College news: गल्र्स कॉलेज का छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय टीम ने किया निरीक्षण

कॉलेज को पीजीडीसीए की संबद्धता दी जाए या नहीं।

By: ashish mishra

Published: 26 Sep 2021, 01:53 PM IST

छिंदवाड़ा. राजमाता सिंधिया गल्र्स कॉलेज में गुरुवार को छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय की टीम पीजीडीसीए पाठ्यक्रम संचालन की संबद्धता देने के संबंध में निरीक्षण करने पहुंची। टीम ने यहां कोर्स को लेकर जरूरी सुविधाओं को देखा। विश्वविद्यालय कुलसचिव यूएस सालसेकर ने बताया कि टीम एक दो दिन में रिपोर्ट विश्वविद्यालय को सौंपेगी। रिपोर्ट के आधार पर ही निर्णय लिया जाएगा कि कॉलेज को पीजीडीसीए की संबद्धता दी जाए या नहीं। बताया जाता है कि विश्वविद्यालय की टीम गल्र्स कॉलेज में पीजीडीसीए कोर्स संचालन को लेकर जरूरी सभी सुविधाओं से संतुष्ट दिखी है। ऐसे में जल्द ही संबद्धता मिलने की उम्मीद है। गल्र्स कॉलेज प्राचार्य डॉ. कामना वर्मा ने बताया कि छात्राओं की मांग को ध्यान में रखते हुए पीजीडीसीए की कक्षाएं प्रारंभ करने हेतु शासन से अनुमति मांगी गई थी। इसी तारतम्य में कम्प्यूटर विभाग प्रभारी डॉ. महिम चतुर्वेदी एवं आत्मनिर्भर इन्टीगेट कार्यक्रम प्रभारी डॉ. सीताराम शर्मा के कुशल नेतृत्व में शासकीय प्रक्रिया पूर्ण की गई। इसके तहत विश्वविद्यालय की टीम ने संबद्धता हेतु कम्प्यूटर विभाग का निरीक्षण किया। विभाग के निरीक्षण कार्य में तकनीशियन अनूप श्रीवास्तव, कम्प्यूटर प्रशिक्षक तपस्या पाण्डे, रूपशिखा भार्गव, मुकेश दौडक़े, रवि पवार, ललित माहोरे, मनोज ग्यास का विशेष सहयोग प्राप्त हुआ।

छात्राओं को मिलेगा फायदा
गल्र्स कॉलेज में ही सेल्फ फाइनेंस कोर्स पीजीडीसीए शुरु हो जाने से छात्राओं को काफी फायदा मिलेगा। अब तक उन्हें कॉलेज से बाहर निजी संस्थाओं में कोर्स करने के लिए रूख करना पड़ता था।

ashish mishra Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned