scriptKidnap Sikh girl forced marriage people took to streets in Srinagar | Kashmir : सिख युवती का किडनैप और जबरन निकाह का मामला गर्माया, हाईकोर्ट ने लड़की को दी सुरक्षा, श्रीनगर से दिल्ली तक आक्रोश | Patrika News

Kashmir : सिख युवती का किडनैप और जबरन निकाह का मामला गर्माया, हाईकोर्ट ने लड़की को दी सुरक्षा, श्रीनगर से दिल्ली तक आक्रोश

locationनई दिल्लीPublished: Jun 28, 2021 04:38:36 pm

Submitted by:

Shaitan Prajapat

जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में सिख युवती का किडनैप और जबरन धर्मांतरण करवाकर निकाह कराने के मामला काफी गर्माया हुआ है। सिख समुदाय ने चेतावनी देते हुए कहा कि यह सिख समुदाय की आन, बान और शान के साथ गुस्ताखी है। इसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

Sikh community
Sikh community

नई दिल्ली। कश्मीर में दो सिख लड़कियों के धर्म परिवर्तन और जबरन निकाह का मामला तूल पकड़ चुका है। श्रीनगर से लेकर दिल्ली तक सिख समुदाय में इस घटना को लेकर गहरा आक्रोश है। कश्मीर से लेकर नई दिल्ली तक प्रदर्शन जारी है। सिख समुदाय के लोगों का आरोप है कि कश्मीर में आए दिन धर्म कभी अपहरण, कभी दबाव बनाकर तो कभी बहला-फुसलाकर लड़कियों का धर्म परिवर्तन करवाया जा रहा है। इस बीच हाई कोर्ट ने पीड़ित लड़की सुरक्षा सुरक्षा मुहैया करवाई है।

एसजीपीसी ने मांगी हिंदुओं से मदद
दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी ( SGPC ) के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा अगले ही दिन कश्मीर चले गए और वहां विशाल जुलूस निकाला। सिखों ने हिंदू समुदाय से भी घाटी में अल्पसंख्यकों पर इस्लामी अत्याचार के खिलाफ लड़ाई में मदद की मांगी की है। वो हिंदुओं को याद दिला रहे हैं कि कैसे महाराष्ट्र समेत अन्य जगहों से हिंदुओं की वापसी में सिखों ने मदद की है। वहीं, हिंदू समुदाय का कहना है कि मुस्लिम बहुल इलाकों में अन्य धर्मों के खिलाफ ऐसी ही साजिश लंबे समय से चल रही है। हालांकि, सिरसा लव-जिहाद को लेकर अपने एक पुराने बयान पर बुरी तरह घिर गए हैं।

दूसरी तरफ पूरे देश में सिख समुदाय के लोग आक्रोशित है। सभी ने पूरे मामले की जांच की मांग उठाई। बड़ी संख्या में सिख समुदाय के लोग श्रीनगर में सड़कों पर उतर आए। इस घटना के खिलाफ कड़ा विरोध जताया है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि यह सिख समुदाय की आन, बान और शान के साथ गुस्ताखी है। इसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सोमवार को देश के कई स्थानों पर जोरदार प्रदर्शन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जरूरत पडऩे पर उग्र आंदोलन भी करेंगे।


लड़कियों का जबरन बुजुर्ग लोगों के साथ निकाह
दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी के चेयरमैन मनजिंदर सिंह सिरसा भी रविवार को श्रीनगर पहुंचे है। वहां पर वे समुदाय के लोगों के साथ आंदोलन में हिस्सा ले रहे है। सिरसा ने कहा कि हम यहां बंदूक की नोक पर दो लड़कियों का अपहरण किए जाने के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि उन लड़कियों का जबरन बुजुर्ग लोगों के साथ निकाह करा दिया गया। कश्मीर में सिख युवतियों का जबरन धर्मांतरण कराया गया है। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

यह भी पढ़ेँः जम्मू में आर्मी कैम्प के ऊपर फिर दिखे दो ड्रोन, सुरक्षा बल के जवानों ने की फायरिंग

दो युवतियां का हुआ था अपहरण
सिख समुदाय के लोगों का कहना है कि दो और लड़कियों का अपहरण किया गया था। लेकिन एक युवती को ही अब तक छुड़ाया जा सका है। सिख समुदाय का कहना है कि लड़की के परिवार के लोगों को कोर्ट के अंदर नहीं जाने दिया गया। लोगों ने कोर्ट के बाहर आंदोलन किया है। बाद ही एक लड़की को उनके पास भेजा गया है। सिखों ने कहा कि धर्म की रक्षा के लिए कृपाण उठाया है तो अब बेटियों की रक्षा में भी पीछे नहीं हटेंगे।

यह भी पढ़ेंः रक्षामंत्री राजनाथ सिंह चीन सीमा से जोड़ने वाले चार पुलों का करेंगे लोकार्पण, जानिए क्यों हैं खास

अमित शाह ने दिलाया कार्रवाई का भरोसा
गृह मंत्री अमित शाह ने सिख समुदायक के लोगों को भरोसा दिया है कि दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। मनजिंदर सिरसा ने कहा कि गृह मंत्री अमित शाह ने हमें घाटी में सिख लड़कियों की सुरक्षा का भरोसा दिलाया है। ये लड़कियां जल्दी ही परिवारों में वापस लौट आएंगी। इसके अलावा सिख समुदाय के मुद्दों को लेकर बातचीत के लिए उन्होंने समय भी दिया है।

यह भी पढ़ें
-

क्या है कैप्टन और सिद्धू के बीच मनमुटाव की वजहें, जिसे दूर करने में गांधी परिवार की रणनीति भी नहीं आ रही काम


29 वर्षीय आरोपी गिरफ्तार
इस मामले में पुलिस ने अपना बयान करते हुए कहा कि 18 साल की युवी को छुड़ा लिया गया है। श्रीनगर पुलिस के एसपी (नॉर्थ) मुबाशिर हुसैन ने कहा कि लड़की को बचाया गया और फिर कोर्ट में पेश किया गया। इसके बाद से उसे उसके परिवार को सौंप दिया गया है। युवती को अपहरण करने के आरोपी 29 साल के युवत को गिरफ्तार कर लिया है।

ट्रेंडिंग वीडियो