Accident in Budaun पांच कांवड़ियों समेत सात की मौत के बाद ट्रक में आगजनी का प्रयास, देखें तस्वीरें

Accident in Budaun पांच कांवड़ियों समेत सात की मौत के बाद ट्रक में आगजनी का प्रयास, देखें तस्वीरें
Accident

suchita mishra | Publish: Aug, 13 2019 12:36:51 PM (IST) Budaun, Budaun, Uttar Pradesh, India

-गेहूं के बोरों के नाचे दबकर मरे लोग, दर्दनाक दृश्य।
-मुख्यमंत्री ने शोक जताया, आर्थिक मदद की घोषणा।

बदायूं। हजरतपुर-म्याऊं मार्ग पर हंडौरा गांव के पास ट्रक पलटने से पांच कांवड़ियों समेत सात लोगों की मौत हो गई। 12 लोग घायल हो गए। इसके बाद आक्रोशित लोगों ने ट्रक में आगजनी का प्रयास किया। मौक पर पुलिस आ गई। बड़ी मुश्किल से लोगों को शांत किया। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना पर दुख जताया है। मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है।

 

Accident

कब हुई घटना
घटना सोमवार की देर रात्रि की है। दातागंज क्षेत्र के गांव डहरपुर कलां से गेहूं के बोरे लेकर ट्रक म्याऊं के लिए जा रहा था। रास्ते में हंडौरा गांव निवासी सोनपाल के खोखे पर कांवड़िये जमा थे। ब्रेकर के पास चालक ने तेजी से ब्रेक लगा दिए। इसके चलते लदा ओवरलोड ट्रक खोखे पर पलट गया। ट्रक के नीचे खोखा मालिक, कांवड़िये और राहगीर दब गए। मौके पर शरीर से हाथ और पैर भी अलग हो गए। तीन बाइक ट्रक के नीचे आकर टूट गईं। मौके पर पुलिस पहुंची। जेसीबी और लोगों की मदद से राहत कार्य शुरू हुआ। खोखा मालिक सोनपाल की नातिन पांच वर्षीय काजल और दो वर्ष की नंदिनी पुत्री सुरेंद्र निवासी हड़ौरा की पहचान हो गई। पांच कांवड़िए बदायूं के हजरतपुर क्षेत्र के रहने वाले हैं। सोनपाल, उनका भतीजा देवपाल समेत 12 लोग घायल हो गए। इनमें आधा दर्जन कांवड़िये भी हैं।

 

Accident

विधायकों और अफसरों ने लोगों को समझाया
इस घटना के बाद लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। नारेबाजी करने लगे। बचाव कार्य के दौरान ही ट्रक में आग लगाने का प्रयास किया। मौके पर पहुंचे विधायक राजीव कुमार सिंह, विधायक महेश चन्द्र गुप्ता, जिलाधिकारी बदायूं दिनेश कुमार सिंह, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी ने लोगों को बड़ी मुश्किल से शांत किया।

 

Accident

बोरों के नीचे साथियों की तलाश
गेहूं के बोरों के नाचे से कांवड़िये ने अपने साथियों को तलाशा। ट्रक उठाया तो देखा कि भयावह दृश्य था। कांवड़िये रो रहे थे। क्षतविक्षत लाशें देखकर सबका हृदय फटा जा रहा था। कई लाशों के हाथ-पैर अलग हो गए थे। कावड़िये पटना देवकली मंदिर से जलाभिषेक कर पैदल वापस लौट रहे थे। वे भी ट्रक के नीचे दब गए।

 

Accident

क्यों हुई दुर्घटना
गांव हड़ौरा में स्पीड ब्रेकर बना हुआ है। यहां पर आकर वाहन की गति अपने आप धीमी हो जाती है। रात्रि में स्पीड ब्रेकर दिखाई नहीं दिया। इस कारण चालक ने ट्रक को ब्रेक नहीं लगाया। जैसे ही गति के साथ आ रहे ट्रक ने स्पीड ब्रेकर पर झटका खाया, चालक ने ब्रेक लगा दिए। इसके चलते ट्रक पलट गया और इतनी बड़ी दुर्घटना हो गई।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned