scriptThe accused of murder of ASI was released on bail a day before. | Crime: एक दिन पहले ही जमानत पर छूटा था आरोपी एएसआई की हत्या का आरोपी | Patrika News

Crime: एक दिन पहले ही जमानत पर छूटा था आरोपी एएसआई की हत्या का आरोपी

locationछिंदवाड़ाPublished: Jan 20, 2024 11:15:29 am

Submitted by:

prabha shankar

- एएसआई को वाहन से रौंदने का मामला
- किसी वारदात को अंजाम देने की फिराक में था
- गांजा तस्करी, वाहन चोरी व तेज वाहन चलाने के दर्ज हैं प्रकरण
- पुलिस ने भेजा जेल

The accused of murder
The accused of murder

छिंदवाड़ा। जिले के माहुलझिर थाने के सामने बैरिकेडिंग लगाकर खड़े एएसआई नरेश शर्मा को वाहन से रौंदने वाला आरोपी लोकजीत सिंह कौरव (46) निवासी बटेसर करेली जिला नरसिंहपुर चोरी के मामले में 17 जनवरी को ही जमानत पर छूटा था। इसके बाद से ही वह जिले में किसी वारदात को अंजाम देने की फिराक में था। आरोपी पर कई आपराधिक प्रकरण दर्ज हैं।
इनमें से दो प्रकरण नरसिंहपुर में गांजा तस्करी व वाहन को तेज गति से चलाना शामिल है। वहीं जिले के अमरवाड़ा थाने में ट्रैक्टर चोरी का एक प्रकरण दर्ज है। एएसआई पर तेज रफ्तार वाहन चढ़ाने के बाद आरोपी को तत्काल मौके से पकड़ लिया गया था।

मजदूर लेने आया था चांद
आरोपी ने माहुलझिर पुलिस को पूछताछ में बताया कि गृह ग्राम बटेसर में उसकी कृषि भूमि है। कृषि कार्य के लिए वह मजदूर लेने छिंदवाड़ा जिले के चांद क्षेत्र गया था। वहां से लौटने के दौरान वारदात हुई। हालांकि आरोपी की ये कहानी पुलिस को हजम नहीं हो रही है, क्योंकि एक दिन पहले ही आरोपी चोरी के एक प्रकरण में अमरवाड़ा जेल से जमानत पर छूटा था। इधर, एसडीओपी जुन्नारदेव केके अवस्थी ने बताया कि आरोपी शातिर अपराधी है और किसी वारदात को अंजाम देने की फिराक में था। आरोपी को पुलिस ने शुक्रवार को न्यायालय में पेश कर जेल पहुंचा दिया है।

पंपकर्मियों ने किया था पीछा
आरोपी वाहन चालक ने न्यूटन स्थित चौहान फिलिंग पेट्रोल पंप कर्मियों से पेट्रोल डलवाया तथा धमकी देकर वहां से भागने लगा। इस दौरान उसे रोकने का प्रयास व गाड़ी का नंबर देखने के लिए पेट्रोल पंप के दो कर्मियों मोहित यदुवंशी तथा आकाश यदुवंशी ने कुछ दूर बाइक से पीछा किया था। आरोपी ने बाइक को टक्कर मार दी थी, जिससे आकाश व मोहित भी घायल हुए थे।

यह था मामला
न्यूटन के पेट्रोल पंप पर गुरुवार की सुबह 8:30 बजे वाहन में 3500 रुपए का डीजल भरवाने के बाद पैसे दिए बिना आरोपी मौके से भागा था। डायल 100 की सूचना पर माहुलझिर के सामने एएसआई नरेश (60) पिता मूलचंद्र शर्मा ने वाहन को रोकने के लिए बैरिकेडिंग लगाई थी। वाहन को रोकने एएसआई ने हाथ दिया, लेकिन आरोपी ने एएसआई पर वाहन चढ़ा दिया। इससे एएसआई को सिर, कंधे, पैरव अन्य स्थान पर गंभीर चोट आई थी। एएसआई नरेश शर्मा ने उपचार के दौरान जिला अस्पताल ममें दम तोड़ दिया था।

ट्रेंडिंग वीडियो