ट्रेनों में अकेले सफर करने वाली महिलाओं की होगी विशेष सुरक्षा व्यवस्था, ट्रेनों में होगी लगातार गश्त

आरपीएफ की टीम जोन क्षेत्राधिकार से गुजरने वाली चुनिंदा ट्रेनों में पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में मेरी सहेली अभियान चलाकर महिला यात्रियों को सहायता पहुंचाने के साथ-साथ जागरूक कर उनकी समस्याओं का त्वरित निदान कर रही है।

By: Karunakant Chaubey

Published: 29 Oct 2020, 07:35 PM IST

बिलासपुर. ट्रेन से यात्रा कर रही महिला यात्रियों की सुरक्षा के लिए पूरे देश में रेलवे सुरक्षा बल के द्वारा मेरी सहेली अभियान शुरू किया गया है। अभियान के तहत ट्रेनों में अकेले सफर करने वाली महिलाओं की सुरक्षा का ध्यान रखा जा रहा है। सफर के दौरान महिला आरपीएफ कर्मचारियों द्वारा व्यक्तिगत रूप से महिला यात्रियों से मिलकर सुरक्षा संबंधी व अन्य समस्याओं की जानकारी ली जा रही है।

आरपीएफ टीम महिला यात्रियों को जागरूक किया जा रहा है। सफर में आने वाली सुरक्षा संबंधी जानकारी देकर उन्हें समस्या होने पर तत्काल समाधान के लिए आरपीएफ हेल्पलाइन नंबर 182 और संबंधित मंडल सुरक्षा कंट्रोल रूम का नंबर भी उपलब्ध कराया जा रहा है।

ट्रेनों के परिचालन के साथ शुरू हो गई गांजा तस्करी, 7 हजार के गांजा समेत 2 तस्कर पकड़ाए

आरपीएफ की टीम जोन क्षेत्राधिकार से गुजरने वाली चुनिंदा ट्रेनों में पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में मेरी सहेली अभियान चलाकर महिला यात्रियों को सहायता पहुंचाने के साथ-साथ जागरूक कर उनकी समस्याओं का त्वरित निदान कर रही है।

वर्तमान में बिलासपुर, रायपुर और नागपुर मंडलों के द्वारा निम्न ट्रेनों में आपरेशन मेरी सहेली चलाया जा रहा है, अभियान के सफल होने पर अन्य ट्रेनों में भी इसे लागू किया जाएगा। वहीं हेल्पलाइन के अलावा सुरक्षा नियंत्रण कक्ष के मोबाइल नंबर 9752876748, रायगढ़ कंट्रोल रूप मोबाइल नंबर 975444099, नगापुर कंट्रोल रूप मोबाइल नंबर 9730078708 और क्षेत्रीय नियंत्रण कक्ष बिलासपुर का मोबाइल नंबर 9752475714 हमेशा उपलब्ध है।

इन ट्रेनों में चल रहा अभियान

1. 08517 कोरबा-विशाखापट्नम लिंक एक्सप्रेस

2. 02441 राजधानी एक्सप्रेस

3. 02853 अमरकंटक एक्सप्रेस

4. 05160 सारनाथ एक्सप्रेस

5. 02810 हावड़ा-मुंबई मेल

6. 02834 हावड़ा-अहमदाबाद

7. 02070 गोंदिया- रायगढ़ जनशताब्दी एक्सप्रेस

8. 02069 रायगढ़-गोंदिया जनशताब्दी एक्सप्रेस

9.02809 मुंबई-हावड़ा मेल राजनांद गांव

ये भी पढ़ें: पुलिस को थी लूट का आशंका, बिछाया जाल, फिर भी हो गई 60 हजार की लूट

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned