साहुकारपेट की गलियां पार्किंग से सिकुड़ी

साहुकारपेट की गलियां पार्किंग से सिकुड़ी
parking problem in chennai

Ashok Rajpurohit | Updated: 21 Jun 2019, 03:47:42 PM (IST) Chennai, Chennai, Tamil Nadu, India

मनमर्जी से रोड पर ही वाहनों की पार्किंग
-पुलिस ने की समझाइश की पहल
-साहुकारपेट की गलियां पार्किंग से सिकुड़ी
-वाहन पार्किंग राहगीरों के लिए बड़ी दुविधा

चेन्नई. ऐसा लगता है साहुकारपेट में शायद कायदे-कानून ही नहीं है तभी तो लोगों का अपनी दुकान के पास ही वाहन पार्क करना इनकी रोजमर्रा की दिनचर्या में शुमार हो चुका है। तंग गलियों में वाहनों की पार्किंग ने राहगीरों के लिए मुसीबत खड़ी कर दी है। गलियों में ही अवैध रूप से दुपहिया वाहनों ंकी पार्किंग कर देने से न केवल स्कूली विद्यार्थियों बल्कि दिनभर आने वाले ग्राहकों एवं आमजन को आवागमन में परेशानी उठानी पड़ रही है। मिन्ट स्ट्रीट एवं इससे लगती गलियों में लगता है पार्किंग स्थल विकसित हो चुका है। इनमें पार्क किए गए अधिकांश वाहन दुकानदारों के ही है। साहुकारपेट इलाके में पार्किंग के लिए बहुत कम जगह है। कुछ स्थानों पर ही पार्किंग स्थल विकसित किए गए हैं। साहुकारपेट इलाके में सी-1 पुलिस स्टेशन के पास ही पार्किंग स्थल हैं जहां मौजूदा समय में चौपहिया वाहन पार्क किए जा रहे हैं। इसके साथ ही ईवनिंग बाजार के सामने रोड पर भी एकतरफ यातायात पुलिस ने वाहनों की पार्किंग के लिए स्थल चिन्हित किया है। एनएससी बोस रोड पर भी एक तरफ कई जगह दुपहिया वाहनों के लिए पार्किंग स्थल चिन्हित किए गए हैं।
मुख्य समस्या साहुकारपेट के आंतरिक बाजार की है। मिन्ट स्ट्रीट एवं इसके आसपास लगती गलियों में पार्किंग की कोई सुविधा नहीं है। ऐसे में वाहन चालक चाहे जहां अपना वाहन पार्क कर चलते बनते हैं। हालांकि यातायात पुलिस का वाहन कई बार अवैध पार्क करने वालों पर शिकंजा भी कसता है और उनका वाहन जब्त भी करता है। बावजूद इसके कई गलियों में वाहनों की अवैध पार्किंग बंद नहीं हुई है। नारायण मुद्दली स्ट्रीट, आदियप्पा नायकन स्ट्रीट, गोविन्दप्पा नायकन स्ट्रीट, काशी चेट्टी स्ट्रीट, पेरुमाल मुद्दली स्ट्रीट समेत कई गलियां पूरी तरह वाहनों से पटी पड़ी रहती हैं। इससे आवागमन बाधित होता है। कई जगह बकायदा नो पार्किंग के बोर्ड भी चस्पा किए हुए हैं लेकिन वाहन चालकों को इन बोर्डों की भी परवाह नहीं है।
समूचे मिन्ट स्ट्रीट समेत साहुकारपेट की प्रमुख गलियों में सीसीटीवी भी लग चुके हैं। इससे अवैध पार्किग करने वालों पर निगरानी भी रखी जा सकती है। अवैध पार्किंग के लिए ऑटो वाले भी कम जिम्मेदार नहीं हैं। एलिफेंट गेट स्ट्रीट से मिन्ट स्ट्रीट में दाखिल होते समय ऑटो चालक अपना वाहन चन्द्रप्रभु जैन नया मंदिर के सामने ही खड़े कर देते हैं। इससे भी यातायात में बाधा उत्पन्न होती है। चेन्नई महानगर निगम ने शहर में पार्किंग प्रबंधन सिस्टम लागू करने की योजना पर काम करने पर विचार किया था। इसके तहत चेन्नई स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत सड़क किनारे पार्किंग की योजना बनाई थी। जहां वाहन चालक रोड के पास तय शुल्क का भुगतान कर अपने वाहन पार्क कर सकते थे, लेकिन यह योजना लागू होने से पहले ही दम तोड़ गई।
..........................................
पार्किंग स्थल पर ही पार्क करें वाहन
व्यापारियों से समझाइश की गई है कि वे अपना वाहन निर्धारित स्थल पर ही पार्क करें। कई जगह पार्किंग के लिए स्थल निर्धारित किए गए हैं। उन्हीं स्थलों पर अपने वाहन पार्क के लिए रखें। जहां पार्किंग के लिए स्थल चिन्हित नहीं हैं, वहां अपने वाहन पार्क न किए जाएं। इस कार्य में व्यापारी एवं ग्राहक पुलिस का भी सहयोग करें ताकि व्यवस्था सुचारू बनाए रखने में आसानी रहें। आने वाले दिनों में पार्किंग स्थल के लिए और अधिक जगह चिन्हित करने के प्रयास किए जा रहे हैं ताकि व्यापारियों के साथ ही ग्राहकों को भी सुविधा मिल सकें।
-लक्ष्मणन, सहायक पुलिस आयुक्त, फ्लॉवर बाजार।
............................................
छोटी गलियां भी नहीं रहती खाली
कई बार वाहन चालक उन छोटी गलियों में भी अपने वाहन पार्क कर देते हैं, ऐसेे में चलने का रास्ता भी नहीं बच पाता। मिन्ट स्ट्रीट से लगती कई छोटी गलियां हैं जहां स्कूल होने से बच्चों का आना-जाना लगा रहता है। इन छोटी गलियों में भी व्यापारियों के दुपहिया वाहन पार्क कर देने से स्कूली बच्चों को सबसे अधिक दिक्कत होती है। व्यापारी नियमों का पालन करते हुए अपने वाहन यदि निर्धारित स्थलों पर ही रखेंगे तो इससे आमजन को भी सुविधा मिल सकेगी।
-वेंकट कुमार, निरीक्षक (कानून एवं व्यवस्था), एलिफेंट गेट पुलिस स्टेशन
.............................................
70 फीसदी हिस्से में वाहन पार्क
गोविन्दपा नायकन स्ट्रीट का 70 फीसदी हिस्सा तो वाहनों से ही अटा पड़ा रहता है। सड़क के एक किनारे वाहन पार्क कर दिए जाते हैं जबकि यहां नो पार्किंग एरिया है। इतना ही नहीं यहां नो एन्ट्री में भी अक्सर वाहनों की आवाजाही देखी जा सकती है। कई बार तो रास्ता अवरुद्ध हो जाता है। घंटों तक आवाजाही प्रभावित होती है। काशी चेट्टी में जो ठेले गाडिय़ां पहले खड़ी रहती थी वे भी अब गोविन्दपा नायकन स्ट्रीट में पार्क की जाने लगी है।
-सुरेन्द्र व्यास, अध्यक्ष, दि मद्रास इलेक्ट्रिक ट्रेड्स एसोसिएशन।

------------------------

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned