जरुरतमंदों को पढ़ाई के लिए मिलेंगी पुस्तकें

जरुरतमंदों को पढ़ाई के लिए मिलेंगी पुस्तकें
जरुरतमंदों को पढ़ाई के लिए मिलेंगी पुस्तकें

Rajendra Kumar Jain | Updated: 12 Oct 2019, 01:41:55 PM (IST) Dausa, Dausa, Rajasthan, India

महाविद्यालयों में सामुदायिक पुस्तकशाला

बांदीकुई. अब सरकारी महाविद्यालयों में पुस्तकदान अभियान के तहत सामुदायिक पुस्तक शाला स्थापित हुई हैं। इन पुस्तकशालाओं का संचालन करने के लिए महाविद्यालय में कार्यरत आचार्यों की समिति गठित की गइ है। इस समिति में 15 छात्रों तक विद्यार्थियों को भी सह सदस्य बनाया गया है। इन पुस्तकों का लेन-देन समिति की निगरानी में छात्रों को किया जाएगा। इसके चलते जरूरतमंद छात्रों को पढ़ाई के लिए पुस्तकों की सुविधा मुहैया
हो सकेगी।
पुस्तकशाला के संचालन के लिए गठित समिति सदस्यों को पुस्तकों की आवक-जावक की तकनीकी प्रक्रिया से जुड़ा प्रशिक्षण भी दिया गया है। पुस्तकशाला महाविद्यालयों में संचालित लाइब्रेरी से अलग होगी। हालांकि कुछ राजकीय महाविद्यालयों में इस प्रकार की लाइब्रेरी की व्यवस्था पहले से भी है, लेकिन उन्हें शिक्षकों द्वारा संचालित किया जाता है। जबकि इस पुस्तकशाला के संचालन में छात्रों की भी सहभागीदारी रहेगी। इसके लिए प्रबंधन समिति में नामित विद्यार्थी का कार्यकाल अधिकतम दो वर्ष रहेगा। पुस्तकशाला की स्थापना के लिए वांछित पुस्तकों को डोनेट ए बुक कैम्पेन के माध्यम से एकत्र किया जा रहा है।
इसमें कॉलेज शिक्षक, पास आउट स्टूडेंट एवं आम नागरिक पुस्तकें दान कर सकते हैं, लेकिन ये पुस्तकें नियमित पढ़ाई से सम्बंधित होना आवश्यक है। ताकि हर छात्र को पुस्तक उपलब्ध कराई जा सके। इसमें कोर्स से सम्बंधित पुस्तकें तीन वर्ष एवं प्रतियोगी परीक्षा से सम्बंधित पुस्तकें दो वर्ष से अधिक पुरानी नहीं होंगी।
इसके अलावा साहित्यिक पाण्डुलिपी श्रेणी की कोई पुस्तक दान में आती है तो उसके लिए कोई समयावधि तय नहीं है। इसमें बीपीएल एवं कमजोर वर्ग के छात्र-छात्राओं को पुस्तक देने में प्राथमिकता देय होगी। इसके बाद पिछली परीक्षा बोर्ड/विश्वविद्यालय में उच्च श्रेणी के अंक अर्जित करने वाले छात्रों को प्राथमिकता दी जाएगी। इसके बाद भी पुस्तकें उपलब्ध हैं तो अन्य छात्रों को मुहैया कराई जाएगी। खास बात यह है कि योजना के तहत विद्यार्थियों को पुस्तक शाला प्रबंधन, बुक शेयरिंग स्टडी एवं कॉ-ऑपरेटिव मॉडल से काम करने का प्रशिक्षण मिलने से सकारात्मक परिणाम सामने आ सकेंगे। योजना की मॉनिटरिंग समन्वय एवं नवाचार प्रकोष्ठ कर रहा है।

महाविद्यालयों की समस्याओं को लेकर दिया ज्ञापन
लालसोट. राजेश पायलट राजकीय महाविद्यालय एवं कन्या महाविद्यालय में अव्यवस्थाओं एवं समस्याओं को लेकर एबीवीपी की ओर से शुक्रवार को उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन दिया। 15 सूत्री मांगों का सात दिवस में निस्तारण नहीं होने पर धरने की चेतावनी दी। इस दौरान महेन्द्र सैनी, दिनेश योगी, सुनीता मीना आदि थे। (नि.सं.)

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned