दाल में उछाल, बारिश में करेगी और परेशान

दाल में उछाल, बारिश में करेगी और परेशान
Price increase in pulses

Prabha Shankar Giri | Updated: 12 May 2019, 12:07:05 PM (IST) Chhindwara, Chhindwara, Madhya Pradesh, India

कम उत्पादन से अरहर और मूंग दाल में उछाल

छिंदवाड़ा. भोजन में लगभग रोज उपयोग में आने वाली अरहर और मूूंग की दाल इस समय महंगी हो रही है। पिछले एक महीने के दौरान दोनों दालों के भाव चिल्लर बाजार में 10 से 15 रुपए तक बढ़ गए हैं। अरहर की जो दाल 60 से 75 रुपए तक बाजार में मिल रही थी वह अब 90 रुपए प्रति किलो मिल रही है। अरहर की दाल में अचानक उछाल आया है। बाजार के जानकारों का मानें तो पिछले साल पूरे देश में अरहर का उत्पादन कम हुआ है। अब जब उत्पादन को साल भर हो गए हैं और अप्रैल-मई के महीने में जब इसका उठाव अचानक बढ़ जाता है ऐसे में इसकी आवक कम हो रही है। यही कारण है कि भाव बढ़ रहे हैं। बाजार सूत्र बड़े स्तर पर सटोरियों के इसको लेकर ज्यादा सक्रिय होना भी एक वजह बता रहे हैं। छिंदवाड़ा में अरहर की दाल 85 से 90 और मूूंग की धुली दाल 80 से 85 रुपए किलो बिक रही है। बारिश के दौरान दाल के भाव और चढऩे के आसार हैं।

कर्नाटक-महाराष्ट्र में उत्पादन कम
अरहर का उत्पादन कर्नाटक-महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा होता है। पिछले साल खरीफ में वहां इसका उत्पादन कम हुआ है। दाल के थोक विक्रेताओं ने बताया कि अरहर की दाल का आयात बाहर से भी हुआ है, लेकिन लोकल दाल की डिमांड बाजार में ज्यादा रहती है। लोग यहीं की दाल को खाना पसंद करते हैं। प्रदेश में पिपरिया की दाल की मांग सालभर तक बनी रहती है। इस बार यहां की दाल के भाव भी चढ़े हुए हैं।

बाकी अनाजों में ठहराव... अरहर और मूंग को छोड़ दें तो बाकी अनाज के दामों में ठहराव की स्थिति बनी हुई है। हालांकि इस समय शादी विवाह के कारण उठाव है, लेकिन तेल के भाव जस के तस बने हुए हैं। चावल डिमांड के बावजूद पुराने दामों पर टिका हुआ है। उड़द, चना के भाव भी ज्यादा नहीं बढ़े हैं।

महंगा हो रहा ईंधन भी एक कारण
महंगा हो रहा ईंधन भी एक कारण बन रहा है। पेट्रोल डीजल के दाम मार्च से अब तक एक रुपया लीटर बढ़ चुके हैं। ऐसे में ट्रांससपोर्टेशन भी महंगा हुआ है। भाड़ा बढऩे का असर भी दामों पर पड़ रहा है। लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद और उथल पुथल होने की सम्भावना बाजार में बैठे व्यापारी जता रहे हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned