हत्या कांड की जांच में नया मोड़, हत्या आरोपी महिला के बेटे पर भी है पुलिस को संदेह

पुलिस के अनुसार तोषण कुमार लिबर्टी पिता राम दुलारे (45) की हत्या मंगलवार को 4 बजे के आस-पास हो गई थी। गांव की ही त्रिवेणी बाई पति सुखराम (55) ने हत्या करने की बात स्वीकर करते हुए हत्या में इस्तेमाल पत्थर पुलिस को दिया है।

By: Karunakant Chaubey

Published: 15 Oct 2020, 10:21 PM IST

बिलासपुर. खैरा डगनिया निवासी तोषण कुमार लिबर्टी पिता राम दुलारे की हत्या में जांच के दौरान पुलिस को नया मोड दिखाई देने लगा है। हत्या के दिन से ही महिला का मंझला बेटा गांव से फरार हो गया है। वहीं पूर्व में महिला की बहू ने अपने ही देवर के खिलाफ मृतक के बहकावे में आकर 354 का अपराध दर्ज करवा दिया था। पुलिस को संदेह है हत्या में महिला का बेटा भी कहीं शामिल तो नहीं है पुलिस महिला को संदेही मान कर जांच को आगे बढ़ा रही है।

पुलिस के अनुसार तोषण कुमार लिबर्टी पिता राम दुलारे (45) की हत्या मंगलवार को 4 बजे के आस-पास हो गई थी। गांव की ही त्रिवेणी बाई पति सुखराम (55) ने हत्या करने की बात स्वीकर करते हुए हत्या में इस्तेमाल पत्थर पुलिस को दिया है। मामले में जांच कर रही पुलिस को पता चला कि संदेही महिला व मृतक के बीच लम्बे समय से विवाद चल रहा था। मृतक तोषण कुमार ने त्रिवेणी बाई के बड़े बेटे बलराम की शादी कराई थी।

हत्या की जांच कर रही थी पुलिस कि तभी भीड़ से आई आवाज- इसे मैंने मारा है साहब

शादी के बाद मृतक तोषण संदेही त्रिवेणी की बहू को बेटे व सास के खिलाफ भड़काता रहता था। कई बार थाने पहुंच 498 का मामला दर्ज कराने पुलिस पर भी दबाव बनाने का प्रयास करता था। पुलिस ने जब अपराध दर्ज नहीं किया तो मृतक के कहने पर बहु ने देवर राकेश के खिलाफ छेड़छाड़ का अपराध दर्ज करा दिया था। इस बात से त्रिवेणी व उसका परिवार काफी परेशान रहने लगा था।

शिकायत के बाद से राकेश गांव छोड़ भाग निकला। इस दौरान नशे में मृतक तोषण संदेही के घर पास आकर गालीगलौज कर छोटे बेटे को पुलिस से पकड़वाने की धमकी दे रहा है। मंगलवार को हुई हत्या के बाद त्रिवेणी बाई का मंझला बेटा दुर्गा सूर्यवंशी घर में ताला लगाकर भाग गया है। पुलिस बेटे की तलाश कर रही है। पुलिस को उम्मीद है हत्या में मंझला बेटा दुर्गा भी शामिल हो सकता है, इसी कारण भाग गया है।

हत्या के एक दिन पहले तीन युवकों से हुआ था विवाद

पुलिस की जांच में यह बात भी सामने आई है कि मृतक तोषण कुमार लिबर्टी का उसके पड़ोसी तुलसी, दिलहरण व छतराम से विवाद हुआ था। तीनों तोषण के घर के सामने आकर गालीगलौज करते हुए जान से मारने की धमकी दे रहे थे।

हत्या के मामले में महिला अपने बयान पर कायम है। लेकिन हत्या की जांच के दौरान बहुत सी बातें सामने आ रही हैं। मृतक से पूरा गांव परेशान था। हत्या में महिला के अलावा कौन-कौन शामिल हो सकता है, इसकी जांच की जा रही है।

-राजकुमार सोरी, थाना प्रभारी सीपत

ये भी पढ़ें: प्रेमिका को पाने के लिए किया 2 साल के मासूम का अपहरण, सीसीटीवी कैमरे में मिली तस्वीर से पकड़ाया

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned