script देवरिया जेल में फतेहपुर नरसंहार के आरोपी विचाराधीन कैदी की हुई मौत | prisnoer died in district jail deoria | Patrika News

देवरिया जेल में फतेहपुर नरसंहार के आरोपी विचाराधीन कैदी की हुई मौत

locationदेवरियाPublished: Feb 05, 2024 09:26:57 am

Submitted by:

anoop shukla

जेल अधीक्षक राजकुमार ने बताया, ‘‘ देवरिया जिले के रुद्रपुर निवासी अमरनाथ तिवारी (63) को देवरिया जिला कारागार में बंद किया गया था। शनिवार शाम सीने में दर्द की शिकायत पर उसे महर्षि देवरहा बाबा मेडिकल कॉलेज ले जाया जा रहा था तभी रास्ते में ही उसकी मौत हो गयी।उन्होंने बताया कि तिवारी के परिजनों इसकी सूचना दे दी गई है।

देवरिया जेल में फतेहपुर नरसंहार के आरोपी विचाराधीन कैदी की हुई मौत
देवरिया जेल में फतेहपुर नरसंहार के आरोपी विचाराधीन कैदी की हुई मौत
जिले में पिछले साल हुए सामूहिक हत्याकांड मामले में आरोपी बनाए गए एक विचाराधीन कैदी की जिला जेल में मौत हो गई। पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी।पुलिस ने बताया कि मृतक की पहचान अमरनाथ तिवारी (63) के रूप में की गई है। वह दो अक्टूबर 2023 को एक ही परिवार के पांच सदस्यों समेत छह लोगों की हत्या के मामले में अभियुक्त था और आठ नवंबर 2023 से देवरिया जिला जेल में बंद था।
विचाराधीन कैदी अमरनाथ तिवारी की मौत

जेल अधीक्षक राजकुमार ने बताया, ‘‘ देवरिया जिले के रुद्रपुर निवासी अमरनाथ तिवारी (63) को देवरिया जिला कारागार में बंद किया गया था। शनिवार शाम सीने में दर्द की शिकायत पर उसे महर्षि देवरहा बाबा मेडिकल कॉलेज ले जाया जा रहा था तभी रास्ते में ही उसकी मौत हो गयी।उन्होंने बताया कि तिवारी के परिजनों इसकी सूचना दे दी गई है।
फतेहपुर गांव में हुआ था दुबे परिवार का नरसंहार

जिले के रुद्रपुर थाना क्षेत्र के फतेहपुर गांव में पिछले साल दो अक्टूबर को कथित रूप से जमीन के विवाद को लेकर पूर्व जिला पंचायत सदस्य प्रेम यादव (50) पर उनके प्रतिद्वंद्वी सत्यप्रकाश दुबे (54) और उनके परिवार ने धारदार हथियार से हमला कर उसकी हत्या कर दी थी। इसके तुरंत बाद यादव के समर्थकों ने जवाबी कार्रवाई में दुबे के घर पर हमला किया और दुबे, उसकी पत्नी किरण दुबे (52), बेटियों सलोनी (18) और नंदनी (10) और बेटे गांधी (15) की हत्या कर दी थी।
हमले में दुबे का आठ साल का बेटा अनमोल घायल हो गया था।इस मामले में दुबे की बेटी शोभिता द्विवेदी ने 77 लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) और 307 (हत्या का प्रयास) के तहत मुकदमा दर्ज कराया था। वहीं, प्रेम यादव के रिश्तेदार अनिरुद्ध यादव ने भी दूसरे पक्ष पर प्राथमिकी दर्ज करायी थी।रुद्रपुर के पुलिस क्षेत्राधिकारी अंशुमन श्रीवास्तव के मुताबिक इस मामले में अब तक 25 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

ट्रेंडिंग वीडियो