दिल्ली पुलिस ने 3 संदिग्धों को किया गिरफ्तार, ​देश में दंगे भड़काने के लिए बनाया था यह प्लान

दिल्ली पुलिस ने 3 संदिग्धों को किया गिरफ्तार, ​देश में दंगे भड़काने के लिए बनाया था यह प्लान

Mohit sharma | Publish: Jan, 19 2019 10:36:27 AM (IST) | Updated: Jan, 19 2019 01:32:50 PM (IST) क्राइम

देश की खुफिया एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) और दिल्ली पुलिस ने ज्वाइंट ऑपरेशन चला कर एक बड़ी साजिश का पर्दाफाश किया है।

नई दिल्ली। देश की खुफिया एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) और दिल्ली पुलिस ने ज्वाइंट ऑपरेशन चला कर एक बड़ी साजिश का पर्दाफाश किया है। इस ऑपरेशन में रॉ ने तीन संदिग्धों को गिरफ्तार किया है। दिल्ली पुलिस और रॉ अधिकारियों की पकड़ में आए संदिग्धों ने खुलासा किया है कि वह भारत में दंगा करवाने की साजिश रच रहे थे। यही नहीं तीनों के तार आईएसआई और डी कंपनी से भी जुड़े हैं, जिनके इशारे पर वो भारत में गणतंत्र दिवस से पहले बड़ी घटना को अंजाम देने का षड़यंत्र रच रहे थे। गिरफ्तार किए गए तीनों लोगों में एक अफगानिस्तान का रहने वाला बताया जा रहा है।

बिहार: युवती की मौत से भड़की भीड़, हमले में 6 पुलिसकर्मी घायल

अफगानिस्तान निवासी वली मोहम्मद के अलावा शेष दोनों लोग भारत के ही रहने वाले हैं, जिनकी पहचान सोनू उर्फ तहसीम निवासी केरल और रियाजुद्दीन निवासी दिल्ली के रूप में की गई हे। सूत्रों के अनुसार तीनों संदिग्धों में से एक आरोपी अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के नजदीकी गुलाम रसूल पट्टी का आदमी है। पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि डी कंपनी से जुड़े ये तीनों लोग दक्षिण भारत में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कई नेताओं को निशाना बनाना चाहते थे। इन्होंने संघ के इन नेताओं की हत्या की भी सजिश रखी थी। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि संघ नेताओं की हत्या की इस साजिश में सिर्फ पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई और डॉन दाऊद इब्राहिम गैंग का भी हाथ है। आरोपियों के प्लान के मुताबिक वो संघ नेताओं की हत्या के बाद भारत में दंगे फैलाना चाहते थे।

दिल्ली की हवा में सुधार, बारिश गिरा सकती है राजधानी का तापमान

भारत में इस घटना को अंजाम देने के लिए वली मोहम्मद को स्पेशल ट्रेनिंग देकर काबुल से भारत भेजा गया था। पुलिस जांच में खुलासा हुआ है कि इस पूरी साजिश के पीछे हरेन पंड्या की हत्या की साजिश में शामिल रहे शख्स का हाथ है। गुजरात के रहने वाले इस शख्स का नाम है गुलाम रसूल पट्टी। रसूल गुजरात में 2002 में दंगों के बाद वहां फरार हो गया था।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned