समर्थन मूल्य खरीद केंद्र से उठाव नहीं होने से मंडी परिसर में लगा बोरियों का अंबार

कृषि उपज मंडी परिसर में चल रहे समर्थन मूल्य खरीद केंद्र से बोरियों का उठाव नहीं होने से परिसर में बोरियों का अंबार लग चुका है।

By: pankaj joshi

Published: 22 May 2020, 07:04 PM IST

समर्थन मूल्य खरीद केंद्र से उठाव नहीं होने से मंडी परिसर में लगा बोरियों का अंबार
केशवरायपाटन. कृषि उपज मंडी परिसर में चल रहे समर्थन मूल्य खरीद केंद्र से बोरियों का उठाव नहीं होने से परिसर में बोरियों का अंबार लग चुका है। मंडी में गुरुवार को ट्रक नहीं आने से मंडी खचाखच भर गई। भारतीय खाद्य निगम स्थानीय गोदाम भरने के बाद अब यहां से गेहूं को डूंगरपुर व प्रतापगढ़ भिजवाया रहा है। भारतीय खाद्य निगम के गुणवत्ता अधिकारी राजेंद्र कुमार प्रजापत ने बताया कि मंडी में 30 जून तक खरीद की जाएगी। अब तक 2 लाख 90 हजार कट्टे की खरीद की जा चुकी है। मंडी में प्रतिदिन 5 हजार क्विंटल से अधिक गेहूं की तुलाई करवाई जा रही है। खरीद केंद्र खरीद की क्षमता बढ़ाने की मांग लंबे समय से की जा रही है, लेकिन गुरुवार तक यहां पर तुलाई की क्षमता नहीं बढ़ पाएगी।
तुलाई नहीं होने से रोष
इंद्रगढ़. सुमेरगंजमंडी स्थित कृषि उपज मंडी में सरकारी कांटे पर किसानों के गेहूं की पर्याप्त तुलाई नहीं होने से क्षेत्र के किसानों में रोष है। भारतीय किसान संघ के तहसील अध्यक्ष कुंज बिहारी शर्मा, अनिल शर्मा ने गुरुवार को कृषि मंडी पहुंचकर किसानों के हाल जाने और उनकी समस्याएं सुनी। भारतीय किसान संघ के तहसील अध्यक्ष शर्मा ने आरोप लगाया कि एफसीआई कंपनी के कर्मचारी अपनी मनमर्जी चला रहे हैं । किसान रूपपुरा निवासी धनीराम मीणा, राकेश मीणा, बड़ा खेड़ा निवासी रामफूल मीणा आदि ने बताया कि उनके गेहूं मेंं चलना लगाकर सफाई की जा चुकी है, लेकिन फिर भी तुलाई नहीं होने से वह काफी परेशान है। उधर, एफसीआई कंपनी के किस्म निरीक्षक विनोद कुमार मीणा ने बताया कि गेहूं में मिट्टी होने के कारण खरीद नहीं की जा सकती।

pankaj joshi Photographer
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned