बाहर से ताला लगी दुकान में मिले 80 ग्राहक, कलक्टर ने काटा जुर्माना और दुकान की सीज

बाड़ी. प्रदेश में बढ़ते कोरोना मामलों को देख पूरे प्रदेश में राज्य सरकार द्वारा 15 दिन का लॉकडाउन लगाया गया है। जिसे जन अनुशासन पखवाड़ा नाम दिया है। इसके तहत बाजार बंद रहेंगे और आमजन घरों से बाहर ना निकले। इसके प्रयास किए जाएंगे, लेकिन पखवाड़े के प्रथम दिन सोमवार को बाड़ी कस्बे में ना तो आमजन घरों में बैठा

By: Naresh

Published: 19 Apr 2021, 08:36 PM IST

बाहर से ताला लगी दुकान में मिले 80 ग्राहक, कलक्टर ने काटा जुर्माना और दुकान की सीज

जन अनुशासन पखवाड़े के शुरू होते ही बाजार में उमड़ी भीड़
- गाइड लाइन की पालना कराने जिला प्रशासन को आना पड़ा बाड़ी
-दुकानों के सीज के साथ दुकानदारों के खिलाफ सख्ती के बाद हो सका बाजार बंद
बाड़ी. प्रदेश में बढ़ते कोरोना मामलों को देख पूरे प्रदेश में राज्य सरकार द्वारा 15 दिन का लॉकडाउन लगाया गया है। जिसे जन अनुशासन पखवाड़ा नाम दिया है। इसके तहत बाजार बंद रहेंगे और आमजन घरों से बाहर ना निकले। इसके प्रयास किए जाएंगे, लेकिन पखवाड़े के प्रथम दिन सोमवार को बाड़ी कस्बे में ना तो आमजन घरों में बैठा, ना ही दुकानदारों ने दुकानों को बंद कर घर पहुंच कोरोना की चेन तोडऩे में सहयोग किया। ऐसे में स्थिति को बिगड़ता देख जिला प्रशासन को बाड़ी आकर मोर्चा सम्भालना पड़ा। जब बाजार में जाकर जिला प्रशासन द्वारा शिकायत और सूत्रों के आधार पर कहार पाड़े में दुकानों को देखा गया तो बाहर से बंद दुकानों के अंदर ग्राहकों की भीड़ मिली। कई दुकानों के तो प्रशासन को मजबूरन ताले भी तोडऩे पड़े।
जब बन्द दुकानों से ग्राहकों की अंदर से भीड़ निकली तो मौके पर मौजूद प्रशासनिक अधिकारी उनको देख भौचक्के रह गए। बाद में सभी लोगों को तो हिदायद देकर घरों को रवाना कर दिया गया, वहीं आरोपित दुकानदारों के खिलाफ अब एपिडेमिक एक्ट में कार्यवाही की जा रही है। जिला कलक्टर राकेश जायसवाल, पुलिस अधीक्षक केसर सिंह शेखावत के साथ बाड़ी उपखंड प्रशासन ने व्यापारियों, दुकानदारों और आमजन से अपील की है कि वे ऐसा कोई कदम नहीं उठाएं, जिससे गाइड लाइन की पालना नहीं हो और प्रशासन को सख्ती से पेश आना पड़े।
कोरोना संक्रमण के बीच बाजार में निगरानी बनाए रखने और कार्यवाही करने के लिए उपखंड प्रशासन द्वारा तैनात एंटी कोविड टीम के प्रभारी राजेश कुमार शर्मा ने बताया कि जिला कलक्टर राकेश कुमार जायसवाल, उपखंड अधिकारी राधेश्याम मीणा द्वारा बाजार का निरीक्षण करने के दौरान जो दुकाने बंद कर अंदर ग्राहकी करते हुए मिली अथवा गोदाम में लोगों को भीड़ में एकत्रित करके सामान बेचते पाया गया। उनके खिलाफ दुकान सीज की कार्रवाई की गई है। जिसमें शहर की सबसे प्रसिद्ध कहार गली स्थित देवेंद्र गारमेंट की दुकान और गोदाम को सीज किया गया है। देवेंद्र गारमेंट्स की दुकान का ताला खुलवाए जाने पर 80 के लगभग ग्राहक मिले। इस पर जिला कलक्टर ने आपदा प्रबंधन के तहत कार्यवाही के निर्देश दिए। साथ ही 20 हजार रुपए जुर्माना सहित 72 घंटे तक दुकान सीज के निर्देश दिए। पप्पू गारमेंट्स बाड़ी पर घर वाली दुकान में करीब 70 ग्राहक पाए जाने पर 20 हजार रुपए का जुर्माना और 72 घंटे तक दुकान सीज करने के निर्देश दिए। पवन उमरेह होलसेल विक्रेता पर ग्यारह सौ रुपए का जुर्माना लगाया। अग्रसेन मार्केट से लुहार बाजार की ओर जाने वाले तंग रास्ते में स्थित सोनू पुत्र किशन गोपाल के गारमेंट दुकान को भी सीज किया है। इसी के पास स्थित दिनेश बर्तन वाले के गोदाम के सीज की कार्रवाई की है। इनके अलावा कहार गली स्थित सोना गारमेंट के मालिक अभिनव गर्ग पुत्र दिनेश गर्ग को पुलिस हिरासत में लिया गया है। इसकी दुकान के ऊपर घर बना हुआ है। जिसकी आड़ में दुकान के अंदर ग्राहकों को सामान बेचा जा रहा था।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned