scriptArrivals decreased due to fluctuations in soybean prices, remained hi | सोयाबीन के भावों में उतार-चढ़ाव होने से घटी आवक, नवंबर में ज्यादा रही | Patrika News

सोयाबीन के भावों में उतार-चढ़ाव होने से घटी आवक, नवंबर में ज्यादा रही

locationधारPublished: Dec 09, 2023 01:12:48 am

Submitted by:

rishi jaiswal

दीपवाली बाद मुहूर्त के दूसरे दिन ७ हजार ५०० रुपए का मिला भाव, इसके बाद से दाम स्थिर

सोयाबीन के भावों में उतार-चढ़ाव होने से घटी आवक, नवंबर में ज्यादा रही
सोयाबीन के भावों में उतार-चढ़ाव होने से घटी आवक, नवंबर में ज्यादा रही
धार. जिले की सबसे बड़ी अनाज मंडी धार में सोयाबीन की आवक इन दिनों घट गई है। किसानों को उचित दाम नहीं मिल पा रहे हैं। इससे बेचवाली कम हो गई।

जानकारोंं के अनुसार नवंबर में दीपावली के बाद मुहूर्त सौदे के दूसरे दिन सोयाबीन के भाव ७५०० रुपए तक पहुंच गए थे। लेकिन उसके बाद से निरंतर भावों में कमी आई और रेट कम और ज्यादा होते रहे। यही कारण है कि दिसंबर के प्रथम सप्ताह में आवक कम हो गई है। जबकि मुहूर्त खरीदी के पश्चात एक सप्ताह तक मंडी में आवक इतनी ज्यादा थी कि वाहनों को खड़े रहने के लिए जगह नहीं मिल रही थी। वर्तमान में सोयाबीन के भाव न्यूनतम रेट ४००० से ५८०० के बीच चल रहे हैं। मॉडल भाव ४८०० रुपए है। किसानों का कहना है कि इस वर्ष ङ्क्षसतबर में अत्यधिक बारिश के कारण सोयाबीन की उपज प्रभावित हुई थी। पैदावार कम होने से अच्छे भाव मिलने की उम्मीद थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।
इसी प्रकार मक्का के भाव भी उम्मीद के अनुरूप नहीं मिल पा रहे हैं। पूरे साल होती है आवक धार अनाज मंडी में वैसे पूरे साल मोटे अनाज के रूप में सोयाबीन, मक्का सहित मटर, चना व मसूर की खरीदी होती। वहीं सोयाबीन का सीजन अक्टूबर से आरंभ होकर मई-जून तक चलता है। लेकिन इस बार पैदावार कम होने से आवक भी कम हो रही है। दूसरी ओर भाव कम होने से भी किसान अपने माल बेचे नहीं रहे हैं। कई बड़े किसानों ने माल का स्टॉक कर रखा।
तीन महीनों की आवक का लेखा-जोखा अनाज
अक्टूबर नंबवर दिसंबर
सोयाबीन १८३१० १८०५७ ५१३६
गेहूं ५३३६ ७१३४ १४९०
डालर चना २५० १७० ३२
मक्का २१६ १०१३ २१४
मटर ८० १६५ ११.५४
देशी चना ४६ ८३ १५.५४
मसूर २३ ३.०२ १.१४
मिर्च - २५ -
कुल २४८०० २८२४६ ६९०३
(स्त्रोत:- मंडी कार्यालय। नोट:- आवक के आंकड़े टन में।)
भाव अभी स्थिर हैं
&सोयाबीन सहित अन्य उपज की आवक में थोड़ी गिरावट आई है। भाव अभी स्थिर है। शायद यह भी एक वजह है। गेहूं के भाव जरूर बढ़कर मिल रहे हैं।
केके नरगावे, सचिव, मंडी, धार

ट्रेंडिंग वीडियो