World Cup 2019: रवि शास्त्री ने किया खुलासा, धोनी को नीचे भेजने का फैसला किसका था

World Cup 2019: रवि शास्त्री ने किया खुलासा, धोनी को नीचे भेजने का फैसला किसका था

Manoj Sharma Sports | Publish: Jul, 12 2019 09:43:10 PM (IST) | Updated: Jul, 13 2019 06:37:11 PM (IST) क्रिकेट

  • शास्त्री के अनुसार धोनी को नीचे भेजने का फैसला पूरी टीम का था
  • एक टूर्नामेंट या सीरीज से तय नहीं होता कि आप खराब हैंः शास्त्री

लंदन। आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 ( ICC Cricket World Cup 2019 ) के पहले सेमीफाइनल मुकाबले में न्यूजीलैंड के हाथों भारतीय क्रिकेट टीम को 18 रनों से हार का सामना करना पड़ा था।

हार के बाद क्रिकेट विशेषज्ञों और प्रशंसकों ने सबसे ज्यादा सवाल इसी बात पर उठाए थे कि आखिर इस मैच में महेंद्र सिंह धोनी को इतना नीचे सातवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए क्यों भेजा गया। सभी का तर्क यह है कि अगर वह पहले बल्लेबाजी करने आए होते तो वह पारी संवार सकते थे और भारत मैच जीत सकता था।

टीम इंडिया की हार के बाद इस पर पहली बार प्रतिक्रिया देते हुए मुख्य कोच रवि शास्त्री ने कहा कि अगर उन्हें ऊपर भेजा जाता तो वह पाप होता। उन्होंने कहा कि धोनी सर्वश्रेष्ठ फिनिशर हैं, इसलिए उन्हें बाद में भेजा गया। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए उक्त बातें कही।

विराट कोहली की जगह अब रोहित शर्मा के हाथ में होगी टीम इंडिया की कमान

धोनी को नीचे भेजने का फैसला टीम का था: शास्त्री

टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने कहा कि धोनी को नीचे भेजने का फैसला अकेले उनका नहीं था। यह टीम का निर्णय था और पूरी टीम इस फैसले से सहमत थी।

उन्होंने कहा कि आप चाहते थे कि धोनी जल्दी बल्लेबाजी के लिए आएं और अगर वह जल्दी आउट हो जाते तो लक्ष्य हासिल करने की उम्मीद पहले ही खत्म हो जाती। अंत में हमें उनके अनुभव की जरूरत थी। वह सर्वश्रेष्ठ फिनिशर हैं और अगर हम उनका ऐसे इस्तेमाल नहीं करते तो वह पाप होता।

ऋषभ पंत का किया बचाव

टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने ऋषभ पंत को बल्लेबाजी में ऊपर भेजने का भी बचाव किया। उन्होंने कहा कि पंत अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे। उन्होंने न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाजों, यहां तक कि ट्रेंट बोल्ट के खिलाफ भी अच्छी बल्लेबाजी की। लापरवाही भरा शॉट मारकर पंत के आउट होने पर उन्होंने कहा कि अगर वह नाबाद लौटते तो शायद आप ऐसा नहीं कहते। धड़ाधड़ विकेट गिरने के बाद जिस तरह उन्होंने संघर्ष किया, वह उससे खुश हैं।

महेंद्र सिंह धोनी की बल्लेबाजी को लेकर सुनील गावस्कर का महत्वपूर्ण बयान

हार के बाद टीम का मनोबल बढ़ाया

रवि शास्त्री ने बताया कि हार के बाद वह टीम के सभी खिलाड़ियों से मिले और उनसे कहा कि खुद पर गर्व करो और सिर उठाकर बाहर जाओ। वो खराब 30 मिनट आपसे ये सच नहीं छीन सकते कि पिछले कुछ सालों से आप सब एक सर्वश्रेष्ठ टीम हैं और यह बात आप भी जानते हैं।

शास्त्री ने कहा कि कोई एक टूर्नामेंट, एक सीरीज या फिर 30 मिनट का खेल ये तय नहीं कर सकता कि आप खराब हैं। यह सच है कि हार से हम सब दुखी और निराश हैं, लेकिन आपको इस बात पर गर्व करना चाहिए, पिछले दो सालों में आपने अच्छा खेल दिखाया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned