scriptdeoria news, bike accident , two died | काश लगाए होते हेलमेट, तेज रफ्तार बाइक डिवाइडर से टकराई...चाचा, भतीजे की मौत | Patrika News

काश लगाए होते हेलमेट, तेज रफ्तार बाइक डिवाइडर से टकराई...चाचा, भतीजे की मौत

locationदेवरियाPublished: Nov 25, 2023 03:07:34 pm

Submitted by:

anoop shukla

गोविंद अभी बाइक लेकर देवरिया-सलेमपुर फोरलेन पर बहादुरपुर गांव के पास ही पहुंचे थे कि बाइक अनियंत्रित होकर डिवाइडर से जा टकराई। रफ्तार तेज होने से सभी सवार सड़क पर जा गिरे। जिससे मौके पर ही गोविंद और आदित्य की मौत हो गई। जबकि किशन का मेडिकल कॉलेज देवरिया में इलाज चल रहा है।

काश लगाए होते हेलमेट, तेज रफ्तार बाइक डिवाइडर से टकराई...चाचा, भतीजे की मौत
काश लगाए होते हेलमेट, तेज रफ्तार बाइक डिवाइडर से टकराई...चाचा, भतीजे की मौत
देवरिया। जिले में खुखुंदू थाना क्षेत्र के बहादुरपुर गांव के पास शुक्रवार देर-रात को एक बाइक डिवाइडर से टकरा गई। टक्कर तेज होने से बाइक पर सवार तीन लोग सड़क पर जा गिरे। जिससे मौके पर ही चाचा और भतीजे की मौत हो गई। जबकि गंभीर रूप से घायल एक युवक का मेडिकल कॉलेज देवरिया में इलाज चल रहा है। बाइक सवार हेलमेट नहीं पहने थे।
तिलक समारोह से 3 लोग बाइक से निकले

रुद्रपुर थाना क्षेत्र के रनिहावा उर्फ चिरईगोड़ा गांव निवासी अनसुईया देवी के घर से भाटपार रानी थाना क्षेत्र के महिपार गांव शुक्रवार रात को तिलक गया था। तिलक समारोह में गांव निवासी गोविंद राजभर (25) पल्सर बाइक से अपने साथ भतीजे आदित्य राजभर (11) और किशन चौहान (24) को लेकर निकले थे।
देवरिया-सलेमपुर फोरलेन पर डिवाइडर से टकराये

गोविंद अभी बाइक लेकर देवरिया-सलेमपुर फोरलेन पर बहादुरपुर गांव के पास ही पहुंचे थे कि बाइक अनियंत्रित होकर डिवाइडर से जा टकराई। रफ्तार तेज होने से सभी सवार सड़क पर जा गिरे। जिससे मौके पर ही गोविंद और आदित्य की मौत हो गई। जबकि किशन का मेडिकल कॉलेज देवरिया में इलाज चल रहा है।गोविंद अभी बाइक लेकर देवरिया-सलेमपुर फोरलेन पर बहादुरपुर गांव के पास ही पहुंचे थे कि बाइक अनियंत्रित होकर डिवाइडर से जा टकराई। रफ्तार तेज होने से सभी सवार सड़क पर जा गिरे। जिससे मौके पर ही गोविंद और आदित्य की मौत हो गई। जबकि किशन का मेडिकल कॉलेज देवरिया में इलाज चल रहा है।
सुबह हो सकी मृतकों की पहचान

उधर, घटना की सूचना मिलते ही परिवार में चीख-पुकार मच गई। गोविंद माता-पिता का इकलौता संतान था। घटना के बाद मां बिंदु देवी और पिता गुड्डू राजभर बदहवास है। जबकि आदित्य दो भाईयों में बड़ा था। मौत के बाद मां नीरु देवी दहाड़े मारकर रो रही है।इंस्पेक्टर संतोष कुमार सिंह ने बताया कि देर-रात में घटना होने से मृतकों की पहचान शनिवार सुबह में हुई। घटना के बाद मार्ग जाम हो गया था। शव हटवाकर आवागमन चालू कराया गया।

ट्रेंडिंग वीडियो