बिलासपुर. पेंड्रारोड-खोंडरी-खोंगसरा सेक्सन में पड़ने वाली कड़ाके की ठंड को देखते हुए बिलासपुर मंडल ने रेलवे ट्रैक पर पेट्रोलिंग बढ़ा दी है। रेलवे परिचालन में सरंक्षा व सुरक्षा के कारण ट्रेन परिचालन में अवरोध उत्पन्न न हो इसके मंडल ने हर सेक्शन में टीम को नियुक्त किया है। टीम पेट्रोलिंग के साथ ही एसीजे के ज्वाइंट पर विशेष नजर रख रही है।
बिलासपुर मंडल में करगीरोड कोटा सेक्शन से पेंड्रारोड तक जंगल व पहाड़ी क्षेत्र होने की वजह से ठंड अधिक पड़ती है। खोड़री, खोंगसरा, भनवारटंक से लेकर पेंड्ररोड के बीच मौसम की मार पड़ने से रेलवे ट्रैक सिकुड कर क्रैक हो जाता है। रेल फैक्चर की वजह से डी-रेल की संभावना अधिक होती है जो बड़ी दुर्घटना का कारण भी बन सकता है। बिलासपुर मंडल के पेड्रारोड़ सेक्शन में पड़ने वाली कडाके की ठंड को देखते हुए रेलवे अधिकारियों ने सेक्शन में कड़ाके की ठंड की वजह से रेल फैक्टर होने की स्थिति में तत्काल जानकारी मिल सके इसके टीम को तैनात कर दिया है। टीम पेट्रोलिंग के साथ ही एसीजे (ज्वाइंट) पर विशेष ध्यान दे रही है। रेलवे अधिकारियों की माने तो मार्च तक पेट्रोलिंग लगातार जारी रहेगी।
रेलवे कर्मचारी मरम्त कार्य करते हुएठंड में ब्रिथिंग पाइट सुकड़ने की संभावना

कडाके की ठंड पड़ने से रेल का लोहा सुकड़ने लगता है, सिकड़न से ब्रिथिंग पाइंट में गैप आ जाती है। इन गैप की वजह से डी-रेल की संभावना काफी अधिक होती है, रेल परिचालक में ब्रिथिंग पांइट में गैप आने या फिर रेल फैक्चर का पता लगाने के लिए हर सेक्शन में ट्रैक मैनटेनरो को तैनात किया गया है।
सेक्शन के हर 5 किलो मीटर में एक टीम तैनात

रेलवे अधिकारियों की माने तो ठंड को देखते हुए विंटर प्रीकाशन के लिए बीट पेट्रोलिंग के साथ ही हर सेक्शन के 5 किलो की दूरी पर टीम को तैनात किया गया है। टीम में इंजीनियरिंग विभाग के ट्रैकमैनटेनरो को तैनात किया गया है। टीम एसीजे (ब्रिथिंग पाइंट) को चेक कर अधिकारियों को रिपोर्टिंग कर रही है।
बिलासपुर मंडल के खोंडरा पेड्रारोड में अक्टूबर माह से ठंड पड़नी शुरू हो जाती है। सेक्शन में फैक्चर होने पर तत्काल जानकारी हो जाए इसके लिए हर सेक्शन में 5 किलो मीटर की दूरी पर एक टीम तैनात किया गया है। विंटर प्रीकशन टीम अपने स्तर पर काम कर हर दिन संबंधित अधिकारी को रिपोर्ट करती है। सुरक्षित परिचालन को लेकर रेलवे लगातार काम कर रहा है।
विकास कुमार कश्यप, सीनियर डीसीएम बिलासपुर मंडल

 

ट्रेंडिंग वीडियो