महिला पर थी बुरी नजर, पाने के लिए ये क्या कर दिया

महिला पर थी बुरी नजर, पाने के लिए ये क्या कर दिया

Amit S. Mandloi | Publish: Sep, 16 2018 10:50:15 AM (IST) Dewas, Madhya Pradesh, India

सोनकच्छ पुलिस ने किया अंधे कत्ल का खुलासा

सोनकच्छ. राजेश शर्मा
अपने पति की शराब पीने की लत से महिला परेशान थी। उसकी मदद एक युवक ने की। युवक महिला को पति से मुक्ति दिलाकर वह शादी करना चाहता था। पुलिस ने हत्यारे को गिरफ्तार कर लिया है।

25 जून 2018 को ग्राम पिलवानी थाना सोनकच्छ निवासी जितेंद्र पिता गोकुलनाथ उम्र 33 साल अपने घर से रात करीब 8 बजे अपने दोस्त शंकर पिता रामदास बैरागी के साथ गया था । रात को वह अपने घर वापस नहीं लौटा । जब दो दिन से पति नहीं लौटा तो उसकी पत्नी ममता ने सोनकच्छ थाने पर रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

इसके बाद 28 जून 2018 को ही भटकुंड के जंगल में एक सड़ी हुई लाश बरामद हुई थी। जिसके बाद महिला ममता बाई के द्वारा लाश की शिनाख्त अपने पति जितेन्द्र भील के रूप में की गई थी । मृतक जितेन्द्र का पीएम शासकीय अस्पताल सोनकच्छ में किया गया । विवेचना के दौरान यह तथ्य प्रकाश में आया था कि जितेंद्र के साथ अंतिम बार शंकर बैरागी एवं उसका मामा राजेश उर्फ वेतनदास बैरागी देखे गए थे। घटना के बाद से ही वे दोनों अपने निवास से फरार हो गए थे । इस प्रकरण में पुलिस अधीक्षक द्वारा अज्ञात आरोपित की गिरफ्तारी पर 3 हजार का नकद इनाम की घोषणा भी की गई थी । इसी क्रम में विवेचना के दौरान आरोपित को 14 सितंबर को मुखबिर सूचना के आधार पर हिरासत में ले लिया गया ।

पत्नी थी परेशान, अपराधिक प्रवृत्ति का था पति

आरोपितों से घटना के संबंध में बारीकी से पूछताछ की गई । दोनों ने घटना के संबंध में अलग.अलग बातें बताई । तब इनसे पृथक- पृथक बारीकी से पूछताछ की गई तो इनके द्वारा जितेन्द्र नाथ की हत्या करना स्वीकार किया । मुख्य आरोपित शंकर द्वारा बताया गया कि जितेंद्र शराब पीने का आदी था एवं अपराधिक प्रवृत्ति का था स उसकी पत्नी ममताबाई काफी परेशान थी । शंकर के द्वारा उसकी कई बार मदद की गई थी । तब शंकर ने सोचा कि यदि वह जितेंद्र की हत्या कर देता है तो ममता भाई उसके साथ आकर पत्नी बन कर रहेगी । इसी सोच के आधार पर घटना 25 जून 2018 को रात्रि में शंकर व उसके मामा वेतन दास उर्फ राजेश बैरागी ने जितेन्द्र को अपने साथ ले जाकर साथ में शराब पिलाई व शराब पिलाकर उसे डंडे व पत्थर से सिर पर वार किया । उसकी हत्या की पहचान छुपाने के लिए उसके सारे कपड़े उतार कर चेहरा जला दिया । पुलिस अधीक्षक देवास, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक देवास एवं एसडीओपी सोनकच्छ के निर्देशन में थाना प्रभारी मनीष मिश्रा, उपनिरीक्षक सुषमा भास्कर, सहायक उपनिरीक्षक हरीश कुमार ने अपने फोर्स के साथ प्रकरण में आरोपितों की गिरफ्तारी कर इस अंधे कत्ल का खुलासा किया ।

महिला को पाने के उसके पति को मौत के घाट उतारा और हुए फरार

पति को मौत के घाट उतारने के बाद महिला आरोपित के साथ फरार हो गई थी। एसडीओपी ने कहा ऐसे मामलों में बहुत कम ही आरोपितों की गिरफ्तारी हो पाती है। आरोपित ने अपने दोस्त के साथ मिलकर पत्थर और लाठी से की हत्या की थी। पत्नी ने बताया कि अभी तीन आरोपित और फरार है। शनिवार को प्रेस वार्ता का आयोजन थानां परिसर में किया गया जिसमें एसडीओपी कुलवंत सिंहए थानां प्रभारी मनीष मिश्र ने वार्ता के माध्यम से जानकारी दी।

शनिवार को दोनो आरोपितों को न्यायालय में पेश किया जहां से उन्हें 2 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा गया। सोमवार को आरोपितों को कोर्ट में पेश किया जाएगा। इधर सूत्रों के मुताबिक हत्या को अंजाम देने के बाद दोनों आरोपित फरार होकर इंदौर के पास सिमरोल में किसी के यहां खेत पर काम करने लग गए थे। पुलिस के मुखबीर तंत्र सक्रिय होने के चलते उनकी जानकारी मिली और आरोपितों को धर दबोचा। वहीं मृतक की पत्नी ममता और भुआ जब आरोपितों की गिरफ्तारी के बारे में पता चला तो वो पुलिस थाने पहुंची , उनका कहना है कि 3 आरोपी और हत्या में शामिल है जो कि आरोपितों के परिजन ही है। उस आधार पर पुलिस ने बयान लिखकर उनकी भी जांच शुरू कर दी है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned