corona virus - अस्पताल में भर्ती मरीज कोरोना पॉजिटिव, स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप

कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद लिए 44 सैंपल, अस्पताल के एक किमी के दायरे को किया कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित
स्वास्थ्य विभाग ने महिला को बुरहानपुर का नहीं माना कोरोना पॉजिटिव

By: tarunendra chauhan

Published: 23 Apr 2020, 08:47 PM IST

बुरहानपुर. शहर के निजी अस्पताल में भर्ती 50 वर्षीय महिला के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद 44 लोगों की सेंपलिंग की जा चुकी है। इसमें 35 तो ऑल इज वेल के कर्मचारी शामिल है, बाकी तीन जिला शासकीय अस्पताल के हैं, जिन्होंने सभी के सेंपल लिए, बाकी अन्य हैं। सभी को क्वारेंटाइन कर दिया गया है, लेकिन स्वास्थ्य विभाग ने इस केस को बुरहानपुर का केस नहीं माना। कलेक्टर ने निजी अस्पताल के एक किमी की परिधि को कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित कर दिया है।

निजी अस्पताल में भर्ती महिला की रिपोर्ट कोरोना पॉजीटिव आने के बाद से ही प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। देर रात को ही अफसर और स्वास्थ्य अमला अस्पताल में पहुंचा। बता दें कि महिला और उसका पति मलकापुर में ही एक व्यक्ति के जनाजे में शामिल हुए। यहीं से उन्हें कोरोना का भय सताया और वे सीधे बुरहानपुर के ऑल इज वेल में आकर भर्ती हुए। 9 अप्रैल को इनका भर्ती होना बताया। पहले महिला की सेंपल रिपोर्ट इनवेलिड बताई, फिर दूसरी बार में पॉजिटिव रिपोर्ट आई, जबकि साथ आए पति की रिपोर्ट निगेटिव आई।

रैपिड एक्शन टीम ने की कार्रवाई
स्वास्थ्य विभाग की रैपिड एक्शन टीम रात भर ट्रेसिंग कर कुल 44 सैंपल लिए एवं सभी को क्वारेंटाइन कर दिया गया। रैपिड रिस्पांस टीम में डॉ. प्रतीक नावलखे, डॉ. गौरव थावानी, महामारी निंयत्रक रविंद्र राजपूत ने रात भर ट्रेसिंग की एवं अस्प्ताल को सुरक्षा के निर्देश दिए। 35 ऑल इस वेल हॉस्पिटल, 4 मलकापुर से आए लोग, 3 स्वास्थ्यकर्मी बाकी अन्य है। अस्पताल में सुबह 5 बजे तक ट्रेसिंग की कार्यवाही चलती रही।


बुरहानपुर का नहीं मान रहे केस
जिला महामारी नियंत्रक रविंद्रसिंह राजपूत ने कहा कि कोरोना पॉजिटिव महिला मलकापुर जिला बुलढाना की रहने वाली है। इसलिए इस केस को महाराष्ट्र का ही माना है। यह बुरहानपुर का नहीं माना जाएगा। एक्टिव सर्विलेंस रिपोर्ट ने यह जानकारी महाराष्ट्र के बुलढाना को दे दी है। यहां के रहने वाले व्यक्ति को कोरोना निकलता है, तो फिर वह बुरहानपुर का माना जाएगा।

कलेक्टर द्वारा जारी आदेश
कलेक्टर राजेश कौल ने अस्पताल के क्षेत्र को एपीसेंटर घोषित करते हुए इस क्षेत्र से लगे हुए 1 किमी की परिधि में आने वाले क्षेत्र को कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित किया गया है। इस क्षेत्र के समस्त घरों का सर्वे निर्धारित प्रपत्र में अनिवर्यत: किया जाएगा इससे लगे 2 किमी की परिधि के अतिरिक्त क्षेत्र को बफर जोन घोषित किया गया।

कंटेनमेंट एरिया
कंटेनमेंट एरिया में पूर्ण रूप से आवागमन प्रतिबंधित रहेगा। कंटेनमेंट एयिा के समस्त निवासियों का होम क्वारेंटाइन में रहना उचित होगा। इसलिए कंटेनमेंट एरिया के अंदर भी आवागमन पूर्ण तरह प्रतिबंधित रहेगा। कंटेनमेंट एरिया से 1 किमी की परिधि को पेरामीटर कंट्रोल किया जाना होगा जिसके अंतर्गत आवश्यक सुविधाओं के अतिरिक्त किसी भी प्रकार से लोगों का बाहर जाना प्रतिबंधित रहेगा।

कंटेनमेंट एरिया के लिए सीएमएचओ द्वारा विशेष आरआरटी जिसके अंतर्गत एक फिजिशियन, एक एपिडेमियोलॉजिस्ट, पेथालॉजिस्ट, माइक्रोबायोलॉजिस्ट, डाक्यमेंटेशन स्टाफ रखा जाना होगा व मेडिकल ऑफिसर, एक पेरामेडिकल स्टॉफ, लेब टेक्निशियन व डॉक्यूमेंटेशन स्टॉफ का गठन किया जाएगा। उक्त क्षेत्र के एक्टिव पाइंट पर स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा सतत स्क्रीनिंग की जाएगी। समस्त वार्ड वार फ्रंटलाइन स्वास्थ्य कार्यकर्ता प्रतिटन पचार घरों का भ्रमण कर जानकारी लेते हुए निर्धारित प्रोफार्मा-2 में रिपोर्ट आईडीएसपी नोडल ऑफिसर को अनिवार्यता: उपलब्ध कराना सुनिश्चि करेंगे। कोविड -19 सस्पेक्टेड केस की मॉनिटरिंग प्रति दिन करेंगे। संक्रमण आने पर आरआरटीम को सूचना देंगे।

 

Corona virus
tarunendra chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned