एक माह से नहीं उठा कचरा, गंदगी के बीच त्योहार मनाने की विवशता

एक दिन छोड़ कर दूसरे दिन कचरा उठाने का नियम है, लेकिन एक महीने से ज्यादा समय हो गया कचरा नहीं उठाया। कचरा पात्र भर चुके हैं और कचरा आस-पास फैल रहा है।

By: MAGAN DARMOLA

Published: 13 Jan 2021, 07:45 PM IST

वेलूर. स्वच्छ भारत मिशन का जिले के विरंजीपुरम पंचायत में असर नहीं दिखता है। ग्राम पंचायत के सेदूवालय, इंदिरा नगर, पेरुमाल नगर, कस्पा गांवों की गलियों जगह-जगह कचरे के ढेर लगे हुए है। करीब दो महीने से बाजारों से कचरा नहीं उठा। बीमारी फैलने का अंदेशा बना हुआ है। इन गांवों में करीब 350 परिवार रहते हैं। जबकि इन गांवों में पेयजल, बिजली, साफ-सफाई आदि कार्यों का जिम्मा ग्राम पंचायत का है।

गांवों में एक दिन छोड़ कर दूसरे दिन कचरा उठाने का नियम है, लेकिन एक महीने से ज्यादा समय हो गया कचरा नहीं उठाया। कचरा पात्र भर चुके हैं और कचरा आस-पास फैल रहा है। कचरे की पॉलीथिन खाकर गायें बीमार हो रही हंै। इसके अलावा गांव में कई रोड लाइट खराब पड़ी है। गलियों में अंधेरा रहने से महिलाओं को आने-जाने में भय रहता है।

गांव में जगह-जगह कचरे के ढेर लगे होने से ग्रामवासी काफी परेशान हंै। कचरे की दुर्गंध से लोग परेशान है। इससे मौसमी बीमारियां फैलने का अंदेशा भी बना हुआ है। गांव वासियों ने कई बार संबंधित अधिकारियों और ग्राम प्रधान से भी शिकायत की, लेकिन बावजूद अब तक कचरा नहीं उठाया गया है।

ग्रामीणों का कहना है

  • पंचायत के सफाईकर्मी समय पर आकर कचरे को उठा ले जाते थे, लेकिन कई दिनों से कचरा उठाने कोई नहीं आ रहा है। पोंगल से पहले यदि सफाई हो जाती तो ठीक रहता। - नवीन कुमार
  • कचरापात्र कचरे से भर चुके हं और कचरा आस-पास फैल रहा है। कई बार शिकायत करने पर भी कोई सुनवाई नहीं हुई। लगता है गंदगी के बीच पोंगल मनानी पड़ेगी। - गोविंदसामी
  • पांच साल से भी ज्यादा समय हो गया स्थानीय निकाय चुनाव नहीं हुआ। इसके कारण पंचायत क्षेत्रों में समस्या समाधान नहीं हो रहा है। पोंगल से पहले सफाई होनी चाहिए। - वेंकटेशन
  • सफाई कर्मियों की कमी के कारण गांवों में कचरा उठाने का कार्य धीमी गति से चल रहा है। पोंगल पर्व को देखते हुए जल्द ही गांवों से कचरा उठा लिया जाएगा। - श्रीधर, पंचायत लिपिक
Show More
MAGAN DARMOLA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned