scriptBecause of this Lata Mangeshkar remained a unmarried | सारी उम्र कुंवारी ही रह गई लता मंगेशकर, छोटी सी उम्र में हुई इस घटना ने बदल दी जिंदगी | Patrika News

सारी उम्र कुंवारी ही रह गई लता मंगेशकर, छोटी सी उम्र में हुई इस घटना ने बदल दी जिंदगी

क्या आपने कभी सोचा है, आखिर लता मंगेशकर क्यों अपनी जिंदगी में अकेली रही हैं, क्यों उन्होंने अपने लिए कोई हमसफर नहीं चुना। आइये जानते हैं इसके पीछे की वजह।

Updated: October 05, 2021 10:45:15 am

नई दिल्ली: भारतरत्न लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) जी 92 साल की हो चुकी हैं। 36 से ज्यादा भाषाओं में करीब 30 हजार से ज्यादा गाने गा चुकी है। लता के पास सबकुछ हैं, सिवाय एक हम सफर के। क्या आपने कभी सोचा है, आखिर लता क्यों अपनी जिंदगी में अकेली रहीं, क्यों उन्होंने अपने लिए कोई हमसफर नहीं चुना। आइये जानते हैं इसके पीछे की वजह।
Because of this Lata Mangeshkar remained a unmarried
Lata Mangeshkar
lata1.jpg13 साल की उम्र हुई ये घटना

दरअसल इस बात का खुलासा खुद लता जी ने एक इंटरव्यू में किया था। लता जी के मुताबिक, जब वे 13 साल की थी तब उनके पिता का निधन हो गया था और ऐसे में उन पर घर-परिवार एवं अपने भाई-बहनों की जिम्मेदारी आ गई थी।ऐसे में कई बार शादी का ख्याल आया पर मैं उस पर अमल नहीं कर सकी। कम उम्र से ही मैंने काम शुरू कर दिया था। जिसके बाद काम और परिवार में इतनी व्यस्थ हो गई।
बता दें कि लता जी ने 11 साल की उम्र में गाना शुरू कर दिया था। जब वो 13 साल की थी तो उन्होंने मराठी फिल्म ‘पहली मंगलागौर’ के लिए गाया। लता ने साल 1947 में हिंदी सिनेमा के लिए गाना शुरू किया था। इस दौरान उनकी उम्र 18 साल थीं। सबस पहले लता ने फिल्म ‘आपकी सेवा’ के लिए गाना गाया था।
कर दिया गया था रिजेक्ट
इससे पहले कभी लता की आवाज को पतली बताकर उन्हें रिजेक्ट कर दिया गया था। दरअसल, लता जी के गुरु गुलाम हैदर ने एस मुखर्जी को फिल्म ‘शहीद’ के लिए लता की आवाज सुनाई थी। जिसमें आवाज पतली बताकर उन्हें गाने के लिए मना कर दिया गया था।
एक बार जब गुलाम हैदर, लता मंगेशकर और दिलीप कुमार मुंबई की लोकल ट्रेन में कहीं जा रहे थे तब हैदर ने दिलीप कुमार को लता की आवाज सुनाने के बारे में सोचा। ऐसे में लता जी ने गाना शुरू किया और दिलीप ने उन्हें टोकते हुए कहा कि मराठियों की आवाज से ‘दाल-भात’ की गंध आती है। इसके बाद लता जी ने अपने उच्चारण पर काम किया और हिंदी और उर्दू सीखी थी।
लता मंगेशकर को संगीत की दुनिया में उनके अमूल्य और कभी न भूलने वाले योगदान के लिए (भारत रत्न साल 2001, पद्म भूषण साल 1969 और पद्म विभूषण साल 1999) से सम्मानित किया गया है। वहीं, वे तीन राष्ट्रीय और चार फिल्मफेयर पुरस्कारों से भी सम्मानित की जा चुकी हैं। इसके अलावा उन्हें दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से भी नवाजा जा चुका है।
यह भी पढ़ें

ये हैं बॉलीवुड के वो सितारे जो शराब तक को नहीं लगाते हैं हाथ

बता दें कि लता जी अब 10 सालों से गाना नहीं गा रही हैं। उन्होंने साल 2011 में ‘सतरंगी पैराशूट’ गाने को अपनी आवाज दी थी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Coronavirus: स्वास्थ्य मंत्रालय इन 6 राज्यों में कोविड स्थिति पर चिंतित, यहां तेजी से फैल रहा संक्रमणकेरल में तेजी से बढ़ रहा ओमिक्रॉन, 24 घंटे में 20% बढ़ी ऑक्‍सीजन बेड की मांगगणतंत्र दिवस से पहले बड़ा फैसला, इंडिया गेट पर नहीं अब यहां जलेगी ‘अमर जवान ज्योति’ की मशालबीजेपी सांसद ने कहा 'शराब औषधि समान, कम पीने से करती है औषधि का काम'अखिलेश यादव के कई राज सिद्धार्थनाथ सिंह ने खोले, सुन कर चौंक जाएंगेयूपी विधानसभा चुनाव 2022 के दूसरे चरण की 55 विधानसभा सीटों के लिए आज से होगा नामांकनलोकसभा अध्यक्ष बनने के बाद क्या बदला जीवन, जानिए स्पीकर ओम बिरला का रोचक जवाबpetrol diesel price today: 78वें दिन पेट्रोल-डीजल के दाम स्थिर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.