आध्यात्मिक रंग में रंगे मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

शिवराज सिंह ने कई धार्मिक आयोजनों व कार्यक्रमों में जजमान के रूप में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।

By: shatrughan gupta

Published: 10 Sep 2017, 07:33 PM IST

चित्रकूट. चित्रकूट में आयोजित भारतीय जनता पार्टी मध्य प्रदेश की किसान मोर्चा की बैठक में शिरकत करने पहुंचे बीजेपी के कद्दावर नेता और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पूरी तरह से आध्यात्मिक रंग में रंगे नजर आए। अपने 24 घंटे के प्रवास के दौरान शिवराज सिंह ने कई धार्मिक आयोजनों व कार्यक्रमों में जजमान के रूप में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। साथ में मुख्यमंत्री की पत्नी साधना सिंह भी उनके साथ हर धार्मिक कार्यक्रम में मौजूद थीं।

शिवराज सिंह चौहान की सरलता धार्मिकता के सभी कायल हो गए और ऐसा लग ही नहीं रहा था कि ये देश की हृदयस्थली मध्य प्रदेश के सबसे वीवीआईपी व्यक्ति हैं। मुख्यमंत्री हैं। सीएम के दर्शन पूजन के दौरान आम यात्रियों और दर्शनार्थियों को कोई दिक्कत न हो इसके लिए उन्होंने खुद अपने मातहतों को कड़े निर्देश दे रखे थे। पूजा पाठ के दौरान कई दर्शनार्थियों ने विकास के मुद्दे पर भी उनसे अपनी शिकायत दर्ज कराई, जिसे सीएम ने सहर्ष स्वीकार्य करते हुए उन्हें जल्द दूर करने का आश्वासन दिया। मप्र के सीएम शिवराज सिंह चौहान शनिवार शाम ही चित्रकूट पहुंच गए थे और रामघाट पर होने वाली नित्य गंगा आरती से लेकर भगवान कामतानाथ पर्वत की परिक्रमा लगाई। इस दौरान मध्य प्रदेश व बुन्देलखण्ड के कई बीजेपी नेता, विधायक, सांसद भी उनके साथ मौजूद रहे। साधू-संतों को सीएम शिवराज ने धार्मिक क्षेत्र के विकास का आश्वासन देते हुए उनसे आशीर्वाद प्राप्त किया।

मप्र किसान मोर्चा की कार्यकारिणी बैठक में शालिम होने आए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपनी धार्मिकता का परिचय देते हुए भगवान राम की तपोस्थली चित्रकूट में कई धार्मिक आयोजनों में भाग लिया। पार्टी की किसान मोर्चा की दो दिवसीय प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के अंतिम दिन शिरकत करने आए शिवराज ने चित्रकूट (मध्य प्रदेश व उत्तर प्रदेश अंतर्गत) के विकास की बात दोहराते हुए उपस्थित साधू-संतों को हर समस्या के समाधान का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि दोनों राज्यों में बीजेपी की सरकार है, ऐसे में विकास का पहिया तेजी से घूमेगा। रविवार को सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भगवान कामतानाथ पर्वत परिक्रमा मार्ग पर स्थित प्राचीन श्री बरहा हनुमान मंदिर में अपनी पत्नी साधना सिंह के साथ विधिवत पूजा अर्चना कर बजरंगबली की आरती उतारी।

सादगी व सरलता से की पूजा
सीएम शिवराज अपनी सरलता और सादगी के लिए जाने जाते हैं और उनका यह व्यक्तित्व पूजा पाठ के दौरान भी देखने को मिला। अति व्यस्त होने के बावजूद भी पूजा के समय सीएम के चेहरे पर शांति का भाव साफ झलक रहा था। इस दौरान पत्रिका ने उनसे जब पूछना चाहा कि क्या संकटमोचन हनुमान जी की शरण में आगामी चुनाव (लोकसभा व मप्र विधानसभा) को लेकर विनती करने आए हैं तो बड़ी सरलता व सहजता से उन्होंने कहा कि धार्मिक स्थान पर राजनीतिक बात नहीं होनी चाहिए और वे खुद शुरू से आध्यात्मिक और धार्मिक प्रवृत्ति के रहे हैं तो उनका ऐसे अनुष्ठानों में मन भी लगता है। लोगों द्वारा धार्मिक क्षेत्र में विकास की बयार न बहने की शिकायत पर सीएम ने कहा कि दोनों राज्यों में हमारी सरकार है और धार्मिक स्थानों के विकास के लिए हम पूरी तरह प्रतिबद्ध है। आने वाले दिनों में विकास की रूप रेखा और वृहद स्तर पर तैयार की जाएगी। साधू-संतो की भी शिकायतों, समस्याओं को जल्द निस्तारित करने का आश्वासन देते हुए उन्होंने उनसे आशीर्वाद प्राप्त किया।

Show More
shatrughan gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned