रासायनिक विधियों को त्याग कैसे बचाएं खाद्यान्नों को

रासायनिक विधियों को त्याग कैसे बचाएं खाद्यान्नों को

monu sahu | Updated: 25 Jun 2018, 05:52:56 PM (IST) Dabra, Madhya Pradesh, India

कृषि अनुसंधान केंद्र बागवई की टीम ने जौरासी पंचायत में दिया प्रशिक्षण

डबरा. देश की खाद्यान्न समस्या सुलझाने में कृषक महिलाओं की भूमिका अहम है। घर में उपयोग आने वाले चना, चावल, दाल, गेहूं एवं अन्य खाद्यान्नों के भंडारण के लिए रासायनिक विधियों का प्रयोग न करते हुए विभिन्न प्रकार की जैविक विधियों का उपयोग किया जाना चाहिए।

यह बात कृषि अनुसंधान केंद्र बागबई भितरवार के प्रभारी अधिकारी बीएस कंसाना ने कही। वे किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग के अंतर्गत कृषि विस्तार एवं प्रशिक्षण केंद्र आंतरी मापवा योजना के अंतर्गत रविवार को जौरासी में आयोजित एक दिवसीय महिला प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। अध्यक्षता गांव की सरपंच हेमलता रामकुमार किरार ने की।

योजनाओं के बारे में विस्तार से समझाया

कार्यक्रम में महिला बाल विकास विभाग की सुपरवाइजर मनोरमा,अंातरी प्रशिक्षण केंद्र की सहायक संचालक नेहा,सेवानिवृत्त प्रमुख वैज्ञानिक डॉ. वीके जैन आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम में महिलाओं के सशक्तिकरण एवं महिलाओं की उन्नति और विकास के लिए केंद्र एवं राज्य सरकार की चल रही योजनाओं के बारे में विस्तार से समझाया गया। उनसे कहा गया कि योजनाओं को अपनाकर अपना विकास करें।

महिलाओं से संबंधित योजनाएं बताईं
कार्यक्रम में बच्चियों के उज्जवल भविष्य के लिए राज्य व केंद्र सरकार की चल रही विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी गई। इस दौरान बताया कि लाडली लक्ष्मी योजना, सुकन्या योजना, कन्यादान योजनाओं से बालिकाओं को लाभ दिलाया जा सकता है। प्रदेश में शासन की चल रही योजनाएं व बच्चियों के लिए नि:शुल्क शिक्षा संबंधी योजनाओं के बारे में भी प्रशिक्षण के दौरान विस्तार से समझाया गया। इस दौरान गर्भवती महिलाओं के लिए पोषक आहार की महत्ता को भी बताया। प्रशिक्षण में कृषि से जुड़ी महिलाओं को बताया गया कि घर में रखे खाद्यान्न भंडारण को सुरक्षित कैसे रखें और उन्हें लंबे समय तक कैसे प्रयोग करें। इस दौरान महिलाओं को विभिन्न योजनाों के संबंध में भी जानकारी दी गई। और कहा गया कि वे इनका लाभ भी ले सकती हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned