विश्व टेस्ट चैंपियनशिप : आईसीसी ने किया बड़ा बदलाव, जानें कैसे मिलेंगे प्वाइंट, किससे भिड़ेंगी टीम

आईसीसी ने दूसरे विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में जीतने वाली टीमों को मिलने वाले अंकों में बड़ा बदलाव किया है। हर टीम को तीन घरेलू और तीन विदेशी सरजमीं पर टेस्ट सीरीज खेलनी होंगी।

By: भूप सिंह

Published: 14 Jul 2021, 09:31 PM IST

 

नई दिल्ली। आईसीसी का पहला विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का मुकाबला पिछले महीेने ही खेला गया था। इस खिताबी मुकाबले में न्यूजीलैंड की टीम विजेता और भारतीय टीम उपविजेता रही थी। अब भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जाने वाली 5 टेस्ट मैचों की सीरीज से विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के दूसरे सीजन की शुरुआत होगी। लेकिन इससे पहले आईसीसी ने प्वाइंट सिस्टम में बड़ा बदलाव किया है। दरअसल, दूसरे सीजन में एक टेस्ट मैच जीतने पर टीम को 12 प्वांइट्स मिलेंगे। अगर मुकाबला टाई रहता है तो दोनों टीमों को 6—6 अंक और ड्रॉ होता है तो 4—4 अंक मिलेंगे। टीमें मैच खेलकर जो अंक हासिल करेंगी, उसके प्रतिशत के आधार पर टीमों की रैंंकिंग तय होगी।

यह भी पढ़ें— भुवनेश्वर और चहल पर भारी पड़े पृथ्वी शॉ, जमकर लगाए चौके और छक्के, वीडियो वायरल

जीतने वाली टीम को मिलेंगे 100 फीसदी अंक
डब्ल्यूटीसी के दूसरे में सीजन मे जीतने वाली टीम को 100 फीसदी अंक मिलेंगे। टाई करने वाली टीम 50 फीसदी अंक हासिल कर पाएंगी। इसके अलावा टेस्ट ड्रॉ होने पर दोनों टीमों कों 33.33 फीसदी अंक मिलेंगे। पहले प्रत्येक सीरीज में 120 अंक होते थे, फिर चाहे यह दो टेस्ट की सीरीज हो या पांच टेस्ट की सीरीज हो। लेकिन इस बार प्रत्येक मैच के समान अंक होंगे। यानि दो टेस्ट मैचों की सीरीज में 24 अंक और पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में 60 अंक होंगे।

यह रहेगा टीमों मैच शेड्यूल
डब्ल्यूटीसी में न्यूजीलैंड की टीम महज 13 टेस्ट मैच खेलेगी। वहीं इंग्लैंड की टीम सबसे ज्यादा 21 टेस्ट खेलने वाली है। भारतीय टीम 19 और ऑस्ट्रेलिया 18 टेस्ट मैच खेलेगा। वेस्टइंडीज और श्रीलंका की टीमें भी 13-13 टेस्ट मैच खेलेंगी। पाकिस्तान 14 और बांग्लादेश 12 टेस्ट मैच खेलेगा।

यह खबर भी पढ़ें:—इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले अश्विन ने अंग्रेजों को किया पस्त, 13 ओवर में आधी टीम को किया आउट

हर टीम को तीन घरेलू और तीन विदेशी सजरमीं पर खेलनी होंगी सीरीज
वर्ल्ड टेस्ट सीरीज के नियमों के मुताबिक एक टीम को तीन घरेलू और तीन विदेशी सरजमीं पर सीरीज खेलनी होंगी। भारतीय टीम न्यूजीलैंड, श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया से अपने घर पर भिड़ेंगी। वहीं उसे इंग्लैंड, साउथ अफ्रीका और बांग्लादेश का दौरा भी करना होगा। सभी टीमों को 31 मार्च, 2013 तक एक—दूसरी टीमों से मुकाबले खेलने होंगे। भारत और इंग्लैंड के बीच पहला टेस्ट मैच चार अगस्त से खेला जाएगा।

भूप सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned