गाड़ी में लगाना चाहते हैं '786' वाली नंबर प्लेट, चुकानी होगी बड़ी ​कीमत, 001 का दाम भी आसमान पर

गाड़ी में लगाना चाहते हैं '786' वाली नंबर प्लेट, चुकानी होगी बड़ी ​कीमत, 001 का दाम भी आसमान पर

Prateek Saini | Updated: 13 Aug 2019, 05:29:20 PM (IST) Dehradun, Dehradun, Uttarakhand, India

'786' Vehicle Number Rate: मुस्लिम समुदाय के लोग बड़ी शिद्दत से '786' ( Importance Of '786' ) वाली हर चीज को सहेज कर रखते हैं। इसी के साथ कई लोग VVIP Vehicle Numbers के शौकिन भी हैं...

(देहरादून,हर्षित सिंह): ईद-उल-अजहा ( Eid ) के ठीक अगले दिन मंगलवार को उत्तराखंड की भाजपा सरकार ( Uttarakhand government ) ने राज्य मोटर नियमावली में बदलाव करते हुए इस्लाम में महत्वपूर्ण माने जाने वाले '786' रजिस्ट्रेशन नंबर की न्यूनतम बोली एक लाख रुपए तय कर कर दी है। किसी से छुपा नहीं कि इस्लाम धर्म में इस नंबर की कितनी अहमियत है। इस्लाम धर्मावलंबी इस नंबर से जुड़ी हर चीज को सहेज कर रखते हैं।


मुस्लिम समुदाय में अंंक '786' की यह है अहमियत

मुस्लिम धर्मावलंबियों के अनुसार हर मुस्लिम समुदाय के लोग अंंक '786' को बिस्मिल्ला का रूप मानते हैं। ऐसा माना जाता है कि अरबी या उर्दू में 'बिस्मिल्ला अल रहमान अल रहीम' को लिखेंगे तो उसका अंक '786' बनेगा। इसके चलते इस्लाम को मानने वाला हर व्यक्ति इस अंक को पाक मानता है।


यह है अन्य वीवीआईपी नंबर्स की रेट

इसके अलावा त्रिवेंद्र सरकार ( Trivendra Singh Rawat ) ने 001 यानी की अव्वल दर्जे का नंबर भी इसी के समकक्ष ही रखा है। यानि इसे पाने के लिए भी न्यूनतम बोली एक लाख होगी.मंत्रीमंडल बैठक के दौरान अऩ्य वीवीआईपी नंबर के दाम भी बढ़ा दिए हैं। बाकी मूलांक से जुडे़ नंबर जैसे 11, 22, 33, 44, 55, 66, 77, 88, 99 के नंबर लेने के लिए 25 हजार की न्यूनतम बोली कर दी है।

 

कई संशोधन किए गए...

मंत्रीमंडल की बैठक में धारा 52 ( वाहन में अनधिकृत परिवर्तन) , 179 ( किसी भी व्यक्ति या प्राधिकारी सशक्त, एमवी एक्ट के तहत अपने कार्यों के निर्वहन में प्राधिकारी निरोधक द्वारा दिए गए निर्देशों की अवहेलना, किसी भी यात्री आवश्यक जानकारी रोक या झूठी जानकारी देना) , व आदि धाराओं में संशोधन किया गया है।


उत्तराखंड की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

यह भी पढ़ें: Modi In Man vs Wild: मैन वर्सेज वाइल्ड के लिए क्यों किया गया 'जिम कार्बेट पार्क' का चयन,इस राजनीतिक परिवार की भी रहा है पसंद

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned