राजस्थान में यहां किसानों का टूटा सब्र, खबर सुनते ही दीवार फांदकर दौड़ पड़े अन्नदाता

खाद के लिए किसान दीवार फांद कर कतारों में लगने के लिए दौड़ पड़े।

By: anandi lal

Published: 18 Dec 2018, 06:53 PM IST

बूंदी। नैनवां में मंगलवार शाम खाद के ट्रक को देखते ही किसानों के सब्र का बांध टूट गया। खाद के लिए किसान दीवार फांद कर कतारों में लगने के लिए दौड़ पड़े। वहीं किसानों को एक कट्टे के लिए 12 घण्टे तक कतार में खड़े रहकर अपनी बारी का इंतजार करना पड़ा।

यूरिया के लिए मची किल्लत, लगी कतारें

खाद के लिए किसानों की लम्बी कतारें आईने में संबंधित विभाग की हकीकत दिखा रही है। इससे पहले रविवार को बारां के छीपाबड़ौद में यूरिया वितरण के दौरान किसानों पर चली पुलिस की लाठियां यूरिया की मारामारी की असली तस्वीर उजागर कर गई थी।

क्यों मची है खाद के लिए मारामारी
सूत्रों के अनुसार इस वर्ष मांग के मुताबिक यूरिया खाद की आपूर्ति नहीं हो सकी। अभी दिसम्बर माह का पूरा एक पखवाड़ा शेष है। इस साल अतिवृष्टि से खरीफ के उत्पादन पर प्रतिकूल असर पड़ा। छोटे व मझोले किसान फसल उत्पादन कम रहने से सरसों व गेहूूं की बुवाई से पहले पर्याप्त मात्रा में यूरिया व डीएपी खाद नहीं खरीद सके, जबकि सम्पन्न किसानों ने आवश्यकता से अधिक यूरिया का संग्रहण कर लिया। वहीं कई डीलरों ने अपने बड़े किसान ग्राहकों को साधने के लिए स्टॉक कर उसे धीरे-धीरे खपा दिया। इसके चलते इन दिनों बाजार में यूरिया की बड़ी किल्लत सामने आ गई।

 

 

Show More
anandi lal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned