युवक की धारदार हथियार से हत्या, परिजनों ने गांव के की दबंग पर लगाया हत्या का आरोप, मामला संदिग्ध

युवक की धारदार हथियार से हत्या, परिजनों ने गांव के की दबंग पर लगाया हत्या का आरोप, मामला संदिग्ध

rafi ahmad Siddqui | Publish: Sep, 06 2018 12:10:09 PM (IST) Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

- कई बार दी गई थी जान से मारने की धमकी

छतरपुर। बमीठा थाना क्षेत्र अंतर्गत सतना गांव के पास बीच सड़क पर आरोपियों द्वारा अपने घर की ओर जा रहे युवक की धारदार हथियार से हमला कर दिया। जिससे युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। वहीं आगे चल रहे ट्रैक्टर चालक पीछे मुडकर देखा तो उसे युवक नहीं दिखा तब वह ट्रैक्टर को लेकर मड़तला तक पहुंच लेकिन रास्तें में युवक नहीं मिला। तब फिर से चालक अपने घर की ओर चल पड़ा। तभी रास्ते में सतना गांव के पास गंभीर हालत में मिला। इसकी जानकारी १०८ एंबुलेंस को दी गई और एंबुलेंस द्वारा घायल को इलाज के लिए स्वास्थ्य केंद्र बमीठा लाया गया। जहां पर इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। दसकी सूचना पुलिस और परिजनों को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।
जानकारी के अनुसार बमीठा थाना क्षेत्र अंतर्गत बरेठी गांव निवासी विश्वनाथ सिंह (3६) पिता पर्वत सिंह बुधवार को अपने ट्रैक्टर में नए टायर डलवाने के लिए छतरपुर गया था। इसके लिए ट्रैक्टर चालक रामू यादव ट्रैक्टर को लेकर गया था और विश्वनाथ अपने बाइक पर गया था। छतरपुर से दो टायर लेकर शाम को मड़तला गांव के स्टैंड पर ट्रैक्टर के आयर बदली कराए और विश्वनाथ ने चालक रामू को लेकर घर भेज दिया और पीछे पीछे बाइक से खुद चल पडा। इसके बाद सतना गांव तक पहुंचने पर ट्रैक्टर चालक रामृ ने देखा कि विश्वनाथ पीछे नहीं था। तब रामू ट्रैक्टर को लेकर मड़तला तक पहुंच लेकिन रास्तें में विश्वनाथ नहीं मिला। इसके बाद फिर रामू अपने घर की ओर चल पड़ा। तभी रास्ते में सतना गांव के पास विश्वनाथ गंभीर हालत में मिला। इसकी जानकारी १०८ एंबुलेंस को दी गई और एंबुलेंस द्वारा घायल को इलाज के लिए स्वास्थ्य केंद्र बमीठा लाया गया। जहां पर इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। इसकी सूचना उसने परिजनों और पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची ने शव का पंचनामा कर शव का पोस्टमार्टम के लिए छतरपुर के लिए भेज दिया गया। बताया जा रहा है कि आरोपियों ने युवक पर धारदार हथियार से कई शरीर में कई वार किए गए हैं।

संदेह के घेरे में है ट्रैक्टर चालक
घटना में घायल युवक को ट्रैक्टर चालक रामू द्वारा एंबुलेंस के माध्यम से स्वास्थ्य केंद्र लाया गया जहां पर उसका इलाज किया गया। लेकिन इलाज के दौरान रात करीब २ बजे विश्वनाथ की मौत हो गई। लेकिन रात साड़े ११ बजे घटना की जानकारी होने के बाद भी चालक द्वारा घटना की जानकारी परिजनों को दी। पुलिस ने बताया कि विश्वनाथ की मौत हो जाने के बाद परिजनों को सूचना दी गई। अगर सही समय पर परिजनों को सूचना मिल जाती तो शायद विश्वनाथ से कुछ जानकारी मिल सकती।


गुप्तांगों में है चोटों के निशान
मृतक विश्वनाथ के गुप्तांगों में और कमर में चोटों के कई निशान हे जिससे जाहिर होता है कि आरोपी द्वारा किसी धारदार हथियार से मृतक के आगे और पीछे की गुप्तांगों में कई बार प्रहार किया है।


परिजन बोले की गई है हत्या
मृत विश्वनाथ सिंह के परिजन द्वारा गांव के ही दबंग पर हत्या करने का संदेह जाताया जा रहा है। विश्वनाथ सिंह के भाई लक्ष्मन सिंह ने बताया कि गांव के ही कुछ लोगों से उसकी बुराई चल रही थी। भाई ने कहा कि इस घटना को उन्हीं लोगों द्वारा अंजाम देने की आंशका है।


मारपीट के मामले में था गवाह
मृतक के भाई लक्ष्मन ने बताया कि उसका भाई विश्वनाथ गांव के ही एक प्रजापति परिवार के साथ करीब एक वर्ष पहले हुई मारपीट के मामले में गवाह था। वह मामला कोर्ट में चल रहा है। इसी को लेकर बुधवार को ही कोर्ट द्वारा २६ को पेशी का नोटिस आया था।

दी जा रही थी जान से मारने की धमकी
विश्वनाथ मारपीट के मामले में प्रमुख गवाह था। जिसको लेकर गांव के ही कुछ दबंगों द्वारा उसे कई बार घर आकर और रास्ते में रोककर गवाही नहीं देने का दवाव बनाया जा रहा था। लेकिन जब विश्वनाथ ने दबंगों की बात पर हामी नहीं भरी तो फिर विश्वनाथ को लोगों द्वारा जान से मारने की धमकियां भी दी गई। लेकिन फिर भी विश्वनाथ ने गवाह से अपना नाम वापस नहीं लिया।

दो पुत्र और एक पुत्री के सिर से उठा पिता का हाथ
मृतक विश्वनाथ गांव में रहकर खेती किसानी करना था। उसके दो पुत्र और एक पुत्री हैै। विश्वनाथ की मौत हो जाने से तीनों बच्चों के सिर से उनके पिता का हाथ उठ गया है। घटना की जानकारी मिलते ही तीनों बच्चों और उसकी पत्नी व परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है।

देर शाम तक नहीं किया गया मामला दर्ज
बुधवार की रात करीब १० से ११ बजे के बीच घटना को अंजाम दिया गया था। घटना की सूचना पुलिस को रात करीब साड़े ११ बजे दी गई थी। लेकिन बुधवार को देर शाम तक मामला दर्ज नहीं किया गया।

घटना के दौरान नशे में था मृतक
खजुराहो एसडीओपी एमपी मरावी ने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंच कर मर्ग कायम कर शव का पंचनामा कराया गया। उन्होंनेक बताया कि मृतक विश्वनाथ घटना के दौरान शराब के नशे में था। उसकी हत्या हुई है या फिर और कोई दुर्घटना का शिकार हुआ है इसकी जांच की जा रही है। जांच होने और पीएम रिपोर्ट आने के बाद घटना साफ हो सकेगी।

इनका कहना है
घटना में अभी शव का पंचनामा कराया गया है। मृतक के परिजनों ने आवेदन दिया है। अभी मामला दर्ज नहीं किया गया है जांच के बाद मामला दर्ज किया जाएगा।
दिलीप पांडे थाना प्रभारी बमीठा

Ad Block is Banned