Anil Kumble क्यों हैं भारत के सबसे बड़े मैच विनर क्रिकेट खिलाड़ी?

Highlights

  • टीम इंडिया के पूर्व और वर्तमान खिलाड़ियों ने उन्हें 50 वें जन्मदिन की बधाई दी।
  • टीम इंडिया में उनकी मौजूदगी से विपक्ष में घबराहट बनी रहती थी।

By: Mohit Saxena

Published: 17 Oct 2020, 05:21 PM IST

नई दिल्ली। अपनी गुगली और तेज स्पिन से बल्लेबाजों को पस्त करने वाले अनिल कुंबले (Anil Kumble) आज 50 साल के हो गए। इस अवसर पर टीम इंडिया के पूर्व और वर्तमान खिलाड़ियों ने उन्हें यादकर बधाई दी। दुनिया के बेहतरीन गेंदबाजों में गिने जाने वाले कुंबले टेस्ट में टीम इंडिया के लिए सबसे अधिक 132 मैच में 619 विकेट लेने वाले बॉलर हैं। पूर्व कप्तान कुंबले के नाम टेस्ट मैच की एक पारी में 10 विकेट लेने का भी रिकॉर्ड शामिल है। उन्होंने यह करनामा पाक के खिलाफ किया।

मिस्ट्री स्पिनर वरुण ने क्रिकेट के जुनून में 26 साल की उम्र छोड़ी नौकरी, अब आईपीएल में मचा रहे हैं धमाल

वन डे में 269 मैचों में 334 विकेट हासिल किए

वह वनडे में भारत के लिए सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाजों में से एक हैं। उन्होंने 269 मैचों में 334 विकेट हासिल किए हैं। उनका अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर साल 1990 में शुरू हुआ था। वे 18 वर्ष तक खेलते रहे। उन्होंने साल 2008 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संयास ले लिया। वह भारतीय क्रिकेट टीम के कोच भी रहे हैं।

विपक्ष में घबराहट बनी रहती थी

इंडियन क्रिकेट टीम में अनिल कुंबले एकमात्र ऐसे गेंदबाज थे, जिन्होंने कई बार मैच का रुख मोड़कर टीम इंडिया को जीत दिलाई है। टीम इंडिया में उनकी मौजूदगी से विपक्ष में घबराहट बनी रहती थी। कई बल्लेबाजों को उनकी गेंदों को खेलने में काफी मुश्किल होती थी। उनकी गेंदबाजी में पेस के साथ शानदार स्पिन का तड़का था। इसके कारण बल्लेबाज उनकी गेंदबाजी पर बड़ी सतर्कता के साथ खेलता था। वे एक मैच विनर खिलाड़ी रहे हैं।

सहवाग ने माफी मांगी

इस मौके पर टीम इंडिया के पूर्व ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने एक खास वाक्या याद कर उन्हें जन्मदिन की बधाई दी और माफी मांगी। सहवाग ने ट्वीट कर कुंबले को बधाई देते हुए लिखा कि आधिकारिक तौर पर मैंने 136 अंतरराष्ट्रीय विकेट लिए, मगर एक विकेट अनाधिकारिक तौर पर भी लिया है।

87 रन पर आउट हो गए

यह काफी महंगा साबित हुआ। सहवाग ने बताया कि एक बार उन्होंने अनिल को ऑफ-स्पिनर पर टुकटुक न करके जल्द शतक पूरा करने की सलाह दी थी। इस कारण वे 87 रन पर आउट हो गए। सहवाग ने लिखा 'सॉरी अनिल भाई, लेकिन आज हाफ सेंचुरी की बधाई। हैप्पी बर्थडे'।

केविन पीटरसन ने छोड़ी आईपीएल 2020 की कॉमेट्री टीम

शतक के काफी करीब थे

दरअसल, साल 2007-08 में भारतीय टीम ऑस्टेलिया दौरे पर गई। इस दौरान सीरीज का आखिरी टेस्ट 24 से 28 जनवरी के बीच खेला गया। यह मैच ड्रा रहा। मैच में अनिल कुंबले अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे। पहली पारी में वह शतक के काफी करीब थे। भारतीय टीम 9 विकेट गंवा चुकी थी। उनके साथ ग्यारह नंबर के बल्लेबाज इशांत शर्मा थे। तभी टी टाइम के दौरान वीरेंद्र सहवाग ने कुंबले को बड़े शॉट खेलकर जल्द शतक बनाने की सलाह दी।

2007 में शतक लगाया था

जंबो ने वीरू की बात मान ली। टी-ब्रेक के बाद मैदान पर गए और मिचेल जॉनसन की गेंद पर लंबे शॉट को लगाने के चक्कर में आउट हो गए। इस तरह से वह अपना दूसरा शतक लगाने से चूक गए। वीरू ने दिग्गज लेग स्पिनर के जन्मदिन के अवसर पर ट्वीट कर इसी मैच का जिक्र किया है। टेस्ट में अनिल कुंबले एक शतक लागने में सफल रहे थे। उन्होंने इंग्लैंड के विरुद्ध साल 2007 में शतक लगाया था।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned