भारतीय रेल पर रहीस दलालों का साया, इसलिए बिगड़ी है ट्रेनों की व्यवस्था, रेलवे अधिकारियों के तार भी जुड़े दिख रहे हैं

Murari Soni | Updated: 14 Jun 2019, 07:00:19 PM (IST) Bilaspur, Bilaspur, Chhattisgarh, India

टिकट के दलालों पर आरपीएफ पुलिस का ऑपरेशन थंडर(RPF police operation), कई रहीस चढ़े पुलिस के हत्थे(Police arrested), सवा करोड़ (1.25 crores)के ई-टिकट बरामद(E-ticket recovered),(indian railway),(rpf arrested ticket brokers),

बिलासपुर. भारतीय रेल (indian railway)में कंफर्म टिकट के साथ यात्रा करना अब लोगों के सपनों की तरह होता जा रहा है। ट्रेनों में हमेशा वेटिंग बनी रहती है। देशभर में टिकट के दलालों का जाल फैला हुआ है, जो ऑनलाइन टिकट बुक कर दलाली करते हैं और औने-पौने दामों में टिकट बेचते हैं। भारतीय रेल पर दलालों का साया न हो तो लोग सुकून से यात्रा कर सकते हैं।

हालाकि गुरुवारगुरुवार का दिन टिकट दलालों के लिए कयामत भरा रहा। रेलवे ने जोन स्तर पर कार्रवाई करते हुए 35 टिकट दलालों को हिरासत में लेकर उनके पास से 15 हजार ई-टिकट बरामद किया है, जिनकी कीमत 1 करोड़ से अधिक है। टिकट दलालों पर धारा 143 व 179 के तहत कार्रवाई की जा रही है। रेलवे बोर्ड व महानिदेशक रेलवे सुरक्षा बल अरुण कुमार के निर्देश पर, गुरुवार को प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त आरके चौहान व मंडल सुरक्षा आयुक्त ऋ षि कुमार शुक्ला ने, बिलासपुर मंडल के विभिन्न जगहों पर टीम बनाकर ऑपरेशन थंडर के तहत सुबह से ही ई-टिकटों की काला बाजारी करने वालों पर ताबड़तोड़ कार्रवाई की। कार्रवाई के दौरान टीम ने 20 से अधिक ठिकानों पर दबिश दी और 18 मामलों में टिकट दलालों पर कार्रवाई करते हुए 3 हजार 30 ई-टिकट जब्त किया है। जब्त ई-टिकटों की कीमत लगभग 50 लाख रुपए है। सभी टिकट दलालों पर रेलवे सुरक्षा अधिनियम की धारा 143 के तहत कार्रवाई की जा रही है।

जोन के तीनों मंडलों में 35 दलालों से 15 हजार ई-टिकट बरामद
ऑपरेशन थंडर के तहत हुई कार्रवाई के दौरान जोन के तीनों मंडलों हुई ताबड़तोड़ कार्रवाई के दौरान आरपीएफ व सीबीआई की टीम ने कार्रवाई की। कार्रवाई के दौरान बिलासपुर मंडल से 18 ठिकानों पर, रायपुर मंडल में 11 ई-टिकट दलालों पर व नागपुर मंडल 7 स्थानों पर दबिश दी गई है।

बिलासपुर मंडल में हुई कार्रवाई
पीयूष कुमार तिवारी पिता आशुतोष तिवारी राजकिशोर नगर सरकंडा बिलासपुर से लगभग 50 ई-टिकट
दिलीप कश्यप पिता मनहरन लाल कश्यप सतबहनिया मंदिर बंधवापारा सरकंडा बिलासपुर से 100 ई-टिकट
सोनाली जायसवाल पुराना थाना तखतपुर से 40 ई-टिकट
आयोध्या प्रसाद साहू रामगढ़ मुंगेली से 70 ई-टिकट
शिवम महिलांगे पिता मोहर दास सिरगिट्टी 9 ई-टिकट
अंकित वर्मा पिता विनोद वर्मा गांजा चौक कोतवाली रायगढ़
पूनम कुमार अग्रवाल पिता सुरेश अग्रवाल नयापारा कोतवाली रायगढ़
दुर्गेश थवाईत पिता परदेशी थवाईत चांपा 1 ई-टिकट
विरेन्द्र कुमार राम भटगांव सूरजपूर जिला अम्बिकापुर
प्रतिक जायसवाल शारदा कालोनी कोरबा से 112 ई-टिकट 14 पसर्नल आई डी 2 लाख 82 हजार 492 रुपए
अजय जायसवाल पिता जमुना प्रसाद मनेन्द्रगढ़ 24 ई-टिकट

20 टीमों का गठन किया गया
आपरेशन थंडर को सफलता पूर्वक अंजाम देने के लिए मंडल सुरक्षा आयुक्त ने 20 टीमों का गठन किया था। प्रत्येक टीम में लगभग 6 सदस्य रखे गए थे।

 

RPF police operation thunder on  <a href=Ticket Brokers in Chhattisgarh" src="https://new-img.patrika.com/upload/2019/06/14/photo_2019-06-13_19-50-17_1_4710064-m.jpg">

सीनियर डीएससी ने दी कार्रवाई से पहले सभी को विशेष ट्रेनिग
बिलासपुर मंडल में पिछले सप्ताह भर से लगातार ई टिकटों की कलाबाजारी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई चल रही है। लगातार कार्रवाई के बाद भी नतिजा अपेक्षाकृत नहीं मिल रहा था। इसे देखते हुए सीनियर डीएससी ऋषि कुमार ने सीआईबी व आरपीएफ के जवानों को ई टिकट को पकडऩे संबंधी आवश्यक जानकारी दी। मामलों की विस्तृत जांच चल रही है और रेलवे कर्मचारियों की संलिप्तता का पता लगाया जा रहा है। छापे की कार्रवाई को अंजाम देने के लिए हर पोस्ट में टास्क टीमों का गठन किया था और नई दिल्ली की एंटी फ्रॉड टीम द्वारा लगातार समर्थन प्रदान किया जा रहा था, जिसने डाउट्स के स्थान और मापांक के बारे में खुफिया जानकारी साझा की थी।

बिलासपुर मंडल से 3030 ई टिकट बरामद
वही बिलासपुर मंडल में रेलवे सुरक्षा बल के जवानों ने एक दिन 3030 ई टिकट बरामद किया है। जिनकी संभावित कीमत 50 लाख से अधिक है।

बड़े नामों का होगा खुलासा
ई टिकट की कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ चल रहे अभियान के दौरान आरपीएफ के जवनों को सुराग हाथ लगे है उनमें कुछ बड़े नामों का खुलासा भी हो सकता है। ऐसी संभावना उच्चाधिकारी कर रहे है।

पूर्व में आपरेशन आंधी में नहीं मिली थी सफलता
वर्ष 2018 में आरपीएफ महानिदेशक अरुण कुमार ने पदभार ग्रहण करते ही आपरेशन आंधी चलाई थी अभियान के दौरान आरपीएफ की टीम ने पूरे देश में 10 करोड़ रुपए की ई-टिकट बरामद की थी। उस समय बिलासपुर मंडल में केवल 7 मामले ही सामने आए थे।

आपरेशन थंडर के तहत जोन के तीनों मंडल में सीनियर डीएससी को टीम गठन कर कार्रवाई के निदेश दिए गए थे। पिछले बार की तुलना अपेक्षाकृत अधिक सफलता मिली है। तीनों जोन से लगभग 15 हजार से अधिक ई-टिक ट बरामद हुआ है। इनकी कीमत 1 करोड़ से उपर है। कार्रवाई चल रही है। कुछ बडे नाम भी सामने आए है जांच के बाद खुलासा होगा।
आरके चौहान, प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त

पत्रिका की लेटेस्ट खबरें पढ़ें

Instagram - https://www.instagram.com/patrikabsp/


Twitter - https://twitter.com/BilaspurPatrika


Facebook - https://www.facebook.com/pg/patrikabsp

 

 

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned