scriptCar Insurance Add-on cover know how it works and Benefits | Car Insurance लेते समय शामिल करें Add-On कवर, फ्यूचर में खत्म हो जाएगी बड़े खर्च की टेंशन | Patrika News

Car Insurance लेते समय शामिल करें Add-On कवर, फ्यूचर में खत्म हो जाएगी बड़े खर्च की टेंशन

एक व्यक्ति को Comprehensive Car Policy के साथ ऐड-ऑन कवर का विकल्प जरूर चुनना चाहिए। क्योंकि इसके अपने अलग फायदे हैं, जिसमें सबसे अहम है, जीरो डेप्रिसिएशन कवर।

नई दिल्ली

Updated: May 18, 2022 10:18:39 am

Car Insurance Add-on Cover : भारत में सड़कों पर वाहन चलाने के लिए इंश्योरेंस कानूनी रूप से अनिवार्य है, लेकिन हम इस नियम का पालन करते हुए सिर्फ थर्ड-पार्टी पॉलिसी ले लेते हैं, क्योंकि इसका प्रीमियम काफी कम होता है, लेकिन मोटर बीमा पॉलिसी खरीदते समय आपको Comprehensive cover के बारे में सोचना चाहिए। क्योंकि यह पॉलिसी सभी तरह से आपके वाहन की सुरक्षा को कवर करती है, वहीं इसमें ऐड-ऑन कवर कराकर आप इंजन, वाहन का रिप्लेसमेंट, रोड़ साइड असिस्टेंस और टोइंग आदि का भी लाभ उठा सकते हैं। जाहिर है, कि वैकल्पिक ऐड-ऑन कवर उन सभी चीजों को कवर करते हैं, जो Comprehensive इंश्योरेंस पाम्लिसी से बाहर होते हैं।

car_insurance-amp.jpg
Car Insurance




क्या है Comprehensive cover?

सबसे पहले जानते हैं, क्या होता है व्यापक या Comprehensive कवर। एक व्यापक मोटर बीमा खुद के नुकसान के साथ-साथ तृतीय-पक्ष बीमा को कवर करेगा। ध्यान दें, कि थर्ड -पार्टी बीमा केवल बीमाकृत वाहन द्वारा अन्य वाहनों या संपत्ति और लोगों को हुए नुकसान को कवर करता है, और इसकी दरें भारतीय बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण (इरडाई) द्वारा तय की जाती हैं। वहीं एक Comprehensive बीमा कवर दुर्घटना के कारण कार को हुए नुकसान और बीमित वाहन के मालिक- ड्राइवर की आकस्मिक मृत्यु या विकलांगता को कवर करेगा। इसके साथ ही अगर वाहन चोरी हो जाता है, तो बीमाकर्ता वाहन के संपूर्ण बीमित घोषित मूल्य (IDV) का भुगतान करेगा। यानी Comprehensive cover में आपको हर तरह से बीमा कंपनी सुरक्षा प्रदान करती है।




car_insurance_premium-amp.jpg

 




ये भी पढ़ें : Hyundai Santro के बाद साथ कंपनी ने बंद कर दी ये बेस्ट माइलेज डीजल गाड़ियां




क्यों चुनना चाहिए ऐड-ऑन कवर

एक व्यक्ति को व्यापक कार बीमा पॉलिसी के साथ ऐड-ऑन कवर का विकल्प जरूर चुनना चाहिए। क्योंकि इसके अपने अलग फायदे हैं, जिसमें सबसे अहम है, जीरो डेप्रिसिएशन कवर। जिसमें पॉलिसीधारक को दुर्घटना के कारण प्लास्टिक आइटम, फाइबर, रबर, विंडस्क्रीन आदि जैसे पुर्जों पर भी पूरा क्लेम मिलता है। ध्यान दें, कि अधिकांश बीमाकर्ता पहले पांच वर्षों के लिए अतिरिक्त प्रीमियम के साथ zero depreciation राइडर्स प्रदान करते हैं।


ये भी पढ़ें : Tvs iQube इलेक्ट्रिक स्कूटर को मिल सकता है लॉन्ग रेंज वर्जन, कंपनी ने जारी किया टीजर






दरअसल, हर साल टूट-फूट के कारण कार की कीमत घटती जाती है। वहीं Car depreciates छह महीने 5% से 0% तक पहुंच जाता है, और अगर वाहन 10 साल से पुराना है, तो यह 50% तक होता है। हालांकि, दुर्घटना के मामले में बीमाकर्ता Car Depreciates घटाकर पार्ट के लिए भुगतान करते हैं, और पॉलिसीधारक को नए पार्ट के मूल्य और Car depreciates मूल्य के बीच के अंतर के लिए भुगतान करना पड़ता है। वहीं अगर आप जीरो Car depreciates ऐड-ऑन कवर लेते हैं, तो बीमाकर्ता क्षतिग्रस्त भागों की पूरी राशि का भुगतान करेगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Crisis: क्या ज्योतिरादित्य सिंधिया के फॉर्मूले जैसा ही एकनाथ शिंदे गुट को लाने की तैयारी में बीजेपी, समझें क्या है पार्टी का प्लान बीMaharashtra: ईडी के समन पर संजय राउत ने कसा तंज, बोले-ये मुझे रोकने की साजिश, हम बालासाहेब के शिवसैनिकPresidential Election: यशवंत सिन्हा ने भरा नामांकन, राहुल गांधी-शरद पवार समेत विपक्ष के कई बड़े नेता मौजूदPunjab Budget LIVE Updates: वित्तमंत्री हरपाल चीमा ने कहा- सभी जिलों में बनाए जाएंगे साइबर अपराध क्राइम कंट्रोल रूमपटना विश्वविद्यालय के हॉस्टलों में छापेमारी, मिला बम बनाने का सामानMumbai News Live Updates: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बागी मंत्रियों के छीने विभागMaharashtra Political Crisis: आदित्य को छोड़ शिवसेना के सारे MLA Minister हुए बागी, उद्धव ठाकरे के साथ बचे सिर्फ MLC मंत्रीयशवंत सिन्हा को समर्थन देगी TRS, क्या BJP के खिलाफ विपक्ष से हाथ मिला रहे KCR?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.