11 संदिग्धों के नमूने भेजे गए जांच के लिए, 4 लोग आइसोलेशन वार्ड में भर्ती

50 से अधिक लोगों को किया जा चुका है होम आइसोलेटेड

By: Chandraprakash Sharma

Updated: 29 Mar 2020, 05:40 PM IST

देवास। कोरोना वायरस संक्रमण का असर देवास के पड़ोसी जिलों इंदौर, उज्जैन तक पहुंचने के बाद जिले के लोग भी चिंतित हो रहे हैं। हालांकि राहत की बात यह है कि जिले में अभी तक एक भी कोरोना पॉजिटिव मरीज नहीं मिला है। पिछले कुछ दिनों में संदिग्धों के नमूने लेने की शुरुआत की गईहै। अब तक ११ मरीजों के नमूनों को जांच के लिए भेजा गया है। वहीं जिला अस्पताल में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में वर्तमान में 4 मरीज भर्तीहैं। इसके अलावा करीब एक माह में 50 से अधिक लोगों को होम आइसोलेट किया गया है। उधर लगातार दूसरे दिन भी जिले में कफ्र्यू प्रभावी रहा।
जिले में करीब डेढ़ माह पहले कोरोना को लेकर तैयारी शुरू कर दी गई थी। सबसे पहले विदेश यात्रा से लौटने वालों पर ध्यान केंद्रित किया गया। इस दौरान करीब ३० लोगों की जांच की गई और स्थिति सामान्य मिलने पर इनको होम आइसोलेट किया गया। इसके बाद देश के अलग-अलग राज्यों से आने वालों पर फोकस किया गया और इनकी जांच शुरू की गई। पिछले कुछ दिनों से स्थानीय व आसपास के गांवों से सर्दी-खांसी, जुकाम, बुखार से पीडि़त होने वालों पर भी अधिक ध्यान देने की शुरुआत की गई। पिछले कुछ दिनों में कुल ११ लोगों के नमूने लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं। इसके अलावा मैदानी अमले द्वारा गांवों में भी बाहर से आने वालों की पहचान कर उनके स्वास्थ्य की जांच की जा रही है। जिले में शनिवार को कफ्र्यू का दूसरा दिन रहा। जगह-जगह पुलिस तैनात रही और बाहर घूमने वालों को हटाया गया। वहीं वाहन चालकों की जांच का काम सख्ती से चलता रहा।
सब्जी मंडी पहुंचे अधिकारी
कफ्र्यू के तीसरे दिन रविवार को सुबह ८ से ११ बजे तक खरीदी के लिए छूट दी जाएगी। इससे पहले शनिवार को अधिकारी एबी रोड स्थित सब्जी मंडी पहुंचे और रविवार को भीड़ की स्थिति पर नियंत्रण को लेकर चर्चाकी। यहां पर भी लोगों के बीच दूरी बनाए रखने के लिए कई जगह गोले लगाकर जगह निर्धारित की गई है।
सिलेंडर पहुंचाने में आई तेजी
गैस सिलेंडर की होम डिलीवरी करने की छूट मिलने के बाद शनिवार को लोडिंग ऑटो शहर में नजर आए। विभिन्न इलाकों से होने वाली बुकिंग के तहत होम डिलेवरी की गई। कईलोगों के यहां सिलेंडर खत्म हो चुके थे और वो आसपास से मांगकर काम चला रहे थे। गैस सिलेंडर आने के बाद इन्होंने राहत की सांस ली।

Chandraprakash Sharma Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned