प्रशासन ने नहीं सुनी तो ग्रामीणों ने किया कमाल, खुद ही बना दी 2 किलोमीटर लंबी सड़क

आस पास के लोग भी गांव वालों के इस कदम की सराहना करते हुए थक नहीं रहे हैं... (Jharkhand News) (Dhanbad News) (Latehar News) (Inspiring Story) (Hard Work)

By: Prateek

Updated: 20 Jul 2020, 04:49 PM IST

(धनबाद,लातेहार): 'जहां चाह है वहीं राह है' यह केवल कहने की ही बात नहीं है। जो वास्तव में कुछ करना ही चाहते वह इस कहावत को सच भी कर दिखाते हैं। यहां भी ऐसा ही हुआ, गांव की सड़क जब लोगों के पांव में कांटों सी चुभने लगी तो प्रशासन से गुहार लगाकर थक चुके ग्रामीणों ने खुद ही सड़क बना दी। आस पास के लोग भी गांव वालों के इस कदम की सराहना करते हुए थक नहीं रहे हैं।

यह भी पढ़ें: जयपुर एयरपोर्ट पर पकडा गया सोने का ताला, कीमत ग्यारह लाख से भी ज्यादा

यह प्रेरक वाक्या झारखंड के लातेहार जिले के उद गांव का है। मुख्य सड़क को जोड़ने के लिए गांव में 2 किलोमीटर लंबी सड़क बहुत वर्षों पहले बनाई गई थी। गांव वाले मुख्य सड़क एसएच-10 तक जाने के लिए इसी का प्रयोग करते थे। लगातार बारिश झेलने के कारण सड़क की हालत अब खराब हो चली थी। हालात यह थे कि मिट्टी और मोरम से बनी सड़क से अब पत्थर बाहर निकलने लगे थे।

यह भी पढ़ें: Corona Update: देश में रिकॉर्ड 40,425 नए केस के साथ 11 लाख के पार हुआ आंकड़ा, एक दिन में 681 मरीजों की मौत

 

प्रशासन ने नहीं सुनी तो ग्रामीणों ने किया कमाल, खुद ही बना दी 2 किलोमीटर लंबी सड़क
कंटीली सड़क को सही करते ग्रामीण IMAGE CREDIT:

यह पत्थर गावं वालों के पैरों में चुभने लगे। इस पर चलना मानों कांटों पर चलने के समान था। गांव वालों ने सड़क को दुरुस्त करने की सोची। इसके लिए उन्होंने प्रशासन और जन प्रतिनिधियों से गुहार लगाई। लंबे समय तक जब कोई कार्रवाई नहीं हुई तो गांव वाले खुद ही सड़क को ठीक करने में जुट गए। ग्रामीणों ने एकजुट होकर दो किलोमीटर लंबी सड़क पर मिट्टी डालकर इसकी मरम्मत कर दी। अब यह ठीक हो गई है तो गांव वालों को भी आने जाने में कोई दिक्कत नहीं हो रही है।

ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned