क्राइम ब्रांच या कोई और, पुलिस के पहुंचते ही आरती के घर सामान छोड़ भागी टीम, CCTV के तारे भी काटे

क्राइम ब्रांच या कोई और, पुलिस के पहुंचते ही आरती के घर सामान छोड़ भागी टीम, CCTV के तारे भी काटे

Muneshwar Kumar | Updated: 23 Sep 2019, 04:20:45 PM (IST) Chhatarpur, Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

छापेमारी के लिए कौन लोग जा रहे आरती के घर, क्यों नहीं बता रहे अपनी पहचान

छतरपुर/ हनीट्रैप मामले में क्राइम ब्रांच की टीम जांच कर रही है। कहा जा रहा है कि छतरपुर में भी आरती दयाल के घर से सबूत इकट्ठा करने के लिए क्राइम ब्रांच की टीम पहुंची है। आरती की मां खुद को घर में कैद रखी है। वो बता रही है कि पिछले चार-पांच दिनों से चार-पांच लोग हमारे घर आते हैं और दरवाजा खुलवाने की कोशिश करते हैं। पूछने पर कुछ बताते नहीं है।

सोमवार को फिर से पांच लोग पहुंचे थे। वह ताला तोड़ने का सामान लेकर आए थे। ताला तोड़कर घर में प्रवेश भी कर गए। उसके बाद वो सीसीटीवी कैमरे के तार काट दिए। कुछ कमरों की तलाश ली। घर में मौजूद एक लड़के ने कहा कि उनलोगों ने मेरी पिटाई की। यह लड़का आरती दयाल की मौसी का बेटा है। हालांकि वे लोग बता नहीं रहे थे कि वो कौन हैं।

आरती की मां ने दी पुलिस को खबर
आरती की मां खुद को एक कमरे में कैद रखी है। उसी कमरे वो लोग घुसने की कोशिश कर रहे थे, बताया जा रहा है कि आरती के कुछ सीडी और हार्डडिस्क उस कमरे में हो सकते हैं। लेकिन घर में घुसे लोगों ने जैसे ही जबरदस्ती शुरू की। वैसे ही आरती की मां ने पुलिस को खबर कर दी। पुलिस की टीम के पहुंचने से पहले ही घर से वे लोग दरवाजा तोड़ने के लिए लाए सामान को छोड़कर भाग गए।

81.png

पुलिस में नहीं दर्ज करवाई कोई शिकायत
वहीं, आरती की मां बैजंती से जब पूछा गया कि आप थाने जाकर इनलोगों के खिलाफ शिकायत क्यों नहीं करवा रही हैं। तब उन्होंने कहा कि पति हमारे नहीं हैं, वो आएंगे तो मैं थाने जाऊंगी। लेकिन वो खुद अपनी बेटी को निर्दोष बता रही हैं। वहीं, मौके पर पहुंचे पुलिसकर्मी का कहना है कि इन्होंने सूचना दी थी, उसके आधार पर पहुंचा हूं। वो कौन लोग थे मुझे जानकारी नहीं। थाने में मुंशी से बात किया तो उन्होंने कहा कि जो सामान हैं, उसे लेकर आ जाइए।

04_1.png

क्राइम ब्रांच की टीम भागी क्यों
ऐसे सवाल यह उठ रहा है कि जब क्राइम ब्रांच की टीम उसके घर पर कई दिनों से तलाशी लेने जा रही है तो फिर पुलिस के पहुंचने से पहले भाग क्यों गई। ऐसे में यह संशय है कि क्राइम ब्रांच के नाम पर कोई और तो नहीं सबूत नष्ट करने का प्रयास कर रहा है। लेकिन स्थानीय पुलिस की टीम इसे असली बता रही है। जबकि इंदौर के अधिकारी किसी भी टीम को भेजने की बात से इनकार कर रहे हैं।

82.png

गौरतलब है कि हनीट्रैप मामले में आरती को अस्पताल से छुट्टी मिलते ही क्राइम ब्रांच की टीम उसे लेकर छतरपुर पहुंचेगी। आज छतरपुर रवाना होने से पहले ही उसकी तबियत खराब हो गई। जिसके बाद उसे एमवाय अस्पताल में भर्ती करवाया गया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned