हजार का पंजीयन, गेहूं बेचने पहुंचे सिर्फ दो किसान

हजार का पंजीयन, गेहूं बेचने पहुंचे सिर्फ दो किसान
Only two farmers who came to sell wheat

Prabha Shankar Giri | Publish: May, 09 2019 09:00:00 AM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

इ-उपार्जन: कई खरीदी केंद्र जिनमें दहाई तक भी नहीं पहुंचा आंकड़ा

छिंदवाड़ा. सरकार की समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी इस बार जिले में ढीली पड़ती दिखाई दे रही है। बमुश्किल दो लाख क्विंटल की खरीदी पिछले 42 दिनों में हुई है। सहकारी समितियों के कुछ केंद्रों में तो हालात ये हैं कर्मचारी हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं। डेढ़ महीने में इन केंद्रों पर एक या दो किसान ही अनाज लेकर पहुंचे हैं। जिले में एक दर्जन से ज्यादा खरीदी केंद्र ऐसे हैं जहां दस किसान भी गेहूं बेचने नहीं पहुंचे। छुई के बने खरीदी केंद्र में इस बार 1597 किसानों ने पंजीयन कराया था, लेकिन अब तक सिर्फ एक किसान 85 क्विंटल गेहूं लेकर केंद्र पहुंचा है। समसवाड़ा में भी 1086 किसानों का पंजीयन हुआ है, लेकिन यहां सिर्फ 147 क्विंटल गेहूं आया है वह भी सिर्फ दो किसान लेकर आए थे। पांच केंद्र हिवरखेड़ी, छुई, चौरई क्रमांक दो, मेघदौन और गोपालपुर में अब तक सिर्फ एक-एक किसान पहुंचा है। किसानों को एसएमएस भी भेजे हा रहे हैं, लेकिन किसान आने को तैयार नहीं हैं।
इन केंद्रों में हो रहा इंतजार
चन्हियाकलां, मुुंगरली, समसवाड़ा, मैनीखापा में दो-दो किसान पहुंचे हैं। नांदनवाड़ी, पालाचौरई, रामगढ़ी, माचागोरा, चांद, पाजंरा में चार-चार किसान, पाढुर्ना के दोनों केंद्रों, खुनाझिर और चन्हियाकलां के एक केंद्र में पांच-पांच, मोहखेड़ और देवरी केंद्र क्रमांक-दो में छह-छह, झिलमिली में सात और तामिया में नौ किसान ही अब तक पहुंचे हंै। केंद्र संचालकों का कहना है कि किसानों को एसएमएस भेजे जा रहे हैं। अब यह किसानों के मन की बात है कि वे समिति में बेचे, मंडी में या फिर व्यापारी को।
इसलिए नहीं पहुंच रहे किसान
बता दें कि इस साल गेहूं का उत्पादन कम रकबे में हुआ है। इसलिए मंडी में खुली नीलामी में भाव समर्थन मूल्य से ज्यादा मिल रहा है। सोमवार को छिदंवाड़ा कृषि उपज मंडी में 40 हजार क्विंटल से ज्यादा पहुंचा गेहूं इसका उदाहरण है। मंडी में भाव 2000 रुपए क्विंटल से ज्यादा है ऐसे में तय समर्थन मूल्य 1840 रुपए में किसान गेहूं नहीं बेच रहे हंै। अधिकारी भी इस बात को समझ रहे हैं। जिले में 50 हजार से ज्यादा किसानों ने पंजीयन कराया है, लेकिन अब तक 3490 किसान ही केंद्रों में गेहूं लेकर पहुंचे हैं। पिछले साल अब तक छह लाख 16 हजार क्विंटल से ज्यादा गेहूं सरकारी गोदामों आ गया था। इस साल दो लाख चार हजार 478 क्विंटल गेहूं आया है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned