मेंटल हॉस्पिटल में 100 की जगह होंगे 200 बेड, निर्माण कार्य जल्द होगा शुरू

सीजीएमएससी के अधिकारी को कार्य जल्द शुरू करने के निर्देश दिए। डॉ. नंदा ने बताया 2012 में अस्पताल का निर्माण पूरा हुआ।

By: Amil Shrivas

Published: 09 Dec 2017, 01:13 PM IST

बिलासपुर . प्रमुख सचिव सुब्रत साहू ,स्वास्थ्य संचालक रानू साहू और नेशनल हेल्थ मिशन एस एस भूरे स्वास्थ्य महकमें के साथ हाईकोर्ट आए थे। उन्होंने इसी बीच मेंटल हास्पिटल को दो सौ बिस्तर करने के निर्देश दिए। जिला अस्पताल के निरीक्षण के दौरान बिल्डिंग की सीपेज को लेकर नाराजगी जताई। इसके बाद शाम 4 बजे सिम्स का निरीक्षण किया। सिम्स के निरीक्षण के बाद बैठक में प्रमुख सचिव ने डॉक्टरों की कमी पीजी कोर्स से लेकर अनेक विषयों पर चर्चा की। सेंदरी स्थित मेंटल अस्पताल का निरीक्षण के दौरान प्रभारी डॉ. बीआर नंदा से बेड की जानकारी ली। नंदा ने बताया कि 100 बेड हैं। प्रमुख सचिव ने अस्पताल में सौ बेड़ बढ़ाने के निर्देश दिए। इसका निर्माण कार्य सीजीएमएससी द्वारा किया जाएगा। अस्पताल में भर्ती मरीजों की जानकारी ली। इसके बाद पूरी बिल्डिंग को घूम घूम कर निरीक्षण किया। डॉ. नंदा को अस्पताल की साफ सफाई अच्छे से कराने के निर्देश दिए। सीजीएमएससी के अधिकारी को कार्य जल्द शुरू करने के निर्देश दिए। डॉ. नंदा ने बताया 2012 में अस्पताल का निर्माण
पूरा हुआ।

READ MORE : सामाजिक परिवर्तन में मुख्य भूमिका निभाएं अधिवक्ता-सीजे राधाकृष्णन

इस समय 100 बेड का था। मरीजों की संख्या दिनों दिन बढऩे के कारण 200 बिस्तर की मांग की गई थी। निरीक्षण के दौरान सिम्स के एमएस डॉक्टर रमणेश मूर्ति, डॉ. लखन सिंह, डॉ. भूपेन्द्र कश्यप, सीएमएचओ डॉ. बीबी बोर्डे, मधुलिका सिंह, डिस्टीक प्रोग्राम मैनेजर लता बंजारे सहित अन्य उपस्थित थे।
हांफने लगे डॉक्टर : प्रमुख सचिव साहू सिम्स में बन रहे 100 बेड के वार्ड को देखने के लिए सीढ़ी से चौथे माले में पहुंचे, तक डॉक्टर उनसे पीछे हो गए। कुछ लोग हांफने लगे। यह नजारा देख साहू चौक गए।
सीपेज देख भड़के सचिव, डिजिटल एक्सरे मशीन देने का आश्वासन : स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव सुब्रत साहू शुक्रवार दोपहर जिला अस्पताल में तल्ख हो गए। वे डॉयरेक्टर हेल्थ रानू साहू के साथ जिला अस्पताल का निरीक्षण कर रहे थे। लैब में पहुंचे तो दीवार सीपेज से गीली मिली। पूछताछ में डॉक्टरों ने बताया कि लैब के ठीक ऊपर पहले माले में आरओ वाटर प्लांट है। प्लांट बंद है लेकिन पानी की सप्लाई चालू है, जिसके कारण सीपेज की समस्या है। प्रमुख सचिव ने लैब में सीपेज के लिए अस्पताल के जिम्मेदार अफसरों को फटकारा और लैब हाईजेनिक बनाने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान एक्सरे रूम का निरीक्षण किए प्रमुख सचिव ने जिला अस्पताल को डिजिटल एक्सरे मशीन उपलब्ध कराने की बात कही। डॉक्टरों ने बताया कि नगर निगम जिला अस्पताल के बगल में मल्टी लेवल पार्किंग बनाने जा रहा है। इससे ध्वनि वायु दोनों तरह का प्रदूषण होगा जो मरीजों के लिए सही नहीं रहेगा। प्रमुख सचिव ने भी माना कि अस्पताल के बगल में मल्टी लेवल पार्किंग का होना सही नहीं है। उन्होंने पार्किंग को किसी और जगह शिफ्ट करने के लिए मंत्रालय स्तर पर बात करने की बात कही प्रमुख सचिव महकमें के साथ हाईकोर्ट आए थे। उन्होंने इसी बीच मेंटल हास्पिटल के अलावा जिला अस्पताल का निरीक्षण किया।
READ MORE : जरा ध्यान दें-संपर्क क्रांति आज रद्द, दिल्ली की तरफ जाने वाली 10 गाडिय़ों के रुट बदले

कम खर्च में ट्रामा यूनिट बनाने के दिए निर्देेश : प्रमुख सचिव सुब्रत साहू ,स्वास्थ्य संचालक रानू साहू और नेशनल हेल्थ मिशन एस एस भूरे सिम्स पहुंचने के लिए सबसे पहले सिम्स के चौथे माले में पहुंचे। पूरी बिल्डिंग का निरीक्षण करने के बाद निर्माण कार्य में गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिए। इसके बाद मेडिकल सर्जिकल वार्ड का निरीक्षण किया। आपातकालीन वार्ड का निरीक्षण करने के बाद पंखे व लाइट की संख्या बढ़ाने के लिए कहा। टीबी रोग में भर्ती मरीजों की जानकारी ली। मनोरोग विभाग का निरीक्षण के दौरान डॉ. नायक से मरीजों की जानकारी ली। भर्ती मरीजों की संख्या पूछने के बाद वे जिला असपताल के पुरानी बिल्डिंग जहां पर ट्रामा सेंटर बनाने के लिए प्रस्तावित किया गया है। उस जगह का निरीक्षण किया। सुब्रत साहू ने कहा कोनी में कैसर अस्पताल प्रस्तावित है उसमें ट्रामा सेंटर बनाया जाएगा। दो जगह पर राशि खर्च करने के बजाय पुरानी बिल्डिंग में ही बिजली, पानी की व्यवस्था कर ट्रामा यूनिट सेंटर बनाने के निर्देश दिए। इसके बाद कॉलेज बिल्डिंग में सिम्स प्रबंधन की बैठक ली, जिसमें सिम्स में स्टाफ की कमी और पीजी कोर्स से संबंधित अन्य जानकारी लेने के बाद मरचूरी का निरीक्षण किया। सिम्स के पीछे सीवरेज का काम होना है, उसकी जानकारी लेने के बाद रायपुर के लिए लौट गए।

READ MORE : बस स्टैंड की बदहाली पर तिलमिलाए अमर, 1 घंटे में उपप्रबंधक निलंबित

Amil Shrivas
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned