एटीएम और बैंक दोनों को बनाया बेवकूफ, 1810 बार ट्रांजेक्शन कर बैंक से सवा तीन करोड़ की ठगी

इससे बैंक को संबंधित खाते में पांच दिनों में उतनी राशि डालनी पड़ी। यह ठगी का कारनामा जिले में 11 जुलाई से लेकर 2 दिसंबर 2020 तक लगातार चला। इस मामले में धमतरी के एसबीआई मैनेजर मंतोष राय ने पुलिस कोतवाली पहुंचकर रिपोर्ट दर्ज कराई है।

By: Karunakant Chaubey

Updated: 05 Dec 2020, 09:00 AM IST

धमतरी. एसबीआई के एटीएम में छेडख़ानी कर करीब सवा तीन करोड़ रुपए से ज्यादा की ठगी का मामला सामने आया है। अज्ञात शख्स ने धमतरी जिले में घूम-घूमकर 13 एटीएम से करीब 1810 बार ट्रांजेक्शन किया है। हर ट्रांजेक्शन में 10 हजार रुपए निकाले गए। सूत्रों की मानें तो राशि निकालने के बाद मशीन में इरर बताता था।

इससे बैंक को संबंधित खाते में पांच दिनों में उतनी राशि डालनी पड़ी। यह ठगी का कारनामा जिले में 11 जुलाई से लेकर 2 दिसंबर 2020 तक लगातार चला। इस मामले में धमतरी के एसबीआई मैनेजर मंतोष राय ने पुलिस कोतवाली पहुंचकर रिपोर्ट दर्ज कराई है।

ऐसे करता था ठगी

अज्ञात शख्स ने ठगी का नया पैंतरा आजमाया। वह दूसरे बैंकों के एटीएम कार्ड से भारतीय स्टेट बैंक की एटीएम मशीन से राशि निकालता था। इस तरह 11 जुलाई से लेकर अब तक वह कुल 1810 बार एसबीआई के एटीएम से पैसा निकाले हैं। बैंक सूत्रों के मुताबिक आरोपी एटीएम कार्ड से पैसा निकालते समय मशीन में कुछ ऐसी छेडख़ानी कर देता था ।

जिससे राशि निकलने के बाद भी ऑनलाइन इरर बताता था। यानी ट्रांजेक्शन को अनसक्सेसफुल बताता था। ऐसा होने पर बैंक शाखा को अनसक्सेसफुल टांजेक्शन के रूप में उतनी ही राशि पांच दिनों के भीतर संबंधित एटीएम धारक के खाते में डालनी पड़ती थी।

एसबीआई के शाखा प्रबंधक ने एटीएम में छेडख़ानी कर करीब एक करोड़ रुपए ठगी की रिपोर्ट दर्ज कराई है। मामले की जांच की जा रही है। संबंधित एटीएम के वीडियो फुटेज भी खंगाले जा रहे हैं।

- मनीषा ठाकुर, एएसपी, धमतरी

Show More
Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned