सरकार की घोषणा के बाद भी किसानों पर 471 करोड़ का कर्ज, अब कैसे होगी खेती

सरकार की घोषणा के बाद भी किसानों पर 471 करोड़ का कर्ज, अब कैसे होगी खेती

Chandu Nirmalkar | Publish: Jun, 19 2019 04:09:09 PM (IST) | Updated: Jun, 19 2019 04:48:43 PM (IST) Dhamtari, Dhamtari, Chhattisgarh, India

Chhattisgarh Kisan: ऋण माफ (Kisan debt is not waived) नहीं हआ है। उन पर अब भी 471 करोड़ का (Crore Debt) कर्ज बकाया है।

धमतरी. प्रदेश सरकार (Chhattisgarh Govt) की योजना के तहत सहकारी बैंक (Sahkari bank) से ऋण (Debt) लेने वाले किसानों का कर्ज तो माफ हो गया है, लेकिन अभी भी राष्ट्रीयकृत बैंक (Nationalized bank) से केसीसी लेकर ऋण लेने वाले हजारों किसानों (Chhattisgarh kisan) का ऋण माफ (Kisan debt is not waived) नहीं हआ है। उन पर अब भी 471 करोड़ का (Crore Debt) कर्ज बकाया है।

अब तो नया ऋण मिलना भी हुआ मुश्किल, पढ़ें ये खबर CLICK

वन टाइम सेटलमेंट के आधार पर भूपेश सरकार ने डिफाल्टर किसानों का 1175 करोड़ रुपए का ऋण माफ कर दिया है। इसके तहत प्रदेश सरकार बैंकों को 50 फीसदी राशि प्रदान करेगा। इससे सरकार पर करीब 588 करोड़ रुपए का अतिरिक्त भार आएगा। उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार की कर्जमाफी योजना के तहत धमतरी जिले के 6 हजार 792 किसानों को पहले ही सीधा लाभ मिला है।

जिले के 11 सहकारी बैंक समितियों ने डिफाल्टर किसानों का कुल 15 करोड़ 34 लाख रुपए माफ किया है। बताया गया है कि जिन किसानों का कर्जा माफ हुआ है, वे बैंक से ऋण तो ले लिए थे, लेकिन उसे चुकाने का नाम नहीं ले रहे थे। ऐसे में बैंक ने उन्हें ब्लेक लिस्ट मेंं डाल दिया था। अब शासन की योजना के तहत ब्लेक लिस्टेज किसानों का इसका लाभ मिला है।

 

कहां कितने किसान लाभान्वित
बैंक सूत्रों के मुताबिक धमतरी सहकारी बैंक से 11 सौ किसानों का 2 करोड़ 34 लाख रुपए माफ हुआ है। इसी तरह संबलपुर में 454 किसानों का 1.10 करोड़, नगरी में 1763 किसानों का 3.32 करोड़, मगरलोड में 1245 किसानों का 3.28 करोड़, करेली में 535 किसानों का 1.28 करोड़, कुरूद में 511 किसानों का 1.19 करोड़, नारी में 97 किसानों का 25 लाख, मरौद में 212 किसानों का 39 लाख, दरबा में 176 किसानों का 37 लाख तथा कोर्रा में 421 किसानों का 1.10 करोड़ रुपए कृषि कर्ज माफ हुआ है। उधर जिन किसानों का कर्ज माफ हुआ है, उन्हें फसल के लिए पुन: ऋण दिया जा रहा है, जिससे वे अब खरीफ फसल की तैयारी में जुट गए हैं।

अब इन्हें है कर्जमाफी का इंतजार
लीड बैंक सूत्रों के मुताबिक जिले में राष्ट्रीयकृत बैंकों से ऋण लेने वाले किसानों की संख्या 84 हजार 442 हैं। इन पर कुल 471.47 करोड़ का कृषि ऋण बकाया है। यही कारण है कि अब राष्ट्रीयकृत बैंकों के अधिकारी ऋण चुकाने के लिए उन्हें परेशान कर रहे हैं। ऐसे में उनकी परेशानी बढ़ गई है। उन्होंने शासन से राहत प्रदान करने की मांग की है।

सहकारी बैंकों के डिफाल्टर किसानों का कर्ज माफ हुआ है। राष्ट्रीयकृत बैंकों में केसीसी का करीब 84 हजार किसानों पर 471 करोड़ का कर्ज अब भी बकाया है।

अमित रंजन, लीड बैंक मैनेजर

Chhattisgarh rh Kisan से जुड़ी इन खबरों को भी पढ़ें CLICK

 

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..

ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download करें patrika Hindi News App.

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned