scriptDead body changed during postmartam in bulandshahar | पोस्टमार्टम हाउस में बदल गए दो बच्चों के शव, खुली पोल तो उड़े होश | Patrika News

पोस्टमार्टम हाउस में बदल गए दो बच्चों के शव, खुली पोल तो उड़े होश

सड़क हादसे में मारे गए दो बच्चों के शव पोस्टमार्टम हाउस में बदल गए। एक बच्चे का शव दूसरे बच्चे के परिजनों को सौंप दिया गया। दूसरे बच्चे के परिजनों ने शव को सुपुर्द-ए-खाक भी कर दिया। पहले बच्चे के परिजनों ने जव शव का मुंह देखा तो उन्हें इसके बारे में पता चला। उन्होंने पोस्टमार्टम हाउस पहुंचकर हंगामा शुरू कर दिया। पोल खुलते ही कर्मचारियों के होश उड़ गए। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर परिजनों को समझा बुझाकर शांत कराया।

बुलंदशहर

Published: November 19, 2021 01:47:28 pm

बुलंदशहर. बीते बुधवार रात खुर्जा क्षेत्र में बस की टक्कर से बाइक सवार एक महिला जन्नत और ढाई वर्षीय बच्चे समद की मौत हो गई थी। पुलिस ने मौके पर कार्रवाई करते हुए शव को पोस्टमार्टम हाउस भेज दिया था। वहीं दूसरी ओर जिले के ही मोहल्ला फैसलाबाद में घर के बाहर खेल रहे दो साल के आतिफ को कार ने कुचल दिया था। पुलिस ने आतिफ के शव को पोस्टमार्टम हाउस भेज दिया था। फैसलाबाद निवासी आतिफ के परिजनों की मांग पर बच्चे का रात में ही पोस्टमार्टम कराने की व्यवस्था की गई थी।
bulandshahar_news_postmartam.jpg
यह भी पढ़ें

तंत्र-मंत्र के चक्कर में ताई ने दी पांच साल के मासूम की बलि, खौफनाक वारदात सुन कांप जाएगी रूह

इस दौरान पोस्टमार्टम हाउस के स्टाफ ने लापरवाही करते हुए आतिफ के स्थान पर समद के शव का पोस्टमार्टम करते हुए आतिफ के परिजनों को सौंप दिया। इसके बाद परिजनों ने समद के शव को देर रात करीब डेढ़ बजे दफना दिया। सुबह समद के परिजन पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे और समद के पोस्टमार्टम की मांग की। जब स्टाफ पोस्टमार्टम के लिए शव ले जा रहे थे तो परिजनों ने बच्चे का मुंह देखा और उसके कपड़े से पहचान की।
परिजनों ने शव समद का न होने की बात कहते हुए हंगामा कर दिया। मौके पर हंगामा बढ़ता देखकर स्टाफ ने आनन-फानन आतिफ के परिजनों को मौके पर बुलाया। इसके बाद उन्होंने बच्चे के शव की पहचान आतिफ के तौर पर की। पूरे मामले की पोल खुलते ही परिजनों और कर्मचारियों के होश उड़ गए। पोस्टमार्टम हाउस के स्टाफ की लापरवाही के कारण समद के परिजन अपने बच्चे को आखिरी बार नहीं देख सके। इसको लेकर परिजनों में काफी रोष है।
बताया जा रहा है कि समद अपने परिवार में अकेला था। उसके पिता की दो वर्ष पूर्व बीमारी के कारण मौत हो चुकी है। ऐसे में समद की मां और अन्य परिजनों की बच्चे को आखिरी बार निहारने की उम्मीदों पर पानी फिर गया। दोनों पक्षों के लोगों के बीच सहमति बनने के बाद आतिफ के शव को भी नगर के कब्रिस्तान में दफना दिया गया।
इस मामले में सीएमओ डॉ. विनय कुमार सिंह का कहना है कि पोस्टमार्टम करने के बाद टीम संबंधित पुलिस को शव सौंपती है। लापरवाही किस स्तर पर हुई है, इसकी जांच की जाएगी।

यह भी पढ़ें

UP Assembly Election 2022: क्या यूपी पुलिस की ‘ठोको नीति’ बनेगी चुनावी मुद्दा?

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Health Tips: रोजाना बादाम खाने के कई फायदे , जानिए इसे खाने का सही तरीकातत्काल पैसों की जरुरत है? तो जानिए वो 25 बैंक जो दे रहे हैं सबसे सस्ता Personal LoanPriyanka Chopra Surrogacy baby: तस्लीमा ने वेश्यावृत्ति, बुरका से की सरोगेसी की तुलनाराजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडJhalawar News : ऐसा क्या हुआ कि गुस्से में प्रधानाचार्य ने चबाया व्याख्याता का पंजामां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतAaj Ka Rashifal - 23 January 2022: सिंह राशि वालों के मन में प्रसन्नता रहेगीMaruti की इस सस्ती 7-सीटर कार के दीवाने हुएं लोग, कंपनी ने बेच दी 1 लाख से ज्यादा यूनिट्स, कीमत 4.53 लाख रुपये

बड़ी खबरें

राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार के विजेताओं से पीएम मोदी ने किया संवाद, 'वोकल फॉर लोकल' के लिए मांगी बच्चों की मददब्रेंडन टेलर का खुलासा, इंडियन बिजनेसमैन ने किया ब्लैकमेल; लेनी पड़ी ड्रग्ससंसद में फिर फूटा कोरोना बम, बजट सत्र से पहले सभापति नायडू समेत अब तक 875 कर्मचारी संक्रमितकर्नाटक में कोविड के 50 हजार नए मामले आने के बाद भी सरकार ने हटाया वीकेंड कर्फ्यू, जानिए क्या बोले सीएमRepublic Day 2022 parade guidelines: बिना टीकाकरण और 15 साल से छोटे बच्चों को परेड में नहीं मिलेगी इजाजतभारत दुनिया को खिला रहा ककड़ी-खीरा, बना सबसे बड़ा निर्यातक, किया इतने करोड़ का निर्याततीसरी लहर का सबसे डरावना ट्रेंड, बर्बाद कर रही फेफड़े, 40 फीसदी तक संक्रमणइलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय 28 तक बंद, UG , PG क्लास को लेकर नया सर्कुलर जारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.