तिरुमला में भगवान वेंकटेश्वर के दर्शन बंद होने से यात्रियों में निराशा

बस से उतर कर दर्शन करने जाते समय उसे अचानक चक्कर आया और वह सड़क पर गिर गया। यह देखकर टीटीडी अधिकारी उसे तिरुमला के अश्विनी हॉस्पिटल ले गए। वहां जांच करने पर दामोदर में कोरोना वायरस के लक्षण पाए गए। इसके बाद अधिकारियों ने उसे तुरंत विशेष एम्बुलेंस से तिरुपति स्थित सरकारी अस्पताल भेजा जहां उसे आइसोलेशन वार्ड में निगरानी के लिए रखा गया है।

By: Dhannalal Sharma

Published: 20 Mar 2020, 04:09 PM IST

तिरुपति. यहां तिरुमला स्थित भगवान वेंकटेश्वर स्वामी देवस्थानम (टीटीडी) मंदिर में गुरुवार को दर्शन बंद कर दिए गए। मिली जानकारी अनुसार महाराष्ट्र निवासी दामोदर नामक भक्त तीर्थ दर्शन करने के लिए निकला था। दामोदर ने पहले वाराणसी में दर्शन किये। वहां से बाद में तिरुमला में भगवान वेंकटेश्वर स्वामी के दर्शन करने के लिए निकला। वह रेल मार्ग से तिरुपति आया और आरटीसी बस से तिरुमला पहुंचा। बस से उतर कर दर्शन करने जाते समय उसे अचानक चक्कर आया और वह सड़क पर गिर गया। यह देखकर टीटीडी अधिकारी उसे तिरुमला के अश्विनी हॉस्पिटल ले गए। वहां जांच करने पर दामोदर में कोरोना वायरस के लक्षण पाए गए। इसके बाद अधिकारियों ने उसे तुरंत विशेष एम्बुलेंस से तिरुपति स्थित सरकारी अस्पताल भेजा जहां उसे आइसोलेशन वार्ड में निगरानी के लिए रखा गया है। डॉक्टरों ने दामोदर का इलाज शुरू कर दिया है और रक्त के नमूने जांच के भेजे गए हैं।
इस के बाद टीटीडी ने तिरुपति से पैदल तिरुमला पहुंचने वाले अलपिरि मार्ग को बंद कर दिया है और आरटीसी को कोई भी बस ऊपर तिरुमला के लिए नहीं चलाने का निर्देश जारी किया। तिरुमला जाने वाली सारी सड़कंे बंद करदी गयी। हालांकि टीटीडी अधिकारियों ने अभी तक यह पुष्टि नहीं की है कि दामोदर कोरोना वायरस संक्रमित है। उस में कोरोना के लक्षण पाए जाने की वजह से यह एतिहाती कदम उठाया गया है। दर्शन और ऊपर जाने वाली बसें बंद होने से तिरुमला पर मौजूद भक्तों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। टीटीडी द्वारा ऊपर तिरुमला में रुके भक्तों को नीचे तिरुपति भेजने के लिए बसों का इस्तेमाल कर पूरे तिरुमला को खाली कराया जा रहा है।

Dhannalal Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned